"खुद्दकनिकाय": अवतरणों में अंतर

नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
40 बैट्स् जोड़े गए ,  11 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
No edit summary
No edit summary
{{वार्ता शीर्षक}}{{त्रिपिटक}}
'''खुद्दकनिकाय''' ([[पालि भाषा]]:खुद्दक=छोटा) बौद्ध ग्रंथ [[त्रिपिटक]] का [[सुत्तपिटक]] का पाँचवा निकाय है। इसमें धम्मपद, उदान, इतिदुत्तक, सुत्तनिपात, थेर-थेरी गाथा, जातक आदि सोलह ग्रंथ संग्रहीत है। इनमें से कुछ में बुद्ध के प्रामाणिक वचनों का संग्रह हैं। यह छोटे सूत्रों का संकलन है।
 
==निकाय विभाजन==
इस ग्रंथ में १५ प्रमुख शिर्षक है, जो इस प्रकार है<ref>[http://pustak.org/bs/home.php?bookid=1239 प्राचीन भारत की श्रेष्ठ कहानियाँ, लेखकः जगदीश चन्द्र जैन, प्रकाशक:भारतीय ज्ञानपीठ, प्रकाशित : मई ०९, २००३]</ref> <ref>पृष्ठ ९, पुस्तकःबुद्धवचन त्रिपिटकया न्हापांगु निकाय ग्रन्थ दीघनिकाय,वीरपूर्ण स्मृति ग्रन्थमाला भाग-३, अनुवादक:दुण्डबहादुर बज्राचार्य, भाषा:नेपालभाषा, मुद्रकःनेपाल प्रेस</ref>-
 
*खुद्दक पाठ
5,01,128

सम्पादन

नेविगेशन मेन्यू