क्लाउड कम्प्यूटिंग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
क्लाउड कम्प्यूटिंग का कांसेप्ट

क्लाउड कम्यूटिंग (Cloud Computing) या मेघ संगणना वास्तव में इंटरनेट-आधारित प्रक्रिया और कंप्यूटर ऐप्लीकेशन का इस्तेमाल है। गूगल एप्स क्लाउड कंप्यूटिंग का एक उदाहरण है जो बिजनेस ऐप्लीकेशन ऑनलाइन मुहैया कराता है और वेब ब्राउजर का इस्तेमाल कर इस तक पहुंचा जा सकता है।

इंटरनेट पर सर्वरों में जानकारियाँ (अनुप्रयोग, वेब पेजेस, प्रोग्राम इत्यादि सभी) सदा सर्वदा के लिए भंडारित रहती हैं और ये उपयोक्ता के डेस्कटॉप, नोटबुक, गेमिंग कंसोल इत्यादि पर आवश्यकतानुसार अस्थाई रूप से संग्रहित रहती हैं। इसे थोड़ा विस्तारित और सरल रूप में कहें तो सीधी सी बात है कि अब तक जो सॉफ्टवेयर प्रोग्राम आप स्थानीय रूप से अपने कम्प्यूटर और लैपटॉप-नोटबुक पर संस्थापित करते रहे थे, अब इनकी कतई आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि ये सब सॉफ्टवेयर अब आपको वेब सेवाओं के जरिए मिला करेंगी। वेब होस्टिंग के क्षेत्र में भी क्लाउड का उपयोग कर नवीनतम प्रकार की वेब होस्टिंग सेवा क्लाउड होस्टिंग प्रस्तुत की गई है। यही नहीं, गूगल गियर जैसे अनुक्रमों के जरिए आपको इस तरह की बहुत सारी सुविधाएं ऑफ़लाइन भी मिला करेंगीं।

क्लाउड कंप्यूटिंग कंप्यूटिंग की एक शैली है जिसमें गतिक रूप से परिमाप्य और अक्सर आभासी संसाधनों को इंटरनेट पर एक सेवा के रूप में उपलब्ध कराया जाता है।

[1][2] उपयोगकर्ताओं को उनकी मदद करने वाले "क्लाउड" के तकनीकी ढांचे के ज्ञान, उसमें विशेषज्ञता या उस पर नियंत्रण की कोई आवश्यकता नहीं होती है। [3]

परिचय[संपादित करें]

इस अवधारणा में आमतौर पर निम्नलिखित के संयोजन शामिल किये जाते हैं:

क्लाउड कप्युटिंग सेवाएं अक्सर सामान्य वाणिज्यिक अनुप्रयोगों को ऑनलाइन उपलब्ध कराती हैं और एक वेब ब्राउजर से उपलब्ध होती हैं, जबकि सॉफ्टवेयर और डेटा सर्वर पर संग्रहित होते हैं।

इंटरनेट के लिए शब्द क्लाउड का उपयोग एक रूपक के रूप में किया जाता है, यह इस बात पर आधारित होता है कि कम्पूटर नेटवर्क आरेख में इंटरनेट का वर्णन कैसे किया जाता है और यह इसमें छिपे हुए जटिल बुनियादी सरंचना के लिए एक सारांश है। [6]

इस शब्द का पहला शैक्षणिक उपयोग प्रोफेसर रामनाथ के. चेलाप्पा के द्वारा किया गया (वर्तमान में गोइज़ुएटा बिजनेस स्कूल, एमोरी विश्वविद्यालय में हैं) जिन्होंने इसे मूल रूप से एक कम्प्यूटिंग प्रतिमान के रूप में परिभाषित किया जहां कम्प्यूटिंग की सीमाओं का निर्धारण तकनीकी सीमाओं के बजाय आर्थिक तर्क के द्वारा किया जायेगा .[7]

संरचना (आर्किटेक्चर)[संपादित करें]

क्लाउड कम्प्युटिंग के विभिन्न स्तर

प्रमुख विशेषताएँ[संपादित करें]

  • कम लागत - किसी उद्यम को कम या लगभग शून्य लागत पर आरम्भ किया जा सकता है। चलाने का खर्च भी कम है क्योंकि इसमें उपभोग के अनुसार भुगतान की सुविधा उपलब्ध है।
  • तेज गति - क्लाउड कंप्यूटिंग कम्पनीज डिमांड होने पर आपको कुछ भी रिसोर्स कुछ ही समय में प्रोवाइड कर सकती है
  • क्लाउड कम्प्यूटिंग की सुविधाएँ एपीआई (API) के माध्यमभी इसका उपयोग किया जा सकता है क्योंकि यह ब्राउजर पर आधारित है।
  • विश्वशनीयता - चूंकि यह बड़े एवं विश्वसनीय कम्पनियों द्वारा प्रदत्त सेवा है (जैसे अमेजन डॉट काम) - यह बहुत विश्वसनीय है।
  • आवश्यकता के अनुसार कम-ज्यादा करने की सुविधा (स्केलेबिलिटी) - आप कम क्षमता किराये से ले सकते हैं और जैसे ही आपको लगे कि आपको अधिक क्षमता की आवश्यकता है, अधिक क्षमता खरीद लीजिये। यह बदलाव एक घंटे से भी कम समय में किया जा सकता है।
  • पर्यावरण से अनुकूलता- क्लाउड ऊर्जा की बचत करने के साथ ही कार्बन उत्सर्जन कम कर पर्यावरण को बचाने में सहायता करता है। [3]

लाभ[संपादित करें]

क्लाउड कंप्यूटिंग कंपनियों के प्रौद्योगिकी खर्च में कमी लाता है, क्योंकि इसे संबद्ध ऐप्लीकेशन सदस्यता शुल्क चुका कर ऑनलाइन के जरिये किराए पर लिया जा सकता है। क्लाउड कंप्यूटिंग तकनीक समय की बचत, इन्फ्रास्ट्रक्चर लागत में कमी, डाटा भंडारण में सुगमता, ऐप्लीकेशन प्रबंधन खर्च आदि में अहम भूमिका निभाती है। क्लाउड कम्प्युटिंग के किराये का मॉडल भी बहुत सुविधाजनक है। यहां तक कि इसे एकाध घंटे के लिये किराये पर लिया जा सकता है। अतिरिक्त स्थानीय सॉफ्टवेयर एमएफपी ब्राउज़र के अलावा आवश्यक नहीं है • उपयोगकर्ताओं को सीधे, बादल के लिए पेपर दस्तावेजों हस्तांतरण कर सकते हैं भौतिक भंडारण की लागत को कम करने • सहज यूजर इंटरफेस किसी को भी इस प्रणाली का उपयोग करने के लिए

संक्षिप्त वर्णन[संपादित करें]

तुलना[संपादित करें]

क्लाउड कंप्यूटिंग निम्न के साथ भ्रम पैदा कर सकती है।


दरअसल, कई क्लाउड कंप्यूटिंग का प्रभावी इस्तेमालas of 2009 के अनुसार  ग्रिड्स पर निर्भर करता है, इसकी स्वायत्त विशेषताएं होती हैं और बिल जैसी उपयोगिताएं होती हैं-लेकिन क्लाउड कम्प्यूटिंग की विस्तृत होने की प्रवृति होती है जो ग्रिडों और उपयोगिताओं के द्वारा प्रदान की जाती है। [10] कुछ सफल क्लाउड की सरंचना में अल्प या कोई केंद्रीकृत बुनियादी सरंचना या बिलिंग प्रणाली नहीं होती है, इसमें सहकर्मी नेटवर्क जैसे बिट टोरेंट और स्काइप शामिल हैं या स्वयंसेवक कंप्यूटिंग SETI@home शामिल हैं। [11][12]

