रिश्तों की डोर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रिश्तों की डोर
सर्जक अधिकारी ब्रदर्श
निर्देशक गौतम अधिकारी
सितारे नीचे देखें
शुरुआत 'थीम' ? द्वारा "रिश्तों की डोर"
निर्माण का देश भारत
भाषा(एं) हिन्दी
सत्र संख्या 1
प्रकरणों की संख्या कुल 184
निर्माण
कार्यकारी निर्माता तनवीर आलम
निर्माता गौतम अधिकारी और मरकन्द अधिकारी
स्थल मुंबई
प्रसारण अवधि लगभग 24 मिनट
प्रसारण
मूल चैनल सोनी
छवि प्रारूप 480आई (एसडीटीवी]),
मूल प्रसारण 15 मई 2006 – 29 मार्च 2007
बाह्य सूत्र
आधिकारिक जालस्थल

रिश्तों की डोर एक भारतीय हिन्दी धारावाहिक है, जिसका प्रसारण सोनी पर 15 मई 2006 से सोमवार से गुरुवार दोपहर 1:30 को होता था। कुल 184 प्रकरण प्रसारित होने के बाद यह 29 मार्च 2007 को बंद हुआ। इसका निर्देशन गौतम अधिकारी और निर्माण गौतम अधिकारी के साथ मरकन्द अधिकारी ने भी किया है।[1]

कहानी[संपादित करें]

यह कहानी अभयंकर परिवार के सबसे बड़े भाई सुहास कि है, जो अपने माता-पिता के मृत्यु के पश्चात परिवार को एक साथ करने के लिए बहुत कोशिश करता रहता है। वह अपने माता-पिता से वादा किए रहता है कि वह अपने तीन बहनों का खयाल रखेगा। उसकी एक बहन तेजस्विनी चिकित्सा की पढ़ाई कर रही होती है। लेकिन उसके मन में राहुल रायचंद के प्रति प्यार रहता है। लेकिन दोनों ही एक दूसरे से बिलकुल अलग होते हैं। तेजस्विनी के पास केवल दो ही मार्ग होते हैं। जिसमें से केवल एक पर ही वह चल सकती है। उसे अपनी पढ़ाई पूरी करनी होती है या अपने प्यार को चुनना होता है। जिसमें उसकी ज़िंदगी फंस जाती है।

कलाकार[संपादित करें]

  • अनुज सक्सेना - सुहास अभयंकर
  • उर्वशी ढोलकिया - नियोनिका अभयंकर
  • सम्पदा वाज़े - तेजस्विनी अभयंकर
  • शीतल ठक्कर - शुभांगी अभयंकर
  • मोनज मेववाला - मानसी अभयंकर
  • तोरल रसपुत्र - शाइना
  • एकता शर्मा
  • सिद्धार्थ मल्होत्रा - राहुल रायचंद
  • जीतें लालवानी - कुणाल शाह
  • मुस्कान मिहानी - तारा
  • अजय कुमार आर्य - रोन्नी
  • रज़ा मुराद
  • अदिति प्रताप
  • यतिन कार्येकर

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Adesara, Hetal (3 May 2006). "Sony lines up afternoon fare". Indiantelevision.com.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]