बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (जिसे आम तौर पर संक्षेप में बी.टेक. या बी.टेक. (ऑनर्स) कहा जाता है) एक पूर्वस्नातक अकादमिक डिग्री है जिसे एक मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय या मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय स्तरीय संस्थान में तीन या चार वर्षों के एक अध्ययन कार्यक्रम को पूरा करने के बाद प्रदान किया जाता है। यह डिग्री कॉमनवेल्थ ऑफ नेशंस, आयरलैंड गणराज्य, संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, दक्षिण अफ्रीका, नाइजीरिया और अन्य देशों में प्रदान की जाती है।

आम तौर पर यह डिग्री बैचलर ऑफ साइंस डिग्री कार्यक्रम में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को प्रदान की जाती है जिन्होंने एक लिया है जिसे अतिरिक्त रूप से या तो व्यावसायिक प्लेसमेंट्स (जैसे पर्यवेक्षित प्रैक्टिका या इंटर्नशिप) या अभ्यास आधारित क्लासरूम कार्यक्रमों द्वारा पूरा किया जाता है। इन आवश्यकताओं के कारण इस डिग्री में आम तौर पर कम से कम चार साल का समय लगता है।

कुछ देशों में एक पाठ्यक्रम को पूरा करने के बाद यह डिग्री प्रदान की जाती है जो करियर उन्मुखी होता है जहां सिद्धांत के विपरीत अभ्यास पर जोर दिया जाता है। यहाँ, इसके विपरीत, व्यवसायिक प्लेसमेंट्स और अभ्यास आधारित कार्यक्रमों को इस कार्यक्रम के तहत बहुत ज्यादा महत्व दिया जाता है (सहकारी शिक्षा देखें).

देश के अनुसार[संपादित करें]

ऑस्ट्रेलिया[संपादित करें]

ऑस्ट्रेलिया में, बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी कार्यक्रमों की अवधि तीन से चार साल होती है। ऑनर्स डिग्री, जिसे संक्षेप में बी.टेक. (ऑनर्स) कहा जाता है, चार वर्षीय कार्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा करने वाले स्नातकों को प्रदान की जाती है।

कनाडा[संपादित करें]

कनाडा में, बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्री चार साल के एक कार्यक्रम को पूरा करने के बाद प्रदान की जाती है। कनाडा में कुछ कम्युनिटी कॉलेजों द्वारा प्रदान की जाने वाली बैचलर ऑफ अप्लाइड टेक्नोलॉजी (बी.ए.टेक.) या (बी.ए.टी.) की डिग्री के साथ बी.टेक. की डिग्री को लेकर भ्रमित न होने पर ध्यान दिया जाना चाहिए. कम्युनिटी कॉलेजों का प्रधिनित्व एसोसिएशन ऑफ कैनेडियन कम्युनिटी कॉलेज (एसीसीसी) द्वारा किया जाता है[2] लेकिन इन्हें कैनेडियन इंजीनियरिंग एक्रेडिटेशन बोर्ड (सीईएबी) द्वारा एक गहन समीक्षा के बाद इंजीनियर्स कनाडा द्वारा मान्यता प्रदान किया गया है[1] और अब इन्हें एसोसिएशन ऑफ यूनिवर्सिटीज एण्ड कॉलेज ऑफ कनाडा (एयूसीसी) नामक कनेडियन राष्ट्रीय विश्वविद्यालय मान्यीकरण निकाय द्वारा विश्वविद्यालय स्तरीय संस्थानों के रूप में मान्यीकृत किया जाता है।

भारत[संपादित करें]

भारत में बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्री चार साल के एक कार्यक्रम के पूरा होने के बाद प्रदान की जाती है। बी.टेक. की डिग्री इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, माइनिंग इंजीनियरिंग, एयरोस्पेस इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, बायोटेक्नोलॉजी, केमिकल इंजीनियरिंग, प्रोडक्शन इंजीनियरिंग और टेक्सटाइल इंजीनियरिंग जैसे विभिन्न क्षेत्रों में सरकारी और निजी संस्थानों के साथ-साथ कई अन्य प्रतिष्ठित संस्थानों (सार्वजनिक और निजी वित्तपोषित दोनों तरह के) द्वारा उनके पेशेवर इंजीनियरिंग कार्यक्रमों के लिए प्रदान की जाती है। हालांकि, भारत में ज्यादातर अन्य संस्थान बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (बी.ई.) डिग्री का इस्तेमाल करते हैं।

इज़राइल[संपादित करें]

