भारतीय राष्ट्रीय प्रतिज्ञा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारत भारत के राष्ट्रीय प्रतीक
ध्वज तिरंगा
राष्ट्रीय चिह्न अशोक की लाट
राष्ट्रभाषा कोई नहीं
राष्ट्र-गान जन गण मन
राष्ट्र-गीत वन्दे मातरम्
पशु बाघ
जलीय जीव गंगा डालफिन
पक्षी मोर
पुष्प कमल
वृक्ष बरगद
फल आम
खेल मैदानी हॉकी
पञ्चांग
शक संवत
संदर्भ "भारत के राष्ट्रीय प्रतीक"
भारतीय दूतावास, लन्दन
Retreived ०३-०९-२००७

भारत का राष्ट्रीय शपथ भारत गणराज्य के प्रति निष्ठा की शपथ है। विशेष रूप से गणतंत्र दिवस एवं स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विद्यालयों में एवम् अन्य स्थलों पर आयोजित सार्वजनिक समारोहों पर भागीदारियों द्वारा एक सुर में इसका उच्चार किया जाता है। आमतौर पर इसे विद्यालयों की पाठ्यपुस्तकों के शुरूआती पन्ने पर छपा देखा जा सकता है। प्रतिज्ञा को असल रूप से सन् 1962 में, लेखक प्यिदीमर्री वेंकट सुब्बाराव द्वारा, तेलुगू भाषा में रचा गया था। इसका पहला सार्वजनिक पठन सन् 1963 में विशाखापट्टणम के एक विद्यालय में हुआ था, बाद में इसका अनुवाद कर के भारत की सारी अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में इसका प्रसार किया गया।

मूल तेलुगू संस्करण[संपादित करें]

భారతదేశము నా మాతృభూమి. భారతీయులందరు నా సహోదరులు. నేను నా దేశమును ప్రేమించుచున్నాను. సుసంపన్నమైన, బహువిధమైన నాదేశ వారసత్వసంపద నాకు గర్వకారణము. దీనికి అర్హుడనగుటకై సర్వదా నేను కృషి చేయుదును. నా తల్లిదండ్రులను, ఉపాధ్యాయులను, పెద్దలందరిని గౌరవింతును. ప్రతివారితోను మర్యాదగా నడచుకొందును. నా దేశముపట్లను, నా ప్రజలపట్లను సేవానిరతి కలిగియుందునని ప్రతిజ్ఞ చేయుచున్నాను. వారి శ్రేయోభివృద్ధులే నా ఆనందమునకు మూలము.

हिन्दी[संपादित करें]

भारत हमारा देश है। हम सब भारतवासी भाई-बहन हैं। हमें अपना देश प्राणों से भी प्यारा है। इसकी समृद्ध एवम् विविध संस्कृति पर हमें गर्व है। हम सदा इसके सुयोग्य अधिकारी बनने का प्रयत्न करते रहेंगे। हम अपने माता-पिता, शिक्षकों एवं गुरुजनों का सदा सम्मान करेंगे और प्रत्येक के साथ विनीत रहेंगे। हम अपने देश और देशवासियों के प्रति सत्यनिष्ठ रहने की प्रतिज्ञा करते हैं । इनके कल्याण एवम् समृद्धि में ही हमारा सुख निहित है।

अन्य भाषाएँ[संपादित करें]

संस्कृत[संपादित करें]

पद्यरूप[संपादित करें]

भारतं मम देशः अस्ति॥ १॥
सर्वे भारतीयः मम भ्रातर भगिन्य च॥ २॥
अहम् स्वराष्ट्रम प्रिणामि॥ ३॥
तथा चाहम एतस्य विविध विशेषतासु गर्वमनुभवामि॥ ४॥
अहम् एतस्याहार्यो भवितुं सर्वदा प्रतिस्यते॥ ५॥
अहम् स्वमाता पित्रो गुरुओ सर्वग्रजांआश्चय समानम कारिष्यते ॥६॥
तथा च प्रत्येकं जनेंन सः शिष्ठताया व्यवहाष्यामि ||७||
स्वराष्ट्रम राष्ट्रवानिश्चय प्रतिनिष्ठापूर्वक प्रतिजानेहम ||८||
मदिया प्रशिनदता केवलमस्य कल्याणे समृध्दो चेय निहिता अस्ति ||९||

गद्य रूप[संपादित करें]

