सामग्री पर जाएँ

हाइपरसॉनिक उड़ान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

अतिपराध्वनिक उड़ान (हाइपरसॉनिक उड़ान) वह उड़ान है जो धरती के वातावरण से होकर (90 किलोमीटर से कम ऊँचाई पर) 5 मैक से अधिक वेग से भरी जाती है। इतनी अधिक गति के कारण वायु काफी सीमा तक वियोजित होने लगती है और अत्यधिक ऊष्मा पैदा होती है।[1][2]

वायुयान जिन्होंने उड़ान भरी

[संपादित करें]

हाइपरसॉनिक वायुयान

[संपादित करें]

अन्तरिक्ष यान

[संपादित करें]

निरस्त वायुयान

[संपादित करें]

हाइपरसॉनिक वायुयान

[संपादित करें]

अन्तरिक्ष यान

[संपादित करें]

विकास में तथा प्रस्तावित वायुयान

[संपादित करें]

हाइपरसॉनिक वायुयान

[संपादित करें]

क्रूज़ मिसाइल और वॉरहैड

[संपादित करें]

इन्हें भी देखें

[संपादित करें]

सन्दर्भ

[संपादित करें]
  1. White, Robert. "Across the Hypersonic Divide". HistoryNet. HistoryNet LLC. मूल से 17 नवंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 October 2015.
  2. "Hypersonic plane passes latest test - Just In - ABC News (Australian Broadcasting Corporation)". Abc.net.au. 2010-03-22. मूल से 25 मार्च 2010 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2014-02-18.
  3. D. Preller and P. M. Smart, "Abstract: SPARTAN: Scramjet Powered Accelerator for Reusable Technology AdvaNcement," 2014. http://rispace.org/wp-content/uploads/2015/03/33_preller.pdf Archived 2015-10-10 at the वेबैक मशीन

बाहरी कड़ियाँ

[संपादित करें]