२०००० वरुण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
हिन्दी में अक्सर नॅप्टयून ग्रह को भी वरुण कहा जाता है। ध्यान दें कि २०००० वरुण इस से बिलकुल भिन्न खगोलीय वस्तु है।
२०००० वरुण का काल्पनिक चित्रण - तेज़ घूर्णन (रोटेशन) से इसका आकार पिचका हुआ है
यम (प्लूटो) की अंडाकार कक्षा (ऑरबिट) की तुलना में २०००० वरुण की कक्षा ज़्यादा गोलाकार है

२०००० वरुण (20000 Varuna) हमारे सौर मण्डल के काइपर घेरे में स्थित एक खगोलीय वस्तु है। अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ के नियमों के तहत यदी ग्रह से छोटी कोई वस्तु इतना द्रव्यमान रखती हो कि स्वयं को गोलाकार कर सके तो उसे बौना ग्रह का दर्जा दिया जाता है। २०००० वरुण पृथ्वी से इतना दूर है कि उसका आकार सही रूप से अनुमानित नहीं हो पाया है, इसलिये यह ज्ञात​ नहीं कि यह बौना ग्रह है या नहीं। फिर भी अधिकतर खगोलशास्त्रियों का अनुमान है कि और जानकारी मिलने पर अंततः यह बौना ग्रह ही निकलेगा।[1]

नामोत्पत्ति[संपादित करें]

२०००० वरुण का नाम हिन्दु धर्म के देवता वरुण पर रखा गया था।

कक्षा और परिक्रमा[संपादित करें]

२०००० वरुण सूरज से लगभग ४३ खगोलीय इकाईयों (यानि क़रीब ६ अरब किमी) की दूरी पर है, जो एक और सम्भवित बौना ग्रह, ५०००० क्वावार से मिलता-जुलता है हालांकि क्वावार की कक्षा (ऑरबिट) अधिक अंडाकार है और २०००० वरुण की गोल है। इसे सूरज की एक परिक्रमा पूरा करने में लगभग २८३ वर्ष लग जाते हैं, और यह भी क्वावार से मिलता-जुलता काल है।

रूप-रंग[संपादित करें]

२०००० वरुण तेज़ी से अपने अक्ष (ऐक्सिस) पर घूर्णन (रोटेशन) कर रहा है, जिस से यह अपने ध्रुवों पर थोड़ा-सा पिचका हुआ है। जहाँ पृथ्वी एक घूर्णन पूरा करने में २४ घंटे लगाती है, वहाँ २०००० वरुण एक घूर्णन केवल ६.३४ घंटों में पूरा कर लेता है। २०००० वरुण के अलावा, एक और बौना ग्रह हउमेया भी तेज़ी से घूर्णन करने के कारण पिचका हुआ मिला है। २०००० वरुण के व्यास (डायामीटर) पर सही मापन सम्भव नहीं हो पाया है और इसके अंदाज़े ५०० किमी से लेकर १,०६० किमी तक लगाए जाते हैं। तुलना के लिये हमारे चंद्रमा का व्यास लगभग ३,४७५ किमी है।[2][3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Tancredi, G. (2010). "Physical and dynamical characteristics of icy "dwarf planets" (plutoids) Archived 25 मार्च 2020 at the वेबैक मशीन.". Icy Bodies of the Solar System: Proceedings IAU Symposium No. 263, 2009. Retrieved 17 January 2012.
  2. J. Stansberry et al. (2007). "Physical Properties of Kuiper Belt and Centaur Objects: Constraints from Spitzer Space Telescope Archived 1 जुलाई 2017 at the वेबैक मशीन.". arXiv:astro-ph/0702538 [astro-ph].
  3. E. Lellouch et al. (2002). "Coordinated thermal and optical observations of Trans-Neptunian object (20 000)Varuna from Sierra Nevada". Astronomy & Astrophysics 391 (3): 1133–1139. arXiv:astro-ph/0206486 Archived 13 जनवरी 2019 at the वेबैक मशीन.. Bibcode:2002A&A...391.1133L. doi:10.1051/0004-6361:20020903.
  वा  
सौर मण्डल
सूर्यबुधशुक्रचन्द्रमापृथ्वीPhobos and Deimosमंगलसीरिस)क्षुद्रग्रहबृहस्पतिबृहस्पति के उपग्रहशनिशनि के उपग्रहअरुणअरुण के उपग्रहवरुण के उपग्रहनेप्चूनCharon, Nix, and Hydraप्लूटो ग्रहकाइपर घेराDysnomiaएरिसबिखरा चक्रऔर्ट बादलSolar System XXVII.png
सूर्य · बुध · शुक्र · पृथ्वी · मंगल · सीरीस · बृहस्पति · शनि · अरुण · वरुण · यम · हउमेया · माकेमाके · एरिस
ग्रह · बौना ग्रह · उपग्रह - चन्द्रमा · मंगल के उपग्रह · क्षुद्रग्रह · बृहस्पति के उपग्रह · शनि के उपग्रह · अरुण के उपग्रह · वरुण के उपग्रह · यम के उपग्रह · एरिस के उपग्रह
छोटी वस्तुएँ:   उल्का · क्षुद्रग्रह (क्षुद्रग्रह घेरा‎) · किन्नर · वरुण-पार वस्तुएँ (काइपर घेरा‎/बिखरा चक्र) · धूमकेतु (और्ट बादल)