"बॉम्बे (फ़िल्म)" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
2,171 बैट्स् जोड़े गए ,  2 वर्ष पहले
लेख का विस्तार किया गया
(→‎पात्र: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: →)
(लेख का विस्तार किया गया)
{{Infobox film
| name = बॉम्बे
| image = Bombayposterfilmबॉम्बे.jpg
| caption = '''बॉम्बे''' का पोस्टर
| director = [[मणिरत्नम्]]
| producer = एस. श्रीराम<br />मणिरत्नम्<br/>झमूझामू सुगंध
| writer = मणिरतनम्उमेश शर्मा (संवाद)
| story = मणिरत्नम्
| screenplay = मणिरत्नम्
| starring = [[अरविन्द स्वामी]]<br />[[मनीषा कोइराला]]
| music = [[ए॰ आर॰ रहमान]]
| cinematography = [[राजीव मेनन]]
| editing = सुरेश उर्स
| studio =
| distributor =
| language = तमिल
}}
'''बॉम्बे''' 1995 की [[तमिल सिनेमा|तमिल]] रूमानी नाट्य फ़िल्म है। इसका निर्देशन [[मणिरत्नम्]] ने किया है और मुख्य किरदार [[अरविन्द स्वामी]] और [[मनीषा कोइराला]] ने निभाए है। संगीत दिया है [[ए॰ आर॰ रहमान]] ने और हिन्दी गीत महबूब द्वारा लिखे गए हैं। यह फिल्म भारत के दिसंबर 1992 से जनवरी 1993 की अवधि के दौरान हुई घटनाओं पर केंद्रित है। विशेष रूप से [[अयोध्या]] के [[बाबरी मस्जिद]] को लेकर विवाद, फिर उसका तोड़ना, [[मुम्बई]] (जब बॉम्बे) में सांप्रदायिक तनाव होना और अंतत [[बंबई के दंगे]] होना। यह फिल्म मणिरत्नम् की ''[[रोज़ा (1992 फ़िल्म)|रोज़ा]]'' और ''[[दिल से]]'' के साथ एक श्रृंखला के रूप में ली जाती है।<ref>{{cite web|title=इन फिल्मों पर भी कैंची चलाता सेंसर बोर्ड?|url=http://navbharattimes.indiatimes.com/photomazza/bollywood-hollywood-photogalleries/controversy-over-punjab-in-the-film-title-udta-punjab/salam-bombay/photomazaashow/52647499.cms|publisher=नवभारत टाइम्स|accessdate=1 अक्तूबर 2017}}</ref><ref>{{cite web|title=Treading on a dangerous divide|trans_title=खतरनाक विभाजन पर चलना|url=http://indiatoday.intoday.in/story/critical-acclaim-and-howls-of-protest-for-mani-ratnam-bombay/1/287840.html|publisher=[[इंडिया टुडे]]|accessdate=1 अक्तूबर 2017|language=अंग्रेज़ी|date=15 अप्रैल 1995}}</ref>
 
== संक्षेप ==
फ़िल्म दोनों आलोचनात्मक और आर्थिक तौर पर सफल रही। इसी नाम से फ़िल्म को हिन्दी और तेलुगू भाषा में [[डबिंग|डब]] किया गया। ए॰ आर॰ रहमान द्वारा दिया गया संगीत बहुत ही सराहा गया और कई पुरस्कार उन्होंने प्राप्त किये। मणिरत्नम् के निर्देशन की भी सराहना हुई।
शेखर मिश्रा नारायण और शैला बानो प्यार में हैं और शादी करना चाहते हैं। एकमात्र समस्या यह है कि शेखर हिंदू है और शैला मुस्लिम है। यह विवाह उनके संबंधित परिवारों के लिए एक समस्या है। नतीजतन, युवा जोड़ा [[बॉम्बे]] शहर को साथ भाग जाता है। फिर 6 दिसंबर, 1992 को अयोध्या में बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया गया - जिसके परिणामस्वरूप हर जगह धार्मिक दंगे होने लगे - जिसमें बॉम्बे भी शामिल था। शेखर और शैला अब जुड़वां, कमल बशीर और कबीर नारायण के माता-पिता हैं। दंगों के दौरान, शेखर के पिता और शैला के माता-पिता घृणा को दफनाने का फैसला करते हैं और अपने बच्चों से मिलने आते हैं। जब वे अपने व्यक्तिगत मतभेदों को सुलझाने की प्रक्रिया में थे तभी आग लगती है और परिवार को अलग कर देती है। शैला के माता-पिता और शेखर के पिता तत्काल मारे जाते हैं और कबीर और कमल का कोई अता-पता नहीं होता।
 
