इलख़ानी साम्राज्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अपने चरम पर इलख़ानी साम्राज्य

इलख़ानी साम्राज्य या इलख़ानी सिलसिला (फ़ारसी: سلسله ایلخانی, सिलसिला-ए-इलख़ानी; मंगोल: Хүлэгийн улс, हुलेगु-इन उल्स; अंग्रेज़ी: Ilkhanate) एक मंगोल ख़ानत थी जो १३वीं सदी में ईरान और अज़रबेजान में शुरू हुई थी और जिसे इतिहासकार मंगोल साम्राज्य का हिस्सा मानते हैं। इसकी स्थापना चंगेज़ ख़ान के पोते हलाकु ख़ान ने की थी और इसके चरम पर इसमें ईरान, ईराक़, अफ़्ग़ानिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, आर्मीनिया, अज़रबेजान, तुर्की, जोर्जिया और पश्चिमी पाकिस्तान शामिल थे। इलख़ानी बहुत से धर्मों के प्रति सहानुभूति रखते थे लेकिन इनमें बौद्ध धर्म और ईसाई धर्म को विशेष स्वीकृति हासिल थी।[1] इलख़ानी सिलसिले में महमूद ग़ाज़ान ने १२९५ में इस्लाम अपनाया और उसके बाद के शासकों ने शिया इस्लाम को बढ़ावा दिया। इलख़ानी साम्राज्य सन् १२५६ से १३३५ तक चला।[2][3]

नाम की उत्पत्ति और उच्चारण[संपादित करें]

मंगोल भाषा में 'इल-ख़ान' का मतलब था 'सर्वोच्च ख़ान के अधीन वाला ख़ान' और इस साम्राज्य के शुरू में इसे महान मंगोल साम्राज्य के अधीन एक हिस्सा माना जाता था।[4] 'इलख़ान' में 'ख़' अक्षर के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह बिना बिन्दु वाले 'ख' से ज़रा भिन्न है। इसका उच्चारण 'ख़राब' और 'ख़रीद' के 'ख़' से मिलता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Storm from the East: from Ghengis Khan to Khubilai Khan, Robert Marshall, University of California Press, 1993, ISBN 978-0-520-08300-4, ... Although some of the Ilkhans showed distinct leanings towards either Buddhism or Christianity, in the main they were fairly impartial - that is until the reign of Ghazan the 'Reformer', who became Ilkhan in 1295 ...
  2. Medieval Persia, 1040-1797, David Morgan, Longman, 1988, ISBN 978-0-582-49324-7
  3. Columbia chronologies of Asian history and culture, John Stewart Bowman, Columbia University Press, 2000, ISBN 978-0-231-11004-4, ... 1295: Ghazan becomes Ilkhan. He declares Islam the official religion, orders all Buddhist buildings to be destroyed, and exiles all Buddhist monks ...
  4. Historical dictionary of Mongolia, Alan J. K. Sanders, Scarecrow Press, 2010, ISBN 978-0-8108-6191-6, ... Hülegü declared himself ruler of Iran and the first Ilkhan (subordinate khan) in 1263 ...