इसके अलावा, कई विश्लेषक ग्रिड प्रौद्योगिकी और क्लाउड कंप्यूटिंग के बीच विकासवादी, वृद्धिशील मार्ग पर जोर देने में रूचि रखते हैं, इसकी शुरुआत 1990 में अनुप्रयोग सेवा प्रदाता (ASPs) के रूप में और SaaS के समानांतर हुई, अक्सर इसे क्लाउड पर अनुप्रयोग के रूप में जाना जाता है। [13] कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि इन पदों के बीच वास्तविक अंतर है विपणन और ब्राण्डिंग; अर्थात तकनीक का विकास वृद्धिशील था और विपणन का विकास असतत। [14]

लाक्षणिक गुण[संपादित करें]

क्लाउड कंप्यूटिंग ग्राहकों की आम तौर पर अपनी भौतिक बुनियादी सरंचना नहीं होती है जो सॉफ्टवेयर प्लेटफोर्म के लिए एक मेजबान का कार्य करे। इसके बजाय, वे एक तीसरे पक्ष प्रदाता से किराये पर उपयोग के द्वारा पूंजी खर्च करने से बचते हैं। वे एक सेवा के रूप में संसाधनों का उपभोग करते हैं और केवल उन्ही संसाधनों के लिए भुगतान करते हैं जिनका वे उपयोग करते हैं।

कई क्लाउड-कंप्यूटिंग प्रस्ताव यूटिलिटी कम्प्यूटिंग मॉडल के आधार पर काम करते हैं, जो इसके अनुरूप है कि पारंपरिक उपयोगिता सेवाओ (जैसे विद्युत) का उपभोग कैसे किया जाता है, जबकि अन्य सदस्यता के आधार पर बिल बनाते हैं।

कई किरायेदारों के बीच "खराब हो सकने वाली और अमूर्त" कम्प्यूटिंग क्षमता उपयोगिता की दर में सुधार कर सकती है, चूंकि सर्वरों को अनावश्यक रूप से निष्क्रिय नहीं छोड़ा जाता है (जो अनुप्रयोग विकास की गति को बढ़ाते हुए लगत को काफी कम कर सकता है).

इस दृष्टिकोण का एक पार्श्व प्रभाव है कि समग्र रूप में कंप्यूटर के उपयोग में नाटकीय ढंग से वृद्धि हुई है, ग्राहकों को पीक लोड सीमा के लिए अभियांत्रिकी की जरूरत नहीं होती है। [15] इसके अतिरिक्त, "उच्च गति के बैंडविड्थ में वृद्धि" अन्य साइटों पर केंद्रीकृत ढांचे से समान प्रतिक्रिया समय प्राप्त करने को संभव बनाती है।

अर्थशास्त्र[संपादित करें]

क्लाउड कम्प्यूटिंग के अर्थशास्त्र बनाम पारंपरिक IT को दर्शाता हुआ चित्र, जिसमें पूंजीगत व्यय (CapEx) और परिचालन व्यय (OpEx) शामिल है।

क्लाउड कंप्यूटिंग उपयोगकर्ता हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और सेवाओ पर पूंजी खर्च करने से बच सकते हैं जब वे प्रदाता को केवल उसी का भुगतान करते हैं जिसका वे उपयोग कर रहे हैं। उपभोग का बिल एक उपयोगिता (उदाहरण उपभोग किये गए संसाधन जैसे विद्युत) या सदस्यता (उदाहरण समय आधारित जैसे एक समाचार पत्र) के आधार पर बनाया जाता है जिसमें अपफ्रंट लागत बहुत कम होती है या नहीं होती है। इस समय सहभाजन शैली दृष्टिकोण के अन्य लाभ हैं प्रवेश में कम बाधाएं, सहभाजित बुनियादी सरंचना और लागत कम प्रबंधन उपरिव्यय और अनुप्रयोगों की एक विस्तृत रेंज की उपलब्धि.

उपयोगकर्ता आमतौर पर किसी भी समय अनुबंध को समाप्त कर सकते हैं (जिसमें निवेश जोखिम और अनिश्चितता की वापसी को महत्त्व नहीं दिया जाता है) और सेवाओ को अक्सर वित्तीय दंड के साथ सेवा स्तर समझौते (SLAs) के द्वारा कवर किया जाता है। [16][17]

निकोलस कार के अनुसार, सूचना प्रौद्योगिकी का रणनीतिक महत्व है इसके यह कम खर्चीले और मानकीकृत होने के साथ इसका ह्रास होना। उन्होंने तर्क दिया कि क्लाउड कम्प्यूटिंग प्रतिमान शिफ्ट 20 वीं सदी के प्रारंभ में विद्युत ग्रिड के द्वारा विद्युत जनित्र के विस्थापन के समान हैं। [18]

हालांकि कंपनियां अपफ्रंट पूंजीगत व्यय की बचत में सक्षम हो सकती हैं, हो सकता है कि उन्हें परिचालन व्यय के लिए वास्तव में अधिक भुगतान करना पड़े और वे अधिक बचत नहीं कर पायें। ऐसी परिस्थितियों में जब पूंजीगत व्यय अपेक्षाकृत कम होता है, या जहां संगठन के पास परिचालन बजट की तुलना में अपनी पूंजी के बजट को लेकर अधिक लचीलापन होता है, तब क्लाउड मॉडल अधिक वित्तीय अर्थ नहीं देता है। किसी संभावित लागत बचत के पैमाने को प्रभावित करने वाले अन्य कारकों में शामिल हैं, क्लाउड विक्रेता की तुलना में कम्पनी के डाटा केंद्र की प्रभाविता, कम्पनी की मौजूदा परिचालन लागत, क्लाउड कम्प्यूटिंग को अपनाने का स्तर और कार्य क्षमता का वह प्रकार जिसे क्लाउड में होस्ट किया जा रहा है। [19][20]

कंपनियां[संपादित करें]

वीएमवेयर(Vmware), सन माइक्रोसिस्टम्स (Sun Microsystems), रेकस्पेस यू एस (Rackspace US), आईबीएम (IBM), अमेज़न (Amazon), Googleगूगल (Google), बीएमसी (BMC), माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) और याहू (Yahoo) कुछ प्रमुख क्लाउड कम्प्यूटिंग सेवा प्रदाता हैं। क्लाउड सेवाएं व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं द्वारा बड़े उद्यमों के माध्यम से भी अपनाई जा रही हैं, इन उद्यमों में वेमवेयर (Vmware), जनरल इलेक्ट्रिक (General Electric) और प्रोक्टर एंड गैंबल (Procter & Gamble) शामिल हैं।[21][22]

2009 में नए खिलाडी, जैसे उबुन्तु (Ubuntu) क्लाउड कम्प्यूटिंग, की और आकर्षण बढ़ रहा है।[23]

संरचना (शिल्पकला)[संपादित करें]

अधिकांश क्लाउड कंप्यूटिंग बुनियादी संरचनाओं में, as of 2009 के अनुसार , भरोसेमंद सेवाएं शामिल हैं, जो डाटा केन्द्रों के माध्यम से वितरित की जाती हैं और आभासीकरण तकनीकों के भिन्न स्तरों पर बनायीं जाती हैं। सेवाएं कहीं पर भी सुलभ हो सकती हैं, जो कि नेटवर्किंग बुनियादी सरंचनाओं को उपलब्ध कराता है। क्लाउड अक्सर उपभोक्ताओं की सभी कम्प्यूटिंग आवश्यकताओं के लिए सुलभता के एकमात्र बिंदु के रूप में प्रकट होते हैं।

आम तौर पर वाणिज्यिक अवसरों से अक्सर उम्मीद की जाती है कि वे ग्राहकों की सेवा की गुणवत्ता [quality of service (QoS)] आवश्यकताओं को पूरा करेंगी और प्रारूपिक रूप से SLAs पेश करेंगी.

