पेरियार नदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

यह तमिलनाड़ु की प्रमुख नहर है।

भौगोलिक स्थिति[संपादित करें]

पेरियार नदी केरल में पश्चिमी घाट से निकलकर पश्चिम में प्रवाहित होती हुई अरब सागर में गिरती है। यह तीव्र ढाल में प्रवाहित होने के कारण समानांतर प्रतिरूप का निर्माण करती है।पश्चिम की ओर से बहने वाली नदियों में पेरियार दूसरी सबसे लंबी नदी है जिसका अधिकतम पानी मुल्लापेरियार नामक बांध में एकत्रित होता है जिससे तमिलनाडु एवं उसके पड़ोसी राज्यों की सिंचाई होती है! पेरियार नदी का उद्गम स्थल पश्चिम घाट की शिवागिरी की पहाड़ियों से माना जाता है

== स्रोत स्थल ==पेरियार नदी

लम्बाई (मीटर में)[संपादित करें]

भारत के प्रदेश केरल की यह नदी सबसे लम्बी नदी है, जिसकी लम्बाई 244 किमी है।

नदी परियोजना[संपादित करें]

1:इस पर 'पेरियार जलविद्युत परियोजना' स्थित है।

2:इस नदी पर बना इडुक्की बाँध केरल प्रांत की विद्युत आपूर्ति का प्रमुख स्रोत है।

सिंचाई उपलब्धता[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

यह अपना जल विसर्जन बेंबनाद झील मे करती है।