"कार्बन" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
18 बैट्स् जोड़े गए ,  6 वर्ष पहले
छो
बॉट: डॉट (.) के स्थान पर पूर्णविराम (।) और लाघव चिह्न प्रयुक्त किये।
छो (बॉट: डॉट (.) के स्थान पर पूर्णविराम (।) और लाघव चिह्न प्रयुक्त किये।)
छो (बॉट: डॉट (.) के स्थान पर पूर्णविराम (।) और लाघव चिह्न प्रयुक्त किये।)
 
=== कार्बन के अकार्बनिक यौगिक ===
यद्यपि कार्बन के यौगिकों का वर्णन कार्बीनिक रसायन का मुख्य विषय है किन्तु अकार्बीनिक रसायन में कार्बन के आक्साइडों तथा कार्बन डाइसल्फाइड का वर्णन किया जाता है.है।
 
'''कार्बन के आक्साइड'''- कार्बन के तीन आक्साइड ज्ञात हैं -
 
ये दोनों गैसें हैं और अत्यन्त महत्त्वपूर्ण हैं।
* (3) कार्बन आक्साइड C3O3 या ट्राइकार्बन आक्साइड अरुचिकर गैस है.है।
 
कार्बन डाइआक्साइड CO2- रंगहीन गंधहीन गैस जो जल के अतिरिक्त ऐसीटोन तथा एथेनाल
में भी विलेय है.है। यह वायुमण्डल में 03% तक (आयतन के अनुसार) पाई जाती है और
पौधों द्वारा प्रकाशसंश्लेषण के समय आत्मसात कर ली जाती है.है। इसे धातु
 
कार्बोनेटों पर अम्ल की क्रिया द्वारा या भारी धातु कार्बोनेटों को गर्म करके प्राप्त किया जाता है.है।
उच्च ताप पर द्रवीभूत होती है.है। प्रयोगशाला में संगमरमर पर HHCl की क्रिया द्वारा
निर्मित CCO3 + 2HHCl - CHCl2 +H2O +CO2 इसका अणु रैखिक है अत: इसकी संरचना
O =C =O है.है। यह दहन में सहायक नहीं है.है। यल में विलयित होकर कार्वोनिक अम्ल
H2CO3 बनाती है.है।
 
[[चित्र:आवर्त सारणी.jpg|700px]]

दिक्चालन सूची