[24] खुले मानक क्लाउड कम्प्यूटिंग की वृद्धि के लिए जटिल होते हैं और खुले स्रोत सॉफ्टवेयर ने कई क्लाउड कम्प्यूटिंग संपादनों के लिए नींव प्रदान की है।

[25]


इतिहास[संपादित करें]

दी क्लाउड टेलीफोनी से लिया गया एक शब्द है। 1990 के दशक तक, डेटा सर्किट (इनमें वो भी शामिल हैं जो इंटरनेट ट्रैफिक का वहन करते थे) गंतव्य स्थानों के बीच सख्त तारों से युक्त थे। बाद में, लंबे समय से चली आ रही टेलीफोन कंपनियों ने डेटा संचार के लिए वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN) सेवा की पेशकश करना शुरू किया। टेलीफोन कम्पनियां समान गारंटी युक्त बैंडविड्थ के साथ कम लागत पर एक निर्धारित परिपथ के रूप में VPN आधारित सेवाएं पेश करने में सक्षम थी। क्योंकि वे उपयोगिता को संतुलित करने के लिए ट्रैफिक को बदल सकती थीं, इस प्रकार से उन्होंने अपने समग्र नेटवर्क बैंड विड्थ को अधिक प्रभावी तरीके से काम में लिया।

इस व्यवस्था के परिणाम स्वरुप, उपयुक्त तरीके से यह निर्धारित करना असंभव था कि ट्रेफिक को कौन से मार्ग पर भेजा जाये. इस प्रकार की नेट्वर्किंग का वर्णन करने के लिए शब्द "टेलीकोम क्लाउड" का उपयोग किया जाता था और क्लाउड कम्प्यूटिंग अवधारणात्मक रूप से कुछ मिलती जुलती है।

क्लाउड कंप्यूटिंग वर्चुअल मशीनों (VMs) पर बहुत अधिक भरोसा करती है, जो उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मांग पर उत्पन्न हुई हैं। क्योंकि ये आभासी उदाहरण मांग पर उत्पन्न हुए हैं, यह निर्धारित करना असम्भव है कि एक दिए गए समय में ऐसे कितने VMs चलेंगे.

चूंकि परिस्थिति की मांग के अनुसार VMs को किसी भी दिए गए कंप्यूटर पर उत्पन्न किया जा सकता है, साथ ही वे विशिष्ट स्थान पर स्थित होते हैं, यह स्थिति क्लाउड नेटवर्क से अधिक मिलती है।

नेटवर्क आरेख में एक सामान्य वर्णन है एक क्लाउड का चित्रण.[6]


क्लाउड कंप्यूटिंग की बुनियादी अवधारणा 1960 में आयी, जब जॉन मेककेर्थी ने राय दी कि "कम्प्यूटेशन को किसी दिन एक सार्वजनिक उपयोगिता के रूप में संगठित किय जा सकता है"; वास्तव में सर्विस ब्यूरो के साथ लक्षणों का साझा करती है जो 1960 में आये थे।

शब्द क्लाउड पहले से ही 1990 के दशक के प्रारंभ में व्यावसायिक उपयोग में आ गया था, इसका उपयोग अतुल्यकालिक अंतरण विधा (ATM) नेटवर्क का उल्लेख करने के लिए किया जाता था।[26]दुर्भाग्य पूर्ण तरीके से शुरू हुई जनरल मेजिक ने 1995 में कई दूरसंचार कंपनी सहयोगियों जैसे AT&T, की भागीदारी में एक कम आयु का क्लाउड कम्प्यूटिंग उत्पाद शुरू किया, इसे उपभोक्ता उन्मुख इंटरनेट के लोकप्रिय होने से ठीक पहले शुरू किया गया।

21 वीं शताब्दी के अंत तक, शब्द "क्लाउड कंप्यूटिंग" अधिक व्यापक रूप से प्रकट होने लगा,[27] यद्यपि उस समय अधिकांश ध्यान SaaS तक सीमित था।

1999 में, Salesforce.com की स्थापना मार्क बेनिओफ़, पारकर हेरिस और उनके सहयोगियों के द्वारा की गयी।

उन्होंने गूगल और याहू! जैसी कम्पनियों के द्वारा विकसित कई तकनीकों को व्यावसायिक अनुप्रयोगों पर लागू किया।

उन्होंने अपने वास्तविक और सफल ग्राहकों के साथ SaaS और "मांग पर" की अवधारणा भी प्रदान की. SaaS के बारे में महत्वपूर्ण बात यह है कि इसे सीमित तकनीकी सहायता की आवश्यकता के साथ ग्राहकों द्वारा अनुकूलित किया जा सकता है।

व्यापार उपयोगकर्ताओं ने परिणामी लचीलेपन और गति का उत्साहपूर्वक स्वागत किया है। 


2000 के दशक के प्रारंभ में, माइक्रोसॉफ्ट ने वेब सेवाओं के विकास के माध्यम से Saas की अवधारणा को विस्तृत किया। IBM (आईबीएम) ने 2001 में ऑटोनोमिक कम्प्यूटिंग घोषणा पत्र में इन अवधारणाओं का विवरण दिया, जिसने विषमांगी भंडारण, सर्वर, अनुप्रयोग, नेटवर्क, सुरक्षा तंत्र और ऐसे अन्य तत्वों के साथ जटिल IT (सूचना प्रोद्योगिकी) प्रणाली के प्रबंधन में उन्नत ऑटोमेशन तकनीकों जैसे स्व-नियंत्रण, स्व-चिकित्सा, स्व-विन्यास और स्व-अनुकूलन का वर्णन किया जिन्हें एक उद्यम में आभासीकृत किया जा सकता है। .


एमैज़ोन(Amazon) ने नयी क्लाउड सरंचना के परिणाम स्वरुप महत्वपूर्ण आंतरिक प्रभाविता सुधार पाए जाने और डॉट-कोम बबल के बाद अपने डाटा केन्द्रों के आधुनिकीकरण के द्वारा क्लाउड कम्प्यूटिंग के विकास में महत्वपूर्ण भुमिका निभायी, इसके लिए उसने एक यूटिलिटी कम्प्यूटिंग आधार पर 2005 में अमेजन वेब सेवाओ के माध्यम से अपने सिस्टम उपलब्ध कराये.

[28]


2007 में, गूगल, आईबीएम (IBM) और कई विश्वविद्यालयों ने बड़े पैमाने पर क्लाउड कम्प्यूटिंग अनुसन्धान परियोजना शुरू की,[29] समय के साथ और टर्म के शुरू होने के बाद यह एक जाना माना विषय बन गया।

2008 के मध्य तक, क्लाउड कंप्यूटिंग को मुख्यधारा प्रेस में लोकप्रियता हासिल हुई और कई संबंधित घटनायें हुईं.[30]


अगस्त 2008 में, गार्टनर के अनुसंधान ने प्रेक्षित किया कि "संगठन कम्पनी-स्वामित्व हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर आस्तियों से प्रति-उपयोग सेवा-आधारित मॉडलों की ओर रुख कर रहे हैं" और यह पाया कि "क्लाउड कम्प्यूटिंग की दिशा में नियोजित स्थानान्तरण के परिणामस्वरूप कुछ क्षेत्रों में IT उत्पादों में बहुत अधिक वृद्धि होगी ओर अन्य क्षेत्रों में बहुत कमी आयेगी." [31]

क्लाउड कम्प्यूटिंग की आलोचना और नुकसान[संपादित करें]

क्योंकि क्लाउड कंप्यूटिंग उपयोगकर्ता को अपने डाटा के भौतिक भण्डारण की अनुमति नहीं देता है (यह संभावना अपवाद है कि डाटा को उपयोगकर्ता की भण्डारण युक्ति जैसे एक USB फ्लैश ड्राइव या हार्ड डिस्क तक भेजा जा सकता है) यह डाटा संग्रहण और नियंत्रण की जिम्मेदारी को प्रदाता के हाथों में नहीं देता है।

