"रासायनिक समीकरण" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
:<math>a\,\mathrm{Na_2CO_3}+b\,\mathrm{C}+c\,\mathrm{N_2} \longrightarrow d\,\mathrm{NaCN}+e\,\mathrm{CO_2}</math>
 
इस अभिक्रिया को संतुलित करने का अर्थ है, a, b, c, d, e के न्यूनतम पूर्णांक मान निकालना ताकि किसी भी तत्व के लिए समीकरण के दाएं पक्ष तथा बाएं पक्ष में आये हुए सभी परमाणुओं की संख्या समान हो। a, b, c, d, e 8 आदि गुणांकों का मान सरल गणना द्वारा (hit and try) किया जा सकता है या कुछ मूलभूत नियमों को लगाकर किया जा सकता है। किन्तु दोनों विधियाँ समय लगातीं हैं। इस काम को विधिवत करने की रीति है, [[युगपत समीकरण]] बनाकर उन्हें हल करना।
 
उपरोक्त रासायनिक अभिक्रिया को संतुलित करने कि लिए हम निम्नलिखित युगपत समीकरण बनाते हैं-
बेनामी उपयोगकर्ता

दिक्चालन सूची