इज़राइल में बी.टेक. की डिग्री इंजीनियरिंग के क्षेत्र में केवल अकादमिक कॉलेजों द्वारा ही प्रदान की जाती है। बी.टेक. की डिग्री की न्यूनतम अवधि आठ सेमेस्टर और 160 क्रेडिट घंटे है।[3] न्यूनतम पांच सेमेस्टरों और 100 क्रेडिट घंटों वाले पूरक अध्ययनों को पूरा करके बी.टेक. की डिग्री के लिए प्रैक्टिकल इंजीनियरिंग सर्टिफिकेट से अपग्रेड होने वाले विद्यार्थियों को भी यह डिग्री प्रदान की जाती है। [4] इस पाठ्यक्रम के महत्व को इस बात से ही आंका जा सकता है कि जीडीएस इसका अनुसरण कर रहा है।

केन्या[संपादित करें]

केन्या में, बी.टेक. की डिग्री मोई यूनिवर्सिटी द्वारा प्रदान की जाती है और इसे पूरा करने में पांच साल लगते हैं। विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान किए जाने वाले क्षेत्रों में केमिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, टेक्सटाइल इंजीनियरिंग और प्रोडक्शन इंजीनियरिंग शामिल हैं।

नाइजीरिया[संपादित करें]

नाइजीरिया में, बी.टेक. की डिग्री संघीय, राज्यीय या निजी स्वामित्व वाले प्रौद्योगिकी या विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालयों द्वारा प्रदान की जाती है।अध्ययन की अवधि आम तौर पर पांच साल है जिसे दस सेमेस्टरों में पूरा किया जाता है।इनमें से नौ सेमेस्टरों को विश्वविद्यालय में बिताया जाता है जबकि एक (आम तौर पर चौथे साल का दूसरा सेमेस्टर) सेमेस्टर को अनिवार्य औद्योगिक प्रशिक्षण (आईटी) में बिताया जाता है जिसकी समयावधि तीन से छः महीने होती है हालांकि कृषि संबंधित पाठ्यक्रमों के छात्रों के लिए एक सम्पूर्ण सत्र (आम तौर पर सम्पूर्ण चौथे वर्ष) के लिए इसका विस्तार किया जा सकता है। आरम्भ में ज्यादातर विश्वविद्यालय मूल विज्ञान पाठ्यक्रमों की पेशकश करते थे लेकिन अब उन्होंने अपने पाठ्यक्रम पेशकश में विस्तार करके उसमें सोशल साइंस और मेडिसिन को भी शामिल कर लिया गया है।नाइजीरिया में पांच संघीय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय हैं जो मिन्ना, अकुरे, ओवेर्री, योला और बाउची में स्थित हैं और साथ में कुछ राज्यीय और निजी स्वामित्व वाले विश्वविद्यालय देश भर में स्थित हैं। .

पाकिस्तान[संपादित करें]

पाकिस्तान में: बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (ऑनर्स) डिग्री एक चार वर्षीय पूर्वस्नातक डिग्री कार्यक्रम है जिसमें दो-दो साल का क्षेत्र प्रशिक्षण और पाठ्यक्रम समापन शामिल है। इस कार्यक्रम की एक शर्त विशिष्ट क्षेत्रों में एक तीन वर्षीय डिप्लोमा ऑफ एसोसिएट इंजीनियर है जैसे इलेक्ट्रिकल, मेकैनिकल या सिविल इंजीनियरिंग इत्यादि या एफ.एससी. प्री-इंजीनियरिंग के बाद. एचईसी मान्यीकृत विश्विद्यालयों द्वारा प्रदान की जाने वाली बी.टेक. ऑनर्स की चार वर्षीय डिग्री को पाकिस्तान में अन्य संस्थानों/विश्वविद्यालयों की बी.एससी. इंजीनियरिंग के बराबर और अनुरूप माना जाता है (कृपया 25 नवंबर 1981 को आयोजित, वर्तमान एचईसी हाइयर एडुकेशन कमीशन ऑफ पाकिस्तान, पूर्व यूजीसी की इक्विवैलेंस कमिटी की दसवीं बैठक के कार्यवृत्त को देखें). इसके अतिरिक्त बी.टेक. ऑनर्स और बी.एससी. इंजीनियरिंग डिग्री की समानता के बारे में विवरणों वाले 91 में से 68वें पृष्ठ पर आइटम नं. 9/10 भी देखें.[5] पाकिस्तान इंजीनियरिंग काउंसिल अधिनियम 1976 के मजलिस-ए-शूरा (संसद) संशोधन के अनुसार पाकिस्त्तान इंजीनियरिंग काउंसिल बी.टेक. डिग्री धारकों को पंजीकृत इंजीनियरों के रूप में मान्यीकृत और पंजीकृत करते रहेंगे.