क्लाउड कंप्यूटिंग की आलोचना इस बात को लेकर की जाती है कि यह उपयोगकर्ता की स्वतंत्रता को सीमित कर देता है और उन्हें क्लाउड कम्प्यूटिंग प्रदाता पर निर्भर बना देता है और कुछ आलोचकों के अनुसार केवल उसी अनुप्रयोग या सेवा का उप[योग करना संभव है जिसे प्रदाता उपलब्ध कराना चाहता है।

इस प्रकार, दी लंदन टाइम्स क्लाउड कम्प्यूटिंग की तुलना 1950 और 60 के दशकों की केंद्रीकृत प्रणाली से करती है, जिसके द्वारा उपयोगकर्ता "डम्ब" टर्मिनल से मुख्यधारा कंप्यूटर के माध्यम से जुड़े रहते हैं। 

आमतौर पर, उपयोगकर्ता को नए अनुप्रयोग इन्सटाल करने की स्वतंत्रता नहीं होती है और विशिष्ट कार्य करने के लिए प्रशासकों की स्वीकृति आवश्यक होती है।


कुल मिलाकर, यह स्वतंत्रता और सृजनात्मकता दोनों को सीमित करता है। दी टाइम्स का तर्क है कि क्लाउड कम्प्यूटिंग उस समय की मंदी है।[32]


इसी प्रकार, फ्री सॉफ्टवेयर फाउंडेशन के संस्थापक, रिचर्ड स्टालमेन, का मानना है कि क्लाउड कम्प्यूटिंग स्वतंत्रताओं को खतरे में डालती है क्योंकि उपयोगकर्ता अपनी गोपनीयता और व्यक्तिगत डाटा को एक तीसरे पक्ष को बलिदान करते हैं।

उन्होंने कहा कि "बस एक जाल जो ज्यादा से ज्यादा लोगों को खरीद कर ताले में बंद कर रहा है, मालिकाना प्रणाली जिसकी लागत उनके लिए समय के साथ बढ़ती ही जायेगी."


[33]


स्टालमेन के प्रेक्षणों के बाद, इंट्रानेट और प्रतिबंधित (सरकारी, रक्षा और संस्थागत आदि के लिए) साइटों को उपलब्ध कराना/ उनकी मेजबानी करना उनका रखरखाव करना एक चुनौती बन गया।

वाणिज्यिक साइटों का उपयोग करने वाले टूल जैसे वेब विश्लेषिकी अपने व्यापार नियोजन आदि के लिए सही डाटा प्राप्त करने में सक्षम नहीं हो सकते थे। 

राजनीतिक मुद्दे[संपादित करें]

दी क्लाउड कई सीमाओं को पार करता है और "वैश्वीकरण का अंतिम रूप हो सकता है।"[34] फिर भी, यह जटिल भू राजनितिक मुद्दों के लिए एक विषय बन जाता है और एक विश्व स्तरीय बाजार को सेवाओ की डिलिवरी करने के लिए प्रदाता पर असंख्य विनियामक वातावरण को संतुष्ट करने का दबाव बन जाता है।

ऐसा इंटरनेट के प्रारंभिक दिनों में हुआ, जब मुक्तिवादी विचारकों ने महसूस किया कि "साइबरस्पेस खुद के कानूनी संस्थानों के रूप में बनाया गया एक विशिष्ट स्थान है"[34]

कानूनी वातावरण को संतुलित करने के प्रयासों (जैसे US-EU Safe Harbor) के बावजूद, as of 2009 के अनुसार , प्रदाता जैसे अमेजन वेब सेवाओ ने बुनियादी सरंचनाओं को लागू कर के और ग्राहकों को "उपलब्धता क्षेत्र" का चयन करने की अनुमति देकर प्रमुख बाजार (प्रारूपिक रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय संघ के लिए) उपलब्ध कराये.

[35] फिर भी, सरकारी स्तर के माध्यम से निजी रूप में सुरक्षा और गोपनीयता का मुद्दा बना रहा (उदाहरण, यूएसए पैट्रियट अधिनियम, राष्ट्रीय सुरक्षा पत्रों का उपयोग और इलेक्ट्रॉनिक संचार गोपनीयता अधिनियम का संग्रहित संचार अधिनियम .


कानूनी मुद्दे[संपादित करें]

मार्च 2007 में, डेल ने सयुंक्त राज्य अमेरिका में शब्द "क्लाउड कम्प्यूटिंग" (U.S. Trademark 7,71,39,082) को ट्रेडमार्क बनाने का आवेदन किया।

कम्पनी ने 2008 में जो "भत्ते का नोटिस" प्राप्त किया वह अगस्त में रद्द हो गया, जिसके परिणामस्वरूप एक सप्ताह से कम समय में ही ट्रेडमार्क आवेदन को औपचारिक रूप से अस्वीकृत कर दिया गया।


सितम्बर 2008 में, संयुक्त राज्य अमेरिका के पेटेंट और ट्रेडमार्क कार्यालय (USPTO) ने "क्लाउड OS" के लिए CG एक्टिव LLC को (U.S. Trademark 7,73,55,287) एक "भत्ते का नोटिस" जारी किया।

जैसा कि इस नोटिस के तहत परिभाषित किया गया था, एक क्लाउड ऑपरेटिंग सिस्टम एक सामान्य ऑपरेटिंग सिस्टम है जो "कंप्यूटर के अन्दर और वेब पर सफ्टवेयर के बीच सम्बन्ध प्रबंधन करता है," जैसे Microsoft Azure (माइक्रोसॉफ्ट अजूर).[36]


नवंबर 2007 में, फ्री सॉफ्टवेयर फाउंडेशन ने एफ्रो जनरल पब्लिक लाइसेंस जारी किया, जो GPLv3 का एक संस्करण था, जिसने फ्री सॉफ्टवेयर डिजाइन से सम्बन्धी कथित कानूनी बचाव रास्ते को एक नेटवर्क पर चलाया, विशेष रूप से SaaS पर. किसी भी परिवर्तन के लिए के एक अनुप्रयोग सेवा प्रदाता की जरुरत होती है जिसे वे एफ्रो GPL खुले स्रोत कोड के लिए करते हैं।[तथ्य वांछित]


जोखिम को कम करना[संपादित करें]

निगम या अंतिम उपयोगकर्ता जो अपने डाटा की उपलब्धि नहीं होने की परिस्थिति से बचना चाहते हैं- या यहाँ तक कि डाटा के खो जाने की परिस्थिति से भी बचना चाहते हैं- उन्हें प्रारूपिक रूप से सलाह दी जाती है कि वे अपनी सेवाओ का उपयोग करने से पहले डाटा सुरक्षा पर विक्रेता की नीतियों का अनुसंधान करें. एक तकनीकी विश्लेषक और परामर्श फर्म, गार्टनर, कई सुरक्षा मुद्दों की एक सूची देती है जिनके बारे में क्लाउड कम्प्यूटिंग विक्रेता के साथ चर्चा की जानी चाहिए.