भारतं मम मातृभूमिः।
सर्वे भारतीयाः मे भ्रातरः।
अहं मम देशे स्निह्यामि।
तस्य समृद्धायां नानाविधायां च पूर्विकसम्पत्तौ अभिमानी च भवामि।
तद्योग्यतां सम्पादयितुं सदा यतिष्ये च।
अहं पितरौ गुरूंश्चादरिष्ये बहुमानयिष्ये च।
विनयान्वित एवाहं सदा सर्वैः सह व्यवहरिष्ये।
मम राष्ट्राय राष्ट्रियेभ्यश्चाहं समर्पये स्वसेवाम्।
राष्ट्रियाणां योगक्षेमैश्वर्येष्वेवाहम् आत्मनस्तोषं कलयामि।

अथवा-

भारतं अस्माकं मातृभूमि:/देशः अस्ति। वयं सर्वे भारतीया: भ्रातरः भगिन्यः च। अस्माकं मातृभूमि: प्राणेभ्योsपि प्रियतरा अस्ति। अस्या: समृद्धौ विविध-संस्कृतौ च अस्माकं गर्वः अस्ति। वयं अस्या:सुयोग्याः अधिकारिणः भवितुं सदा प्रयत्नं करिष्यामः। वयं स्वमातापित्रो: शिक्षकाणां गुरुजनानां च आदरं करिष्यामः सर्वैः च सह शिष्टतया व्यवहारं करिष्याम:। वयं स्वदेशं देशवासिनं च प्रति कृतज्ञतया वर्तितुं प्रतिज्ञां कुर्म:। ‎तेषां कल्याणे समृद्धौ चैव न: सुखं निहितम् अस्ति।

जयतु संस्कृतम्। जयतु भारतम्।

असमिया[संपादित करें]

ভাৰত মোৰ দেশ।
সকলো ভাৰতীয় মোৰ ভাই-ভনী।
মই মোৰ দেশক ভাল পাওঁ‌।
ইয়াৰ চহকী আৰু বৈচিত্ৰ্যপূৰ্ণ সংস্কৃতিক লৈ মই গৌৰৱান্বিত।
মই সদায় ইয়াৰ সুযোগ্য অধিকাৰী হ'বলৈ যত্ন কৰি যাম।
মই মোৰ মা, দেউতা, শিক্ষাগুৰু আৰু বয়োজ্যেষ্ঠসকলক শ্ৰদ্ধা আৰু সন্মানসহকাৰে ব্যৱহাৰ কৰিম।
মই মোৰ দেশ আৰু দেশবাসীৰ প্ৰতি সত্যনিষ্ঠাৰে প্ৰতিজ্ঞাবদ্ধ।
তেখেতলোকৰ কল্যাণ আৰু সমৃদ্ধিতেই মই সুখী।

बंगाली
[संपादित करें]

ভারত আমার দেশ। সব ভারতবাসী আমার ভাই বোন। আমি আমার দেশ কে ভালোবাসি। আমার দেশের বিবিধ সংস্কৃতিতে আমি গর্বিত। আমি, আমার দেশের সুযোগ্য অধিকারী হওয়ার জন্য সদা প্রচেষ্টায় থাকবো। আমি নিজের মা, বাবা, শিক্ষক এবং গুরুজনদের সদা সম্মান করবো। এবং বিনীত থাকবো। আমি আমার দেশ ও দেশবাসীদের প্রতি সত্যনিষ্ঠার প্রতিজ্ঞাবদ্ধ হলাম। এঁদের কল্যাণ এবং সমৃদ্ধি তেই আমার সুখ বিলীন।

गुजराती[संपादित करें]

ભારત મારો દેશ છે।
બધા ભારતીયો મારા ભાઈ બહેનો છે।
હું મારા દેશને ચાહું છું અને તેના સમૃદ્ધ અને
વૈવિધ્યપૂર્ણ વારસાનો મને ગર્વ છે।
હું સદાય તેને લાયક બનવા પ્રયત્ન કરીશ।
હું મારા માતાપિતા શિક્ષકો અને વડીલો પ્રત્યે આદર રાખીશ
અને દરેક જણ સાથે સભ્યતાથી વર્તીશ।
હું મારા દેશ અને દેશબાંધવોને મારી નિષ્ઠા અર્પું છું।
તેમના કલ્યાણ અને સમૃદ્ધિમાં જ મારું સુખ રહ્યું છે।

देवनागरी लिप्यांतरण:

