अखिल भारतीय छात्र परिषद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अखिल भारतीय छात्र परिषद (ए आई एस एफ) या ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन (AISF) भारत का पहला छात्र संघ (संगठन) है।[तथ्य वांछित]

यह छात्रों द्वारा पर 12 -13 अगस्त 1936 में पूरे देश के कॉलेजों से आये हुए छात्रों के एक सम्मेलन में स्थापित किया गया था। सम्मेलन लखनऊ के ऐतिहासिक गंगा प्रसाद मेमोरियल हॉल में हुआ था। संघठन ने भारत की स्वतंत्रता के लिए काम किया। तब संघठन स्वतंत्रता प्रप्ति, शांति, प्रगति, के लिए काम करता था। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद संगठन में अपने लक्ष्यों में शांति, प्रगति और वैज्ञानिक समाजवाद को जोड़ा।

1936 में संगठन के पहले राष्ट्रीय महासचिव बने कॉमरेड पी ऐन भार्गव। जिस समय यह संगठन बना उस समय इस संगठन के अंदर विभिन्न प्रगतिशील दलों के छात्र एक साथ काम करते थे। यह एक स्वतंत्र छात्र संगठन है। जो हमेशा छात्रों की बेहतरी के साथ ही भगत सिंह के सपनो का देश बनाने के लिए संघर्षरत है।इस छात्रसंगठन का अंतर्राष्ट्रीय छात्र संघ से भी है। हाल के दिनों में संगठन ने व्यापक पैमाने से आंदोलन ही चलाएं मसलन अक्यूपाई UGC आन्दोल, जस्टिस फॉर रोहित वेमुला आंदोलन, स्टैंड विद JNU आंदोलन, पटना आर्ट कॉलेज बचाओ आंदोलन।

वर्तमान में संगठन के राष्ट्रीय महासचिव विश्वजीत कुमार और राष्ट्रीय अध्यक्ष वल्ली उल्लाह कादरी हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]