दक्षिण अफ्रीका[संपादित करें]

दक्षिण अफ्रीका में, इस डिग्री को प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालयों और व्यापक विश्वविद्यालयों (पारंपरिक विश्वविद्यालयों से अलग) द्वारा प्रदान किया जाता है और इसे अक्सर उन क्षेत्रों में प्रदान किया जाता है जहां कोई तदनुरूपी बी.एससी. नहीं होती है। दक्षिण अफ्रीका की राष्ट्रीय योग्यता रूपरेखा की दृष्टि से बी.एससी. की तरह बी.टेक. में भी अक्सर एक समान अंक परिमाण होने के बावजूद बी.टेक. प्राप्त करने पर भी आम तौर पर तदनुरूपी एम.एससी. कार्यक्रम में प्रवेश नहीं मिलता है; इसके बजाय छात्र मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी (एम.टेक.) और डॉक्टर ऑफ टेक्नोलॉजी (डी.टेक.) डिग्रियों का अनुसरण करते हैं।

श्रीलंका[संपादित करें]

श्रीलंका में ओपन यूनिवर्सिटी ऑफ श्रीलंका (1980 के बाद से) बी.टेक. की पेशकश में अग्रणी है जिसकी अवधि कम से कम पांच वर्ष है।पूर्वस्नातक सिविल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, मैनुफैक्चरिंग इंजीनियरिंग, मेकैट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग और टेक्सटाइल एण्ड अप्लाइड टेक्नोलॉजी में विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं।

बी.टेक. इंजीनियरिंग हाल ही में स्थापित उवा वेलासा यूनिवर्सिटी द्वारा भी प्रदान की जाती है जिसकी अवधि चार वर्ष है। इसे एक विशेषज्ञता वाली डिग्री के रूप में जाना जाता है जहां उन्हें तीन क्षेत्रों फ़ूड इंजीनियरिंग एण्ड बायोप्रोसेस टेक्नोलॉजी, मैटेरियल साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी और मेकैट्रॉनिक्स में विशेषज्ञता प्राप्त करना होता है।

श्रीलंका में बी.टेक. को इन्फॉर्मेशन कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी, बिल्डिंग सर्विसेस टेक्नोलॉजी, मैनुफैक्चरिंग टेक्नोलॉजी और मेकैट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी जैसे क्षेत्रों में यूनिवर्सिटी ऑफ वोकेशनल टेक्नोलॉजी द्वारा भी प्रदान किया जाता है।

युनाइटेड किंगडम[संपादित करें]

यूनाइटेड किंगडम में अब यह डिग्री प्रदान नहीं की जाती है। ऐसे कार्यक्रमों को ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों को आम तौर पर बैचलर ऑफ साइंस (बी.एससी.) की डिग्री से सम्मानित किया जाता है। यूनाइटेड किंगडम की बिजनेस एण्ड टेक्नीकल एडुकेशन काउंसिल (बीटीईसी) पदनाम के साथ बी.टेक. की डिग्री को लेकर भ्रमित न होने पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए जो कि एक यूनिवर्सिटी डिग्री नहीं है। बीटीईसी के कार्यों को अब इडेक्सेल ने पीछे छोड़ दिया है।

संयुक्त राज्य अमेरिका[संपादित करें]

संयुक्त राज्य अमेरिका में, बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्री को एक चार वर्षीय कार्यक्रम के पूरा होने के बाद प्रदान किया जाता है। इस डिग्री को प्रदान करने वाले कई कॉलेज और विश्वविद्यालय अलास्का (आईएनडीएस), फ्लोरिडा, न्यूयॉर्क (न्यूयॉर्क सिटी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी, स्टेट यूनिवर्सिटी कॉलेज एट बफेलो, सुनी मॉरिसविल), इलिनोइस (शिकागो), मिसौरी (नॉर्थवेस्ट मिसौरी स्टेट यूनिवर्सिटी), नेवादा, दक्षिण कैरोलिना, ओकलाहोमा और वर्जीनिया जैसे राज्यों में स्थित हैं। उदहारण के लिए वर्जीनिया में स्थित वर्ल्ड कॉलेज बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्रियां प्रदान करता है।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. [1] "गैर-विश्वविद्यालयों को सीईएबी से इंजीनियरिंग की मान्यता प्राप्त होती है:"]