  • विशेषाधिकृत उपयोगकर्ता सुलभता- किसके पास डाटा के लिए और काम पर रखने के बारे में और ऐसे प्रशासकों के प्रबंधन के लिए विशिष्टीकृत सुलभता है?
  • विनियामक अनुपालन-क्या विक्रेता बाहरी ऑडिट और/या सुरक्षा प्रमाण पत्र से होकर गुजरना चाहता है?
  • डाटा स्थिति- क्या प्रदाता डाटा की किसी भी स्थिति पर किसी भी नियंत्रण की अनुमति देता है।
  • डेटा पृथक्करण- सभी अवस्थाओं में उपलब्ध कूटलेखन है और क्या इन कूटलेखन योजनाओं का डिजाइन और परीक्षण अनुभवी पेशेवरों के द्वारा किया गया है?
  • वसूली- विनाश के मामले में डाटा का क्या होता है और क्या विक्रेता पूर्ण पुनः संग्रहण उपलब्ध कराता है और, यदि ऐसा है, तो यह प्रक्रिया कितना समय लेगी?
  • जांच के लिए मदद- क्या विक्रेता के पास किसी अनुचित या गैरकानूनी गतिविधि की जांच करने की क्षमता है?
  • दीर्घकालिक व्यवहार्यता-डेटा का क्या होता है अगर कंपनी कारोबार से बाहर चली जाये और क्या डाटा वापस लौट आता है और किस प्रारूप में लौटता है?[37]
  • डेटा की उपलब्धता- क्या विक्रेता आपके डाटा को दूसरे वातावरण पर ले जा सकता है यदि मौजूदा वातावरण अनुपलब्ध हो जाये या इसके साथ समझौता करना पड़े?


अभ्यास में, डाटा की वसूली की क्षमताओं का बेहतरीन निर्धारण प्रयोगों के द्वारा किया जा सकता है; उदाहरण के लिए, पुराने डाटा को फिर से प्राप्त करने के लिए कहा जाये, नोट किया जाये कि इसमें कितना समय लगता है और पुष्टि की जाये कि जांच के लिए प्राप्त डाटा मूल डाटा से मेल खाता है।

डेटा सुरक्षा के निर्धारण और अधिक मुश्किल हो सकता है, लेकिन एक दृष्टिकोण है आप डाटा को खुद कुटलेखित करें. यदि आप एक भरोसेमंद एल्गोरिथ्म का उपयोग करते हुए डाटा को कुटलेखित करें, तो, सेवा प्रदाता की सुरक्षा और कूटलेखन की नीतियों पर ध्यान न देते हुए, डाटा केवल डिक्रिप्शन कुंजियों के साथ सुलभ हो जायेगा.

यह, हालांकि, पेय-ओन मांग कम्प्यूटिंग बुनियादी सरंचना में निजी कुंजियों के प्रबंधन की समस्या को जन्म देता है।


प्रमुख विशेषताएं[संपादित करें]

  • चपलता उपयोगकर्ताओं की तेजी से और सस्ते में पुनः-प्रोविजन प्रौद्योगिकी बुनियादी सुविधाओं के संसाधनों की क्षमता में सुधार करती है। समग्र कम्प्यूटिंग की लागत अपरिवर्तित रहती है, हालांकि और प्रदाता कभी कभी फ्रंट लागत को अवशोषित कर लेते हैं और एक लम्बी अवधि के दौरान लागत को प्रसारित करते हैं।
  • लागत दावा किया जाता है कि बहुत अधिक कम हुई है और पूंजीगत व्यय परिचालन व्यय में बदल गया है।[38] यह प्रवेश में अवरोध को दिखावटी तरीके से कम करता है, चूंकि बुनियादी सरंचना को एक तीसरे पक्ष के द्वारा उपलब्ध कराया जाता है और इसे एक बार के लिए या अनावृत व्यापक कम्प्यूटिंग कार्यों के खरीदने की जरुरत नहीं होती है।

एक उपयोगिता कंप्यूटिंग के आधार पर मूल्य निर्धारण उपयोग आधारित विकल्प के साथ किया जाता है और क्रियान्वयन (घर में) के लिए कम IT कुशलताओं की आवश्यकता होती है।

[39] कुछ लोग कहते हैं कि, कम्प्यूटिंग संसाधन की कम लागत, IT बोझ कभी कभी लागत को घर-में से बहिर्स्रोत-प्रदाता को स्थानांतरित कर देता है।

इसके अलावा, लागत में किसी भी कमी के लाभ का उपयोग, सम्बंधित नियंत्रण में कमी, सुलभता और सुरक्षा जोखिमों के लिए किया जाना चाहिए.


  • युक्ति और स्थान की स्वतंत्रता[40]उपयोगकर्ता को एक वेब ब्राउजर का उपयोग करते हुए सिस्टम सुलभ कराती है, इस पर इस बात का फर्क नहीं पड़ता कि उनकी स्थिति क्या है और वे कौन सी युक्ति (जैसे, पीसी, मोबाइल) का उपयोग कर रहे हैं।

चूंकि बुनियादी सरंचना ऑफ़-साईट है (आमतौर पर तीसरे पक्ष के द्वारा उपलब्ध करायी जाती है) और इंटरनेट के माध्यम से सुलभ है, उपयोगकर्ता कहीं से भी जुड़ सकते हैं। [39]

  • बहुल किरायेदारी उपयोगकर्ताओं के एक बड़े समूह में लागत संसाधनों के सहभाजन को सक्षम बनाती है, इस प्रकार से निम्न के लिए अनुमति देती है:


    • बुनियादी सरंचना का केंद्रीकरण कम लागत की स्थिति के साथ (जैसे रिअल एस्टेट, विद्युत आदि)
    • पीक-भार क्षमता बढ़ जाती है (उपयोगकर्ताओं को उच्चतम संभव लोड-स्तरों के लिए अभियांत्रिकी की की जरूरत नहीं है)
    • सिस्टम के लिए उपयोगिता और प्रभाविता में सुधार जो अक्सर केवल 10-20% उपयोग किये जाते हैं।[28]
  • विश्वसनीयता कई निरर्थक साइटों के उपयोग के माध्यम से बेहतर हो जाती है, जो क्लाउड कम्प्यूटिंग को व्यापर की निरंतरता और आपदा वसूली के लिए उपयुक्त बनाता है।

[41] फिर भी, कई प्रमुख क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाओं ने कई समस्याओं का सामना किया है और IT और व्यापर प्रबंधक ऐसे समय पर कम कर पते हैं, जब वे प्रभावित होते हैं।

[42][43]

  • मापनशीलता ("माँग-पर") संसाधनों का एक अच्छा पर प्रावधानीकरण- के जरिये छोटाबीजवाला, आत्म वास्तविक समय निकट सेवा आधार, प्रयोक्ताओं पीक लोड के लिए इंजीनियर बिना. प्रदर्शन पर नियंत्रण किया जाता है और सिस्टम इंटरफेस के रूप में वेब सेवाओ का उपयोग करते हुए स्थिर और शिथिल युग्मित सरंचना का उपयोग किया जाता है।

[39]

  • सुरक्षा में आमतौर पर डाटा के केन्द्रीकरण के कारण[44], बढ़ी हुई सुरक्षा केन्द्रित संसाधनों आदि के कारण सुधार होता है, लेकिन विशेष संवेदी डाटा पर नियंत्रण की कमी के बारे में चिंता बनी रह सकती है।

सुरक्षा आंशिक रूप से अक्सर पारंपरिक प्रणालियों के जितनी या उससे ज्यादा अच्छी होती है, क्योंकि प्रदाता सुरक्षा के मुद्दों को हल करने के लिए संसाधनों का समर्पण करने में सक्षम होते हैं, बहुत से ग्राहक जिसका भार वहन नहीं कर सकते.[45] प्रदाता आम तौर पर, लॉग सुलभ होते हैं, लेकिन ऑडिट लॉग की सुलभता पाने आप में मुश्किल या असंभव हो सकती है।

"क्लाउड" प्रदाता के द्वारा नियंत्रित डाटा के लिए स्वामित्व, नियंत्रण और सुलभता अधिक कठिन हो सकती है, ठीक वैसे ही जैसे कभी कभी वर्तमान उपयोगिताओं के साथ "लाइव" समर्थन की सुलभता प्राप्त करना मुश्किल होता है।

क्लाउड प्रतिमान के अंतर्गत, संवेदनशील डेटा के प्रबंधन को क्लाउड प्रदाताओं और तीसरे पक्ष के हाथों में रख दिया गया है।