भारत मारो देश छे। बधा भारतीयो मारा भाई बहेनो छे। हुं मारा देशने चाहुं छुं अने तेना समृद्ध अने वैविध्यपूर्ण वारसानो मने गर्व छे। हुं सदाय तेने लायक बनवा प्रयत्न करीश। हुं मारा मातापिता शिक्षको अने वडीलो प्रत्ये आदर राखीश अने दरेक जण साथे सभ्यताथी वर्तीश। हुं मारा देश अने देशबांधवोने मारी निष्ठा अर्पुं छुं। तेमना कल्याण अने समृद्धिमां ज मारुं सुख रह्युं छे।

कन्नड़
[संपादित करें]

ಭಾರತ ನನ್ನ ತಾಯಿನಾಡು.
ಎಲ್ಲಾ ಭಾರತೀಯರು ನನ್ನ ಸಹೋದರರು ಮತ್ತು ಸಹೋದರಿಯರು.
ನಾನು ನನ್ನ ದೇಶವನ್ನು ಪ್ರೀತಿಸುತ್ತೇನೆ ಮತ್ತು ನನ್ನ ದೇಶದ ಶ್ರೀಮಂತ ಮತ್ತು ವಿವಿಧ ಪರಂಪರೆಯ ಬಗ್ಗೆ ಹೆಮ್ಮೆಪಡುತ್ತೇನೆ.
ನಾನು ಯಾವಾಗಲೂ ಅದಕ್ಕೋಸ್ಕರ ಶ್ರಮಿಸುತ್ತೇನೆ.
ನನ್ನ ಪೋಷಕರಿಗೆ, ಶಿಕ್ಷಕರಿಗೆ ಮತ್ತು ಎಲ್ಲಾ ಹಿರಿಯರರಿಗೆ ಗೌರವಿಸುತ್ತೇನೆ ಮತ್ತು ಎಲ್ಲರೊಂದಿಗೆ ಸೌಜನ್ಯದಿಂದ ವರ್ತಿಸುತ್ತೇನೆ.
ನನ್ನ ದೇಶ ಮತ್ತು ಜನರಿಗೆ, ನನ್ನ ಬದ್ಧತೆಯ ವಾಗ್ದಾನ ಮಾಡುತ್ತೇನೆ.
ಅವರ ಯೋಗಕ್ಷೇಮದ ಮತ್ತು ಅಭ್ಯುದಯದಲ್ಲಿ ನನ್ನ ಸಂತೋಷ ನೆಲೆಸಿದೆ.

कोकबोरोक
[संपादित करें]

Barot chini ha.
Tei barot hani jotto borok rog ani takhuk tei bukhuk.
Ang ani hano hamjakgo tei ang bini rangchak hai tei juda-juda Hukumu no twii kungchukgo.
Ang o hani chuknaisa borok wng manna bagwi chaitok phwlai mang tongnai.
Ang ani ma-pha, ano phwrwngnai rog, tei ani okra-chakra rogno borom rwi mang tongnai tei jotto bai'no kaham tongmung tongnai.
Ani ha tei ani borok rogni bagwi,
O ha hamkwraini lamao phasing thang tongtun.
Borog ni Hamkwrai'o no ani tongthok hwnwi ang swmai thango.

मैथिली[संपादित करें]

भारत हमर देश थिक।
हम सब भारतवासी भाई बहिन छी।
हमर देश अपन प्राणहुँ स प्रिय अछि।
हम भारतक आ विविध संस्कृति पर गर्व करैत छी।
हम भारतक सुयोग्य अधिकारी हैबाक सदा प्रयत्न करब।
हम अपन माता पिता शिक्षक और गुरु जनक आदर करब आ सबहक संग शिष्टताक व्यवहार करब।
अपना देश आ देशवासीक प्रति हम अपन निष्ठाक प्रतिज्ञा करैत छी।
हुनक कल्याण और सुखसमृद्धि टा में हमारा सुख निहित अछि।
जय हिन्द!

मलयालम[संपादित करें]

ഭാരതം എന്റെ നാടാണ്.
എല്ലാ ഭാരതീയരും എന്റെ സഹോദരീസഹോദരന്മാരാണ്‌.
ഞാൻ എന്റെ നാടിനെ സ്നേഹിക്കുന്നു.
സമ്പന്നവും വൈവിദ്ധ്യപൂർണവുമായ അതിന്റെ പരമ്പരാഗതസമ്പത്തിൽ ഞാൻ അഭിമാനിക്കുന്നു.
ആ സമ്പത്തിന് അർഹനാകുവാൻ ഞാൻ എപ്പോഴും ശ്രമിക്കുന്നതാണ്.
ഞാൻ എന്റെ മാതാപിതാക്കളെയും ഗുരുജനങ്ങളെയും മുതിർന്നവരെയും ആദരിക്കുകയും -
എല്ലാവരോടും വിനയപൂർവം പെരുമാറുകയും ചെയ്യും.
ഞാൻ എന്റെ നാടിനോടും എന്റെ നാട്ടുകാരോടും സേവാനിരതനായിരുക്കുമെന്ന് പ്രതിജ്ഞ ചെയ്യുന്നു.
എന്റെ നാടിന്റെയും നാട്ടുകാരുടെയും ക്ഷേമത്തിലും അഭിവൃദ്ധിയിലുമാണ് എന്റെ ആനന്ദം.
ജയ് ഹിന്ദ്.

