रासायनिक सूत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

रासायनिक सूत्र (chemical formula) किसी रासायनिक यौगिक को इस प्रकार निरूपित करता है जिससे पता चलता है कि वह यौगिक किन-किन तत्वों के कितने-कितने परमाणुओं से मिलकर बना है। सामान्य प्रयोग में प्रायः अणुसूत्र (molecular formula) के लिये भी 'रासायनिक सूत्र' का ही प्रयोग कर दिया जाता है।

उदाहरण : मिथेन का अणुसूत्र प्रा.उ4 (CH4) है जो इंगित करता है कि मिथेन का अणु कार्बन एवं हाइड्रोजन के परमाणुओं से मिलकर बना है तथा मिथेन के एक अणु में कार्बन का एक परमाणु व हाइड्रोजन के चार परमाणु होते हैं। परन्तु इस सूत्र से यह पता नहीं चलता कि कार्बन का एक परमाणु व हाइड्रोजन के ये चार परमाणु किस प्रकार व्यवस्थित हैं। अर्थात ये एक ही समतल में हैं या त्रिबिम में हैं; इनके बंधों के बीच कितना कोण है; बन्धों की लम्बाई कितनी है, आदि का अणुसूत्र से कुछ भी ज्ञान नहीं होता।

कई प्रकार के रासायनिक सूत्र उपयोग किये जाते हैं जिनकी अलग-अलग उपयोगिता है और अलग-अलग जटिलता भी। बढ़ते हुए जटिलता के क्रम में ये हैं - आनुभविक सूत्र, अणुसूत्र, संरचना सूत्र।

उदाहरण[संपादित करें]


संरचना सूत्र अन्य निरूपण
इलेक्ट्रॉनिक सूत्र आबन्ध सूत्र नट्टा सूत्र ढांचा सूत्र अवयव सूत्र अणुसूत्र आनुभविक सूत्र
मिथेन hochkant=0.205 hochkant=0.25 hochkant=0.28 अस्तित्व नहीं CH4 CH4 CH4
प्रोपेन hochkant=0.35 hochkant=0.50 hochkant=0.45 hochkant=0.25 CH3–CH2–CH3 C3H8 C3H8
एसिटिक अम्ल hochkant=0.35 hochkant=0.45 hochkant=0.45 hochkant=0.25 CH3–COOH C2H4O2 CH2O
जल hochkant=0.2 hochkant=0.17 hochkant=0.17 अस्तित्व नहीं अस्तित्व नहीं H2O H2O

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]