  • स्थिरता संसाधनों की उपयोगिता में सुधार, अधिक प्रभावी प्रणाली और कार्बन उदासीनता के कारण आती है।[46][47] फिर भी, कंप्यूटर और संबंधित बुनियादी सरंचनाएं ऊर्जा के बड़े उपभोक्ता हैं। एक दिया गया (सर्वर आधारित) कंप्यूटिंग कार्य ऊर्जा की X मात्रा का उपयोग करेगा चाहे यह ओन-साईट है या ऑफ़-साईट.[48]

घटक (अवयव)[संपादित करें]

क्लाउड कंप्यूटिंग के छह परतों के घटक

अनुप्रयोग[संपादित करें]


एक क्लाउड अनुप्रयोग क्लाउड को सॉफ्टवेयर सरंचना में प्रयुक्त करता है, अक्सर ग्राहक के अपने कंप्यूटर पर अनुप्रयोग को इंस्टाल करने और चलाने की आवश्यकता को कम कर देता है, इस प्रकार से सॉफ्टवेयर के रख रखाव, चल रही गतिविधियों और सहारे के बोझ को कम करता है।


उदाहरण के लिए:


ग्राहक[संपादित करें]


एक क्लाउड ग्राहक के पास कंप्यूटर हार्डवेयर और/या कंप्यूटर सॉफ्टवेयर होता है जो अनुप्रयोग डिलीवरी के लिए क्लाउड कम्प्यूटिंग पर निर्भर करता है, या जो विशेष रूप से क्लाउड सेवाओं की डिलीवरी के लिए डिजाइन किया जाता है और जो, किसी मामले में, इसके बिना आवश्यक रूप से अनुपयोगी होता है। [49] उदाहरण के लिए:





बुनियादी सरंचना[संपादित करें]


क्लाउड बुनियादी सरंचना, जैसे एक सेवा के रूप में बुनियादी सरंचना, कंप्यूटर की बुनियादी सरंचना की डिलिवरी है, प्रारूपिक रूप से एक सेवा के रूप में, एक प्लेटफोर्म आभासीकरण वातावरण है।

[56] उदाहरण] के लिए:

प्लेटफोर्म (मंच)[संपादित करें]


एक क्लाउड प्लेटफोर्म, जैसे एक सेवा के रूप में प्लेटफोर्म, कम्प्यूटिंग प्लेटफोर्म की डिलीवरी है और/या एक सेवा के रूप में समाधान का अम्बार है, जो इसके तहत उपस्थित हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर परतों के प्रबंधन और क्रय की जटिलता और लागत के बिना अनुप्रयोग को लागू करने को बढावा देती है।[57] उदाहरण के लिए:

सेवा[संपादित करें]


एक क्लाउड सेवा में "उत्पाद, सेवाएं और समाधान शामिल हैं जो इंटरनेट पर वास्तविक समय में डिलीवर और उपभोग किये जाते हैं।"[39]

उदाहरण के लिए, वेब सेवायें ("सॉफ्टवेयर प्रणाली जिसे एक नेटवर्क में इन्तेरोपेराबल मशीन-से-मशीन अंतर्क्रिया को मदद करने के लिए डिजाइन किया गया है")[58] जो अन्य क्लाउड कम्प्यूटिंग अवयवों, सॉफ्टवेयर, उदाहरण सॉफ्टवेयर प्लस सेवाएं, या सीधे अंतिम उपयोगकर्ता के लिए सुलभ हो सकती हैं।

[59] विशिष्ट उदाहरण में शामिल हैं:

संरचना[संपादित करें]

क्लाउड कंप्यूटिंग नमूना वास्तुकला


क्लाउड सरंचना[60] क्लाउड कम्प्यूटिंग की डिलीवरी में शामिल सॉफ्टवेयर सिस्टम की सिस्टम सरंचना, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से बनी होती है, जिसे एक क्लाउड वास्तुकार के द्वारा डिजाइन की जाती है, जो प्रारूपिक रूप से एक क्लाउड एकीकरण के लिए काम करता है।

इसमें आमतौर पर कई क्लाउड अवयव शामिल होते हैं जो अनुप्रयोग प्रोग्रामिंग इंटरफेस, सामान्यतया वेब सेवाओं पर एक दूसरे के साथ संचार करते हैं।

[61]


यह यूनिक्स दर्शन से बहुत अधिक मिलता जुलता है जिसमें बहुल प्रोग्राम होते हैं, जो एक चीज को अच्छी तरह से करते हैं और सार्वभौमिक इंटरफेस पर एक साथ मिल कर काम करते हैं। जटिलता का नियंत्रण किया जाता है और परिणामी सिस्टम अखंड समकक्षों की तुलना में अधिक प्रबंधन योग्य हैं।



क्लाउड सरंचना ग्राहक तक पहुँच जाती है, जहां वेब ब्राउजर और/या सॉफ्टवेयर अनुप्रयोग के लिए क्लाउड अनुप्रयोग सुलभ होते हैं।



क्लाउड भंडारण सरंचना शिथिल युग्मित होती है, जहां मेटाडाटा गतिविधियां केंद्रीकृत होती हैं जो डाटा नोड्स को सैंकडों के पैमाने तक पहुँचने में सक्षम बनाती हैं, प्रत्येक स्वतंत्र रूप से अनुप्रयोग या उपयोगकर्ता को डाटा डिलीवर या वितरित करती है।

प्रकार[संपादित करें]

क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार

सार्वजनिक क्लाउड[संपादित करें]

सार्वजनिक क्लाउड या बाहरी क्लाउड पारंपरिक मुख्यधारा अर्थ में क्लाउड कम्प्यूटिंग का वर्णन करता है, जिसके द्वारा संसाधन इंटरनेट पर स्व-सेवा आधारित, एक फाइन-ग्रेन्ड पर गतिक रूप से स्थापित होते हैं, ये वेब अनुप्रयोग/वेब सेवाओं के माध्यम से, एक ऑफ़-साईट तीसरे पक्ष प्रदाता से कार्य करते हैं, जो एक फाइन-ग्रेंड यूटिलिटी कम्प्यूटिंग आधार पर बिल और संसाधनों को शेयर करता है।

[39]

संकरित क्लाउड[संपादित करें]

एक संकरित क्लाउड पर्यावरण में बहुल आंतरिक और/या बाहरी प्रदाता शामिल होते हैं[62] "जो अधिकांश उद्यमों के लिए प्रारूपिक होगा".

[63]

निजी क्लाउड[संपादित करें]

निजी क्लाउड और आंतरिक क्लाउड निओलोजिस्म हैं कि कई विक्रताओं ने हाल ही में उस पेशकश का वर्णन करने के लिए प्रयोग किया है जो निजी नेटवर्क पर क्लाउड कम्प्यूटिंग का अनुसरण करता है।

ये (प्रारूपिक रूप से आभासीकरण स्वचालन) उत्पाद "पिटफाल्स के बिना क्लाउड कम्प्यूटिंग के कुछ फायदों को वितरित करने", डाटा सुरक्षा पर पूंजीकरण, कोरपोरेट प्रशासन और विश्वसनीयता के मुद्दों का दावा करते हैं, 

उनकी इस आधार पर आलोचना की गयी है कि उपयोगकर्ता "को अभी भी उन्हें, खरीदना, बनाना और प्रबंधित करना पड़ता है" और ये लोवर-अप फ्रंट पूंजी लगत से फायदा नहीं देते और कम प्रबंधन करते हैं[63], आवश्यक रूप से "[कमी] आर्थिक मॉडल जो क्लाउड कम्प्यूटिंग को इतनी दिलचस्प अवधारणा बनाते हैं।[64][65]


हालांकि एक विश्लेषक ने 2008 में पूर्वानुमान लगाया कि निजी क्लाउड नेटवर्क कोरपोरेट IT का भविष्य होंगे,[66]इस बारे में कुछ अनिश्चितता है कि वे यहाँ तक कि समान फार्म में वास्तविकता हैं। [67] विश्लेषक यह भी दावा करते हैं कि पांच साल के अन्दर छोटे और माध्यम उद्यमों की एक "बड़ी प्रतिशतता" अपने अधिकंश कम्प्यूटिंग संसाधनों को बाहरी क्लाउड कम्प्यूटिंग प्रदाताओं से प्राप्त करेगी क्योंकि उनके पास "इतना आर्थिक पैमाना नहीं होगा जो IT व्यापार में रह सके" या निजी क्लाउड का भार वहन कर सके.

