नरतुरंग तारामंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नरतुरंग तारामंडल

नरतुरंग (संस्कृत अर्थ: नर और घोड़े का मिश्रण) या सॅन्टौरस खगोलीय गोले के दक्षिणी भाग में स्थित एक तारामंडल है जो अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा जारी की गई ८८ तारामंडलों की सूची में शामिल है। दूसरी शताब्दी ईसवी में टॉलमी ने जिन ४८ तारामंडलों की सूची बनाई थी यह उनमें भी शामिल था। पुराने यूनानी ग्रंथों में इसे एक आधे आदमी और आधे घोड़े के शरीर वाले प्राणी के रूप में दर्शाया जाता था। पृथ्वी से सूरज के बाद सबसे नज़दीकी तारा, मित्रक (अल्फ़ा सॅन्टौरी) इसी तारामंडल में स्थित है।[1]

अन्य भाषाओं में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में नरतुरंग तारामंडल को "सॅन्टौरस कॉन्स्टॅलेशन" (Centaurus constellation) कहा जाता है।

तारे[संपादित करें]

नरतुरंग तारामंडल में ६९ तारे हैं जिन्हें बायर नाम दिए जा चुके हैं। इनमें से १३ के इर्द-गिर्द ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करते हुए पाए गए हैं। इसी तारामंडल में मित्रक (अल्फ़ा सॅन्टौरी) है जो दरअसल एक तीन तारों का गुट है, जिनमें से एक प्रोक्सिमा सॅन्टौरी सूरज का सब से समीपी पड़ौसी तारा है। नरतुरंग तारामंडल में कुछ अन्य दिलचस्प खगोलीय वस्तुएँ भी हैं -

  • बी॰पी॰ऍम॰ ३७०९३ नाम का एक सफ़ेद बौना तारा जिसमें कार्बन के परमाणुओं ने मिलकर एक मणिभ (क्रिस्टल) ढांचा बना लिया है। हीरे में भी कार्बन मणिभ ढांचा बना लेता है, हालांकि इस तारे में ढांचा हीरे से अलग है। बीटल्ज़ नाम के मशहूर पॉप-संगीतकारों का एक गाना था "लूसी इन द स्काए विद डाय्मन्ड्ज़ (आसमान में हीरों के साथ लूसी नाम की स्त्री/लड़की)", इसलिए इस तारे को अनौपचारिक रूप से "लूसी" का नाम दे दिया गया है।
  • ओमेगा सॅन्टौरी (ω Centauri) नाम का एक गोल तारागुच्छ, जो आकाशगंगा (हमारी गैलेक्सी) का सबसे बड़ा गोल तारागुच्छ है।
  • बेटा सॅन्टौरी (β Centauri) या हदर, जो एक बहुत ही रोशन नीला-सफ़ेद दानव तारा है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Wilkins, Jamie; Dunn, Robert (2006). 300 Astronomical Objects: A Visual Reference to the Universe (1st ed.). Buffalo, New York: Firefly Books. ISBN 978-1-55407-175-3.