वेलकम (2007 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(वैलकम (2007 फ़िल्म) से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search
वेलकम
चित्र:वेलकम.jpg
वेलकम का पोस्टर
निर्देशक अनीस बज़मी
अभिनेता अक्षय कुमार,
नाना पाटेकर,
अनिल कपूर,
मल्लिका शेरावत,
कैटरीना कैफ़,
फ़िरोज़ ख़ान,
परेश रावल,
मलाइका अरोरा,
विजय राज़,
प्रदर्शन तिथि(याँ) 2007
देश भारत
भाषा हिन्दी

वेलकम 2007 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है।

संक्षेप[संपादित करें]

उदय (नाना पाटेकर), एक आपराधिक डॉन, अपनी बहन संजना (कैटरीना कैफ) शादि करना चहता है, लेकिन कोई भी अपराध परिवार से नहीं जुड़ना चाहता है। डॉ. घुंघरू (परेश रावल) भी अपने भतीजे, राजीव (अक्षय कुमार) की शादी करने की कोशिश करता हैं, लेकिन उसकी एक ही शर्त होती है कि लड़की एक शुद्ध सभ्य परिवार की होनी चाहिए।

एक हादसे में राजीव संजना से मिलता है, और उसे प्यार हो जाता है। वही उदय का गैंगस्टर भाई मजनू (अनिल कपूर), डॉ. घुंघरू को शादी के लिये हाँ कराने के लिये योजना बनाता हैं। योजना काम कर जाती है और डॉ. घुंघरू राजीव और संजना की शादी के लिये तैयार हो जाता है, यह सोचकर कि उदय बहुत सभ्य आदमी है। लेकिन जब उसे बाद में पता चलता है कि उदय और मजनू आपराधिक डॉन हैं, तो वह जल्दी से अपने परिवार को बचाने के लिए दक्षिण अफ्रीका के सन सिटी में भाग जाता है। हालाँकि, मजनू और संजना सन सिटी भी आ चुके हैं। राजीव फिर से संजना से मिलता है और दोनों में प्यार हो जाता है।

वहीं डॉ. घुंघरू उदय और मजनू से मिलता है और मजबूरन उसे शादी के लिये हाँ करना पडता है। राजीव संजना की सगाई में एक और शक्तिशाली डॉन आरडीएक्स (फ़िरोज खान) भी आता है। डॉ. घुंघरू शादी तोडने के लिये अपनी शाली इशिका (मल्लिका शेरावत) को बुलाता है, और कहलवात है कि राजीव की उससे बचपन में शादी हो चुकी है। आरडीएक्स यह सुन शादी रुकवा देता है। राजीव के पुछने पर डॉ. घुंघरू ने खुलासा किया कि उन्होंने राजीव की मां के लिए ऐसा किया था, जिन्होंने एक अपराध परिवार में शादी की थी और उन्हें प्रताड़ित किया जाता था। डॉ. घुंघरू ने फैसला किया कि वह शादी के लिए तभी सहमत होंगे जब उदय और मजनू अपराध का जीवन छोड़ देंगे। राजीव और संजना उदय के अभिनय के लिए प्यार को फिर से जागृत करके और मजनू को पेंटिंग के लिए अपने प्यार को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित करते है। ताकि वह व्यस्त रहे, और उनके पास अपराध के लिए समय न रहें।

राजीव की हरकतें आरडीएक्स के बेटे लकी को गुस्सा दिलाती हैं, वह राजीव को गोली मारने का प्रयास करता है। संजना बंदूक पकड़ लेती है और लकी को गोली लग जाती है, जिससे वह बेहोश हो जाता है। आरडीएक्स अपने बेटे की मौत की सूचना पाकर दाह संस्कार में शामिल होने के लिए आता है। हालांकि लकी, जो अभी भी जीवित है, बच निकलता है, और अपने पिता को बताने के लिये दौडता है। और उसे जलाने के लिये रखे लकड़ी के ढेर के नीचे बेहोस हो जाता है। आरडीएक्स से बिना शरीर के ही दाह संस्कार करा दिया जाता है। हालांकि लकी, जो लकड़ी के नीचे छिपा हुआ था, को होश आ जाता है, और सभी की सच्चाई आरडीएक्स के सामने आ जाती है। राजीव, घुँघरू, उसकी पत्नी, इशिका, उदय, मजनू और संजना को आरडीएक्स द्वारा पकड़ लिया गया और एक चट्टान में बने बगंले में लाया जाता है। जहां सभी को पासिंग ग्लोब खेल खिलाया जाता है। जिसमें संगीत के धून में ग्लोब को घुमाना होता है, संगीत के रूकने पर जिसके हाथ में ग्लोब होगा उसे चट्टान से बाहर खाई में फेक दिया जाता। सभी योजना बना लकी को फसा देते है, और संगीत के रूकने पर लकी के पास ग्लोब आ जाता है। सभी आरडीएक्स से न्याय करने को कहते हैं लेकिन वह सभी को मारने को कहता है ताकि बात बाहर ना जा सके। वह उनको मार पाता तभी कुछ सरकारी अधिकारी उसके घर को खाई में गिरा देते है। सभी बच निकलते है लेकिन लकी वहीं फस जाता है, तभी राजीव अपनि जान में खेल कर उसकी जान बचाता है। आरडीएक्स उसका अहसान मान सब को माफ कर देता है और राजीव संजना की शादी करा देता है।

चरित्र[संपादित करें]

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

दल[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

रोचक तथ्य[संपादित करें]

परिणाम[संपादित करें]

बौक्स ऑफिस[संपादित करें]

समीक्षाएँ[संपादित करें]

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]