राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (Rajasthan Eligibility Examination for Teachers (REET)), राजस्थान में तृतीय श्रेणी के शिक्षकों के चयन के लिए आयोजित की जाने वाली एक पात्रता परीक्षा है जिसका आयोजन माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान अजमेर द्वारा करवाया जाता है।

इस परीक्षा का आयोजन दो स्तरों पर किया जाता है, प्रथम स्तर कक्षा 1 से 5 तक के अध्यापकों के लिए एवं द्वितीय स्तर कक्षा 6 से 8 तक के अध्यापकों के लिए। लेवल 1 में BSTC कोर्स किए हुए अभ्यर्थी शामिल हो सकते है जबकि लेवल 2 में BEd (Bachelor in Education) डिग्रीधारी अभ्यर्थी शामिल हो सकता है। परीक्षा में उतीर्ण होने के पश्चात REET परीक्षा के प्राप्तांक एवं स्नातक डिग्री में प्राप्त अंको के आधार पर अन्तिम मेरिट सूची तैयार की जाती है जिसमें चयनित उम्मीदवारों को तृतीय श्रेणी शिक्षक के रूप में नियुक्त किया जाता है।

इस परीक्षा के आयोजन में राजस्थान सरकार के आदेश पर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड एक नॉडल एजेंसी के रूप में कार्य करते हुए पाठ्यक्रम से लेकर परिणाम तक का सम्पूर्ण कार्य करवाती है। राजस्थान में अब तक 4 (2011, 2013, 2015 एवं 2017) बार इस पात्रता परीक्षा का आयोजन किया जा चुका है। 2011 एवं 2013 में इस परीक्षा का आयोजन RTET के नाम से किया गया था जबकि 2015 एवं 2017 में REET के नाम से परीक्षा का आयोजन किया गया था।

REET स्तर प्रथम की परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी दो वर्षीय डीएलएड पाठ्यक्रम में उतीर्ण या अध्ययनरत होना चाहिए एवं REET स्तर द्वितीय के लिए एक वर्षीय बीएड पास या द्विवर्षीय बीएड में अध्ययनरत होना चाहिए।

2022 में किए गए नए परिवर्तन के अनुसार REET परीक्षा में दो प्रश्न पत्रों का आयोजन करवाया जाएगा। REET प्रश्न पत्र 1 को सिर्फ एक बार उतीर्ण करना होगा जिसकी वैधता लाइफटाइम रहेगी। इसे उत्तीर्ण करने के लिए सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को 90 अंक, अन्य पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को 83 अंक और SC व ST एवं भूतपूर्व सरकारी कर्मचारियों को 75 अंक हासिल करने होते है। REET सर्टिफिकेट प्राप्त अभ्यर्थी फिर तृतीय श्रेणी सीधी भर्ती परीक्षा के लिए पात्र होता है।[1][2]

परीक्षा योजना[संपादित करें]

REET परीक्षा का आयोजन दो स्तरों के लिए किया जाता है और दोनों स्तरों का पाठ्यक्रम अलग-अलग होता है। इस परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रकार के 150 प्रश्न 150 अंक के आते हैं, जिनके लिए कुल ढ़ाई घण्टे का समय मिलता है।[3]

प्रथम स्तर[संपादित करें]

1. बालविकास एवं शिक्षा शास्त्र - 30 प्रश्न 2. भाषा प्रथम - 30 प्रश्न 3. भाषा द्वितीय - 30 प्रश्न 4. पर्यावरण अध्ययन - 30 प्रश्न 5. गणित - 30 प्रश्न

द्वितीय स्तर[संपादित करें]

1. बालविकास एवं शिक्षा शास्त्र - 30 प्रश्न 2. भाषा प्रथम - 30 प्रश्न 3. भाषा द्वितीय - 30 प्रश्न 4. सामाजिक अध्ययन / विज्ञान एवं गणित विषय - 60 प्रश्न

पात्रता मानदंड[संपादित करें]

रीट आरक्षित वर्गों को पात्रता अंकों में 5 फीसदी से लेकर 20 फीसदी अंकों तक की रियायत मिलेगी।

  • सामान्य / अनारक्षित श्रेणी : 60 प्रतिशत (टीएसपी व नॉन टीएसपी)
  • अनुसूचित जनजाति (ST) : 55 प्रतिशत (नॉन टीएसपी), 36 प्रतिशत (टीएसपी)
  • अनुसूचित जाति (SC), ओबीसी, एमबीसी व आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग : 55 प्रतिशत
  • समस्त श्रेणी की विधवा और परित्यक्ता महिलाएं एवं भूतपूर्व सैनिक : 50 प्रतिशत
  • दिव्यांग वर्ग : 40 प्रतिशत
  • सहरिया जनजाति : 36 प्रतिशत

पाठ्यक्रम[संपादित करें]

REET परीक्षा के पाठ्यक्रम में निम्नलिखित विषय शामिल किए गए है -

1. बालविकास एवं शिक्षा शास्त्र

2. भाषा प्रथम (हिन्दी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू, पंजाबी आदि)

3. भाषा द्वितीय (हिन्दी, अंग्रेजी, संस्कृत, उर्दू, पंजाबी आदि)

4. पर्यावरण अध्ययन

5. गणित एवं विज्ञान

6. सामाजिक अध्ययन[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "REET Validity Lifetime अब रीट सर्टिफिकेट की वेलिडीटी लाइफ टाइम होगी, रीट एग्जाम के बाद एक और एग्जाम होगा - News2Know". News2know.in (Hindi में). 2022-03-12. अभिगमन तिथि 2022-08-20.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  2. "माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर". माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ऑफिसियल वेबसाइट. RBSE Ajmer.
  3. "Rajasthan 3rd Grade Teacher Syllabus 2022 in Hindi PDF Download - Do Prep". Doprep.in (Hindi में). 2022-08-12. अभिगमन तिथि 2022-08-20.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  4. "REET - Do Prep". doprep.in (Hindi में). अभिगमन तिथि 2022-08-20.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)