देवनागरी लिप्यांतरण:

भारतम् एन्टे नाडाण्।
एल्ला भारतीयरुम् एन्टे सहोदरीसहोदरन्माराण्।
ञान् एन्टे नाडिने स्नेहिक्कुन्नु।
सम्पन्नवुम् वैविध्यपूर्णवुमाय अतिन्टे परम्परागतसम्पत्तिल् ञान् अभिमानिक्कुन्नु।
आ सम्पत्तिन् अर्हनाकुवान् ञान् एप्पोऴुम् श्रमिक्कुन्नताण्।
ञान् एन्टे मातापिताक्कळेयुम् गुरुजनंङळेयुम् मुतिर्न्नवरेयुम् आदरिक्कुकयुम् -
एल्लावरोडुम् विनयपूर्वम् पेरुमाऱुकयुम् चेय्युम्।
ञान् एन्टे नाडिनोडुम् नाट्टुकारोडुम् सेवानिरतनायिरिक्कुमेन्न् प्रतिज्ञा चेय्युन्नु।
एन्टे नाडिन्टेयुम् नाट्टुकारुडेयुम् क्षेमत्तिलुम् अभिवृद्धियिलुमाण् एन्टे आनन्दम्।
जय् हिन्द्.जय भारत

मराठी[संपादित करें]

भारत माझा देश आहे।
सारे भारतीय माझे बांधव आहेत।
माझ्या देशावर माझे प्रेम आहे।
माझ्या देशातल्या समृद्ध आणि
विविधतेने नटलेल्या परंपरांचा मला अभिमान आहे।
त्या परंपरांचा पाईक होण्याची पात्रता
माझ्या अंगी यावी म्हणून मी सदैव प्रयत्न करीन।
मी माझ्या पालकांचा, गुरुजनांचा
आणि वडीलधार्‍या माणसांचा सदैव ठेवीन
आणि प्रत्येकाशी सौजन्याने वागेन।
माझा देश आणि माझे देशबांधव
यांच्याशी निष्ठा राखण्याची
मी प्रतिज्ञा करीत आहे।
त्यांचे कल्याण आणि
त्यांची समृद्धी ह्यांतच माझे
सौख्य सामावले आहे।

उड़िया
[संपादित करें]

ଭାରତ ମୋର ଦେଶ ।
ଆମେ ସଵୁ ଭାରତୀୟ ଭାଇ ଓ ଭଉଣୀ ।
ମୁଁ ମୋ ଦେଶକୁ ଭଲ ପାଏ ।
ଏହାର ସମୃଦ୍ଧି ଏବଂ ବିବିଧ ସଂସ୍କୃତି ପାଇଁ ମୋତେ ଗର୍ଵ ଲାଗେ ।
ମୁଁ ସଵୁଵେଳେ ଏହାର ସୁଯୋଗ୍ୟ ଅଧୀକାରୀ ରହିଵାକୁ ଚେଷ୍ଟା କରିବି ।
ମୁଁ ମୋର ମାତା ପିତା, ଶିକ୍ଷକ ଏବଂ ଗୁରୁଜନ ମାନଙ୍କୁ ସମ୍ମାନ ଜଣାଇଵି ଓ ସମସ୍ତଙ୍କ ସହିତ ସୌଜନ୍ୟଶୀଳ ରହିବି ।
ମୁଁ ମୋର ଦେଶ ଓ ଦେଶବାସୀଙ୍କ ପ୍ରତି ସତ୍ୟନିଷ୍ଠ ରହିବାକୁ ପ୍ରତିଞ୍ଗା କରୁଛି।
ସେମାନଙ୍କ କଲ୍ୟାଣ ଓ ସମୃଦ୍ଧିରେ ମୋର ସୁଖ ନିହିତ ।

तमिल
[संपादित करें]