[68]विश्लेषकों ने प्लेटफोर्म के दृश्यों पर रिपोर्ट दी कि निजी क्लाउड बाहरी क्लाउड के लिए एक आगे बढ़ने का पत्थर है, विशेष रूप से वित्तीय सेवाओ के लिए और यह कि भावी डाटा केंद्र आंतरिक क्लाउड की तरह दिखेंगे.

[69]


इस शब्द का उपयोग भौतिक से अधिक तार्किक अर्थ में किया जाता रहा है। उदाहरण के लिए एक सेवा की पेशकश के रूप में प्लेटफोर्म के सन्दर्भ में[70], यद्यपि एजुर सेवा प्लेटफोर्म सहित ऐसी पेशकश परिसर में उपलब्ध नहीं हैं।

[71]

भूमिकाएं[संपादित करें]

प्रदाता[संपादित करें]


एक क्लाउड कंप्यूटिंग प्रदाता या क्लाउड कंप्यूटिंग सेवा प्रदाता तीसरे पक्ष को सेवाएं वितरित करने के लिए लाइव क्लाउड कम्प्यूटिंग सिस्टम रखता है और परिचालित करता है। आमतौर पर इसके लिए अगली पीढी के डाटा केन्द्रों के विनिर्माण और प्रबंधन में महत्वपूर्ण संसाधनों और विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है। कुछ संगठन "आंतरिक" क्लाउड प्रदाता बना कर और खुद सेवाएं उपलब्ध करा कर क्लाउड कम्प्यूटिंग के लाभों के उपसमुच्चय को महसूस करते हैं, हालांकि उन्हें सामान आर्थिक पैमाने से लाभ नहीं मिलता है और उन्हें अभी भी पीक लोड के लिए आभियांत्रिकी की जरुरत होती है।

प्रवेश में बाधा भी पूंजीगत व्यय के साथ काफी अधिक होती है और बिलिंग और प्रबंधन कुछ उपरिव्यय बनाते हैं। बहरहाल, महत्वपूर्ण परिचालन कुशलता और चपलता के लाभों को छोटे संगठनों के द्वारा भी महसूस किया जा सकता है और सर्वर समेकन और आभासीकरण रोल आउट्स पहले से ही चल रहें हैं।

[72] Amazon.com पहला ऐसा प्रदाता था, जिसने अपने डाटा केन्द्रों का आधुनिकीकरण किया, जो अधिकंश कंप्यूटर नेटवर्कों की तरह सामयिक स्पाइक्स के लिए कमरा छोड़ने के लिए किसी एक समय में अपनी क्षमता का केवल 10 प्रतिशत ही उपयोग कर रहा था।

इसने छोटे और तेजी से बढ़ते हुए समूहों को जल्दी और आसानी से नए लक्षण प्राप्त करने में मदद की और वे एक यूटिलिटी कम्प्यूटिंग आधार पर 2002 में अमेजन वेब सेवाओ के रूप में इसे बाहरी लोगों के लिए खोलते रहे.[28]


अवयव भाग में सूची में रखी गयी कम्पनियां प्रदाता हैं।

उपयोगकर्ता[संपादित करें]


उपयोगकर्ता क्लाउड कंप्यूटिंग का एक उपभोक्ता होता है।[49] क्लाउड कंप्यूटिंग में उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता बढ़ती चिंता का विषय बन गया है।[73] उपयोगकर्ताओं का अधिकार भी एक मुद्दा है, अधिकारों के एक बिल के निर्माण के लिए एक सामुदायिक प्रयास के माध्यम से संबोधित किया जा रहा है।

[74][75][76] दी फ्रेंकलिन स्ट्रीट स्टेटमेंट को उपयोगकर्ता की स्वतंत्रता को सुरक्षित रखने की प्रक्रिया पर नजर रखते हुए तैयार किया गया।

[77]

विक्रेता[संपादित करें]


कुछ विक्रेता उन उत्पादों और सेवाओं को बेचते या देते हैं जो क्लाउड कम्प्यूटिंग के उपयोग, उसे अपनाने और उसकी डिलिवरी को बढ़ावा देते हैं।

[78] उदाहरण के लिए:


IBM, Mezeo, NetApp, ParaScale और Sun Microsystems)


मानक[संपादित करें]