== मुख्य कलाकार ==
== पात्र ==
* [[अरविन्द स्वामी]], - शेखर नारायणन पिल्लई के रूप में
* [[मनीषा कोइराला]], - शैला बानू के रूप मेंबानो
* [[प्रकाश राज]], - कुमार के रूप में
* [[नास्सर]], नारायण- पिल्लैनारायण केपिल्लई रूप में
* [[तिनुटिन्नू आनंदआनन्द]], - शक्ति समाज मुखियाका के रूपमुखिया में
* [[आकाश खुराना]] - मुसलमान नेता
* किट्टी, - बशीर के रूप में
* मास्टर हर्ष (सुमित), कबीर नारायण के रूप में
* मास्टर ह्रदय,हर्ष कमल(सुमित) बशीर- केकबीर रूपनारायण में
* मास्टर ह्रदय - कमल बशीर
* [[सोनाली बेंद्रे]] - "हम्मा हम्मा" गीत में
 
== संगीत ==
| headline = हिन्दी
| extra_column = गायक
| all_lyrics = [[महबूब (गीतकार)|महबूब]]
| all_music = ए॰ आर॰ रहमान
| title1 = हम्मा हम्मा
| length4 = 5:07
| title5 = कुछ भी न सोचो
| extra5 = पल्लवी, शुभा, [[अनुपमा देशपांडे]], नोएल जेम्स और श्रीनिवास
| length5 = 5:53
| title6 = बॉम्बे थीम
| extra6 = [[वाद्य संगीत]]
| length6 = 5:18
| title7 = आँखों में उम्मीदोंउम्मीदें
| extra7 = [[सुजाता मोहन]] और सहगान
| length7 = 2:43
| length8 = 3:28
}}
 
== परिणाम ==
यह फिल्म मणिरत्नम् की ''[[रोज़ा (1992 फ़िल्म)|रोज़ा]]'' और ''[[दिल से]]'' के साथ एक श्रृंखला के रूप में ली जाती है।<ref>{{cite web|title=इन फिल्मों पर भी कैंची चलाता सेंसर बोर्ड?|url=http://navbharattimes.indiatimes.com/photomazza/bollywood-hollywood-photogalleries/controversy-over-punjab-in-the-film-title-udta-punjab/salam-bombay/photomazaashow/52647499.cms|publisher=नवभारत टाइम्स|accessdate=1 अक्तूबर 2017}}</ref><ref>{{cite web|title=Treading on a dangerous divide|trans_title=खतरनाक विभाजन पर चलना|url=http://indiatoday.intoday.in/story/critical-acclaim-and-howls-of-protest-for-mani-ratnam-bombay/1/287840.html|publisher=[[इंडिया टुडे]]|accessdate=1 अक्तूबर 2017|language=अंग्रेज़ी|date=15 अप्रैल 1995}}</ref>
 
फ़िल्म दोनों आलोचनात्मक और आर्थिक तौर पर सफल रही। इसी नाम से फ़िल्म को हिन्दी और तेलुगू भाषा में [[डबिंग|डब]] किया गया। ए॰ आर॰ रहमान द्वारा दिया गया संगीत बहुत ही सराहा गया और कई पुरस्कार उन्होंने प्राप्त किये। मणिरत्नम् के निर्देशन की भी सराहना हुई।
 
==सन्दर्भ==

दिक्चालन सूची