இந்தியா எனது தாய் நாடு.
இந்தியர்கள் அனைவரும் எனது உடன்பிறப்புகள்.
எனது நாட்டை பெரிதும் நேசிக்கிறேன்.
இந்நாட்டின் பழம்பெருமைக்காகவும், பன்முக மரபு சிறப்பிற்காகவும் நான் பெருமிதம் அடைகிறேன்.
இந்நாட்டின் பெருமைக்குத் தகுந்து விளங்கிட என்றும் பாடுபடுவேன்.
என்னுடைய பெற்றோர், ஆசிரியர்கள், எனக்கு வயதில் மூத்தோர் அனைவரையும் மதிப்பேன்.
எல்லோரிடமும் அன்பும் மரியாதையும் காட்டுவேன்.
என் நாட்டிற்கும் என் மக்களுக்கும் உழைத்திட முனைந்து நிற்பேன்.
அவர்கள் நலமும் வளமும் பெறுவதிலே தான் என்றும் மகிழ்ச்சி காண்பேன்.
வாழ்க நமது மணித்திரு நாடு.

उर्दू[संपादित करें]

بھارت میرا ملک ہے۔
سب بھارت باشی میرے بھائی بہن ہیں۔
میں اپنے ملک سے محبت کرتا/ کرتی ہوں۔
اس کی باوقار اور مختلف النوع ثقافت پر مجھے ناز ہے۔
میں ہمیشہ اس کے شایان شان بننے کی کوشش کرتا/کرتی رہوں گا/گی۔
میں اپنے والدین، اساتذہ اور سبھی معمرین کی عزت کروں گا/ گی اور ہر ایک کے ساتھ نرمی برتوں گا/ گی۔
میں اپنے وطن اور اہل وطن کے ساتھ نیک نیتی کا حلف لیتا / لیتی ہوں۔ ان کی بھلائی اور خوش حالی ہی میں میری خوشی ہے۔
جے ہند۔

देवनागरी लिप्यांतरण:

भारत मेरा देश है।
सभी भारती मेरे भाई/बहन हैं।
मैं अपने मुल्क से मोहब्बत करता/करती हूं।
इसकी बावक़ार और मुख्तलिफ अलनवा सक़ाफत पर मुझे नाज़ है।
मैं हमेशा इसके शायान शान बनने की कोशिश करता/ करती रहूंगा/गी।
मैं अपने वतन और अहल ए वतन के साथ नेक नेती का हलफ़ लेता/लेती हूं। उनकी भलाई और खुशहाली ही में मेरी खुशहाली है।
जय हिन्द।

अंग्रेज़ी[संपादित करें]

India is my country.
All Indians are my brothers and sisters.
I love my country and, I am proud of it's rich and varied heritage.
I shall always strive to be worthy of it.
I shall give my parents, teachers and all elders respect and treat everyone with courtesy .
To my country and my people, I pledge my devotion.
In their well being and prosperity alone, lies my happiness.
Jai Hind !


देवनागरी में
इंडिया इज़ माई कन्ट्री।
ऑल इंडियन्स् आर माई ब्रदर्स् ऐंड सिस्टर्स्।
आई लव माई कन्ट्री ऐंड आई ऐम प्राउड ऑफ़ इट्स् रिच ऐंड वैरीड हेरिटेज।
आई शैल ऑल्वेज़ स्ट्राइव टू बी वर्दी ऑफ इट।
आई शैल गिव माई पैरेंट्स, टीचर्स एंड ऑल एल्डर्स, रेस्पेक्ट एंड ट्रिट एवरीवन विथ कर्टसी।
टू माय कंट्री एंड माय पीपल आई प्लेज माई डिवोशन।
इं देयर वेल्बींग एंड प्रॉस्पेरिटी अलोन लाइज़ माई हैप्पीनेस।
जय हिन्द!

गढ़वाली में-

भारत हमारु द्यौस छ। हम सब्या भारतवासी भै बैणा छन। हम तें अपणु देस प्राणू से भी प्यारु छ। ये कि समृद्धि अर बानि बानी संस्कृति पर हम तें गर्व छ। हम भारत का सुयोग्य नागरिक बण्न का वास्ता सदानि प्रयत्न करला। हम अपणा माता- पिता  सिग्छक अर गुरुजनू कु आदर करला अर परत्येक आदम्युं दगड़ि सिष्टता कु ब्यवहार करला। हम द्यौस अर द्यौसवासी का परति निष्ठावन्त ह्वोणे कि परतिग्या करदां। वूं कि समृद्धि अर कल्याण मा ही हमारु सुख निहित छ।

सन्दर्भ[संपादित करें]