मनुष्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Human[1]
जीवाश्म काल: 0.2–0 मिलियन वर्ष
Pleistocene - Recent
Human male and female
Human male and female
संरक्षण स्थिति
वैज्ञानिक वर्गीकरण
अधिजगत: सुकेन्द्रिक
जगत: जंतु
संघ: रज्जुकी
वर्ग: स्तनधारी
गण: नरवानर
कुल: मानवनुमा
उपकुल: en:Homininae
ट्राइब: en:Hominini
प्रजाति: Homo
जाति: H. sapiens
उपजाति: H. s. sapiens
त्रिपद नाम
Homo sapiens sapiens
Linnaeus, 1758

मनुष्य (लातिन : Homo sapiens) स्तनपायी सर्वाहारी प्रधान जंतुओं की एक जाति, जो बात करने, अमूर्त्त सोचने, ऊर्ध्व चलने तथा परिश्रम के साधन बनाने योग्य है।

मनुष्य की तात्विक प्रवीणताएँ हैं: तापीय संसाधन के द्वारा खाना बनाना और कपडों का उपयोग। मनुष्य प्राणी जगत का सर्वाधिक विकसित[when defined as?] जीव है। जैव विवर्तन के फलस्वरूप मनुष्य ने जीव के सर्वोत्तम गुणों[when defined as?] को पाया है। मनुष्य अपने साथ-साथ प्राकृतिक परिवेश को भी अपने अनुकूल बनाने की क्षमता रखता है। अपने इसी गुण के कारण हम मनुष्यों नें प्रकृति के साथ काफी खिलवाड़ किया है।

संदर्भ[संपादित करें]