क्लाउड मानक, कई मौजूदा, प्रारूपिक रूप से हल्के वजन के, खुले मानकों ने क्लाउड कम्प्यूटिंग की वृद्धि को बढ़ावा दिया है, जिनमें शामिल हैं:[81]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Gartner Says Cloud Computing Will Be As Influential As E-business". www.gartner.com. Gartner. 2008-06-26. अभिगमन तिथि 2009-06-02.
  2. Gruman, Galen (2008-04-07). "What cloud computing really means". InfoWorld. अभिगमन तिथि 2009-06-02.
  3. [5] ^ क्लाउड कम्प्यूटिंग को यूटिलिटी कम्प्यूटिंग से विभेदित करना
  4. Williams, John M. (2008-12-31). "Who Coined the Phrase Cloud Computing?" (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2009-03-03. नामालूम प्राचल |coauthors= की उपेक्षा की गयी (|author= सुझावित है) (मदद)
  5. Anita Campbell (2008-08-31). "Cloud Computing - Get Used to the Term" (अंग्रेज़ी में). The App Gap. अभिगमन तिथि 2009-03-03.
  6. [10] ^ दी इंटरनेट क्लाउड
  7. "Cloud computing---emerging paradigm for computing".
  8. "It's probable that you've misunderstood 'Cloud Computing' until now". TechPluto.
  9. [15] ^ वाट इज अ नेम?यूटिलिटी बनाम क्लाउड बनाम ग्रिड
  10. आईबीएम टू पुश 'क्लाउड कम्प्यूटिंग,' अफर से डेटा का उपयोग करते हुए.
  11. [18] ^ ओवर हार्ड: वाट दी हेक इज कम्प्यूटिंग इन अ क्लाउड?
  12. [19] ^ ACM सर्वव्यापकता: शैक्षणिक कम्प्यूटिंग क्लाउड का उद्भव
  13. [20] ^ [कटरीना स्टेनोएव्सका-स्लाबेवा, डेविड मारिया परिल्ली, जॉर्ज ए थानोस: BEinGRID: ग्रिड उद्योग के लिए बिजनेस मॉडलों का विकास. GECON 2008: 140-151]
  14. [21] ^ ग्रिड वोइसेस ब्लॉग
  15. [22] ^ क्लाउड कम्प्यूटिंग: एक सेवा के रूप में सॉफ्टवेयर का विकास
  16. [23] ^ CFO's के लिए फ़ोरेस्तर्स की सलाह: लागत को कम करने के लिए क्लाउड कम्प्यूटिंग को अपनाओ.
  17. [24] ^ पांच क्लाउड कम्प्यूटिंग के सवाल
  18. [25] ^ क्लाउड कम्प्यूटिंग के लिए 'दी बिग स्विच' पर निकोलस कार
  19. [26] ^ 1 माध्यम आकार का संगठन 5 क्लाउड कम्प्यूटिंग मिथकों को बताता है
  20. [27] ^ क्लाउड कम्प्यूटिंग बचत - वास्तविक या काल्पनिक?
  21. [28] ^ गूगल एप्स बड़े कारोबार में इसके लिए रास्ता बनाता है।
  22. [29] ^ गूगल इंक Q2 2008 अर्निंग कॉल
  23. [30] ^ शीर्ष के क्लाउड कम्प्यूटिंग हल जिनकी लोग 2009 में तलाश कर रहे हैं।
  24. Buyya, Rajkumar; Chee Shin Yeo, Srikumar Venugopal. "Market-Oriented Cloud Computing: Vision, Hype, and Reality for Delivering IT Services as Computing Utilities" (PDF). Department of Computer Science and Software Engineering, The University of Melbourne, Australia. अभिगमन तिथि:
  25. [34] ^ क्लाउड कम्प्यूटिंग की खुला स्रोत ईंधन वृद्धि, सॉफ्टवेयर एक सेवा के रूप में.
  26. [36] ^ [1]जुलाई, 1993 IETF के कार्य ATM समूह पर IP से बैठक की रिपोर्ट.
  27. [37] ^ इंटरनेट क्रिटिक टेक्स ओन माइक्रोसॉफ्ट
  28. [38] ^ [2]जेफ बेजोस' रिस्की बेट/1}
  29. [39] ^ गूगल और आईबीएम 'क्लाउड कम्प्यूटिंग' अनुसंधान में शामिल हुए
  30. [40] ^ बादल कंप्यूटिंग पर नजर रखें
  31. [41] ^ गार्टनर के अनुसार विश्वव्यापी IT व्यय 2008 में $ 3.4 ट्रिलियन को पार कर गया।
  32. [42] ^ क्लाउड कंप्यूटिंग: क्या मेजबानी किये जाने वाले जानकारी सरंचना, सॉफ्टवेयर और सेवाओ के खतरे हमरे अपने निजी कंप्यूटर के बजाय इंटरनेट पर हैं।
  33. [43] ^ क्लाउड कंप्यूटिंग एक जाल है, GNU संस्थापक रिचर्ड स्टालमेन ने चेतावनी दी. गार्जियन, 30 सितंबर 2008
  34. [44] ^ कंप्यूटर बिना सीमाओं के
  35. [47] ^ फ़ीचर गाइड: अमेज़न EC2 उपलब्धता जोन
  36. [50] ^ माइक्रोसॉफ्ट योजनाएं 'क्लाउड' आपरेटिंग सिस्टम
  37. Brodkin, Jon (July 02, 2008). "Gartner: Seven cloud-computing security risks". www.infoworld.com. infoworld. अभिगमन तिथि 2009-04-15. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  38. [55] ^ ^ मंदी क्लाउड कम्प्यूटिंग के लिए बहुत अच्छी है - माइक्रोसॉफ्ट इससे सहमत है
  39. [56] ^ "क्लाउड सेवाओ" और "क्लाउड कम्प्यूटिंग" परिभाषा
  40. [57] ^ न्यू ग्रीक चीक: डाटा केन्द्र
  41. [60] ^ क्लाउड कम्प्यूटिंग: स्माल कम्पनीज टेक फ्लाइट
  42. [61] ^ गूगल एप्स एड्मिंस जितेरी अबाउट जीमेल, होप्फुल अबाउट फ्यूचर
  43. [62] ^ नए संसाधन, बोर्न ऑफ़ अ क्लाउड फ्यूद की जन्मे
  44. [64] ^ एक्सारी: लैपटॉप से मौत
  45. [65] ^ क्लाउड कंप्यूटिंग सुरक्षा पूर्वानुमान: साफ आसमान
  46. [66] ^ गूगल टू गो कार्बन न्यूट्रल बाय 2008
  47. [67] ^ क्या क्लाउड कम्प्यूटिंग है?
  48. [68] ^ अपना कंप्यूटर बंद करो
  49. [105] ^ निंबस क्लाउड गाइड
  50. [72] ^ गूगल 'स ओपन सोर्स एन्द्रोइड ओ एस विल फ्री दी वायरलेस वेब
  51. [73] ^ इन सींक टू पर्स दी क्लाउड
  52. [74] ^ "माइक्रोसॉफ्ट डेमोज मोबाइल क्लाउड सिंक क्लाइंट". मूल से 2012-09-18 को पुरालेखित.
  53. [75] ^ चेरिपाल जनता के लिए क्लाउड कंप्यूटिंग लाता है
  54. [76] ^ जोंबू की आकर्षक सुविधायें और मूल्य हैं
  55. [77] ^ GOS क्लाउड कंप्यूटिंग
  56. [79] ^ EMC Pi खरीदता है और एक क्लाउड कंप्यूटिंग समूह र्बनाता है
  57. [81] ^ गूगल एंजलस फॉर बिजनेस यूजर्स विथ 'प्लेटफोर्म एज अ सर्विस'
  58. "Web Services Glossary".
  59. [86] ^ उभरती क्लाउड सेवा सरंचना
  60. [87] ^ बिल्डिंग ग्रेप दी वेब इन दी क्लाउड, भाग 1: क्लाउड आर्किटेक्चर
  61. [88] ^ क्लाउड की परिपक्वता त्वरित हो रही है: हाइप के लिए प्रतिक्रिया से अधिक?
  62. [90] ^ आईबीएम एम्बेस जुनिपर फॉर इट्स स्मार्ट 'हाइब्रिड क्लाउड', दिस्सेस किस्को (IBM)
  63. [92] ^ प्राइवेट क्लाउड टेक शेप
  64. [93] ^ जस्ट डोन्ट काल देम प्राइवेट क्लाउड्स
  65. [94] ^ एक निजी बादल जैसी कोई चीज नहीं है
  66. [95] ^ निजी क्लाउड कंप्यूटिंग कॉर्पोरेट आईटी के भविष्य हैं
  67. [96] ^ निजी क्लाउड कम्प्यूटिंग: दी ओनली थिंग रिअल सो फार इज दी डिजायर
  68. [97] ^ मिलियन डॉलर प्राइवेट क्लाउड
  69. [98] ^ फ्रॉम ग्रिड टू क्लाउड (ग्रिदिपेडिया)
  70. [99] ^ गूगल कोडेर्स के लिए निजी क्लाउड को खोलता है
  71. [100] ^ माइक्रोसॉफ्ट निक्सेस निजी एज्युर क्लाउड
  72. [102] ^ ACM पंक्ति - सर्वर एकीकरण के पार
  73. [106] ^ गूगल गोपनीयता प्रथायें आईएसपी स्नूपिंग से बदतर, AT & T शुल्क
  74. [107] ^ अधिकारों का बिल र्तमान प्रारूप में है।
  75. [108] ^ मसौदा क्लाउड कम्प्यूटिंग: विधेयक के अधिकार अब उपलब्ध
  76. Johnston, Sam (2008-09-16). "Cloud Computing:Bill of rights". अभिगमन तिथि 2008-09-16. नामालूम प्राचल |coauthors= की उपेक्षा की गयी (|author= सुझावित है) (मदद)
  77. [111] ^ http://autonomo.us/2008/07/franklin-street-statement/
  78. [113] ^ क्लाउड प्लेटफोर्म की सूची, प्रदता और योग्य
  79. [114] ^ रेड हेट चीफ : 'दी क्लाउड विल आल रन लिनक्स'
  80. [115] ^ उबुन्तु 9.04 बीटा आउट, अब ताजे युक्लिप्टस के साथ
  81. [117] ^ क्लाउड और मानक
  82. [118] ^ लोक-इन, सिक्युरिटी लूम एज डार्क साइड ऑफ़ कम्प्यूट क्लाउड
  83. [119] ^ लिनक्स्वर्ल्ड / अगली पीढ़ी डाटा केंद्र में उपस्थित लोग क्लाउड कंप्यूटिंग स्कूल गए


बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]