बल्लूपुरा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

बल्लूपुरा राजस्थान के सीकर तहसील में स्थित एक मध्यम आकार का गाँव है, जिसमें कुल 239 परिवार रहते हैं।बल्लूपुरा गाँव की जनसंख्या 1332 है जिसमें से 672 पुरुष हैं जबकि 660 महिलाएं हैं, जनगणना 2011 के अनुसार महिलाएँ हैं।[1]

बल्लूपुरा
गाँव
देशFlag of India.svg भारत
राज्यराजस्थान
जिलासीकर
शासन
 • सभापंचायत
ऊँचाई435.24 मी (1,427.95 फीट)
जनसंख्या (2011)
 • कुल1,701
भाषा
 • राजकीयहिन्दी
 • मातृमारवाड़ी
समय मण्डलआइएसटी (यूटीसी+५:३०)
पिन332024
दूरभाष कोड91-1572
वाहन पंजीकरणआरजे-23
निकटतम शहरसीकर
सीकर से दूरी27 किलोमीटर (17 मील) (भूमि)
जयपुर से दूरी144 किलोमीटर (89 मील) (भूमि)
ग्रीष्मकालीन औसत तापमान46-48 °C
शीतकालीन औसत तापमान0-1 °C

बल्लूपुरा गाँव में 0-6 आयु वर्ग के बच्चों की जनसंख्या 212 है, जो गाँव की कुल जनसंख्या का 12.46% है। बल्लूपुरा गांव का औसत लिंग अनुपात 982 है जो राजस्थान राज्य के 928 के औसत से ज्यादा है। जनगणना के अनुसार बाल लिंग अनुपात 811 है, जो राजस्थान के औसत 888 से कम है।

राजस्थान की तुलना में बल्लूपुरा गाँव में साक्षरता दर कम है। 2011 में, राजस्थान के 66.11% की तुलना में बल्लूपुरा गाँव की साक्षरता दर 64.37% थी। बल्लूपुरा में पुरुष साक्षरता 80.04% है जबकि महिला साक्षरता दर 48.44% है।[2]

बल्लूपुरा
बल्लूपुरा की राजस्थान के मानचित्र पर अवस्थिति
बल्लूपुरा
बल्लूपुरा
राजस्थान में स्थिति, भारत
बल्लूपुरा की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
बल्लूपुरा
बल्लूपुरा
बल्लूपुरा (भारत)
निर्देशांक: 27°42′14″N 75°09′54″E / 27.70389°N 75.16500°E / 27.70389; 75.16500निर्देशांक: 27°42′14″N 75°09′54″E / 27.70389°N 75.16500°E / 27.70389; 75.16500

इतिहास[संपादित करें]

प्रमुख शिक्षण संस्थान[संपादित करें]

राजस्व[संपादित करें]

पंचायती राज अधिनियम के अनुसार, बल्लूपुरा गाँव का प्रशासन सरपंच (गाँव के मुखिया) द्वारा किया जाता है, जो गाँव का प्रतिनिधि होता है। कुल क्षेत्रफल 632 हेक्टेयर है। [3]

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

बल्लूपुरा गाँव में कुल जनसंख्या में से 515 कार्य गतिविधियों में लगे हुए थे। 47.39% श्रमिकों ने अपने काम को मुख्य कार्य (6 महीने से अधिक रोजगार या कमाई) के रूप में वर्णित किया है, जबकि 52.61% 6 महीने से कम समय के लिए आजीविका प्रदान करने वाली सीमांत गतिविधि में शामिल थे। मुख्य कार्य में लगे 515 श्रमिकों में से 274 कृषक (मालिक या सह-मालिक) थे, जबकि 9 कृषि मजदूर थे।

इन्हे भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]