अक्षय कुमार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अक्षय कुमार
AkshayKumar.jpg
जन्म नाम राजीव हरी ओम भाटिया
जन्म 9 सितम्बर 1967 (1967-09-09) (आयु 46)
अमृतसर, भारत
व्यवसाय फिल्म अभिनेता
कार्यकाल १९९१ – वर्तमान
जीवनसाथी ट्विंकल खन्ना (२००१ – वर्तमान)

अक्षय कुमार (पंजाबी: ਅਕਸ਼ੈ ਕੁਮਾਰ, जन्म: राजीव हरी ओम भाटिया, ९ सितम्बर, १९६७) एक भारतीय बॉलीवुड फ़िल्म अभिनेता हैं। वे 100 से अधिक हिन्दी फिल्मों में काम कर चुके हैं।

90 के दशक में,[1] हिट एक्शन फिल्मों जैसे खिलाडी (१९९२), मोहरा (१९९४) और सबसे बड़ा खिलाड़ी (१९९५) में अभिनय करने के कारण, कुमार को बॉलीवुड का एक्शन हीरो की संज्ञा दी जाती थी, और विशेषतः वे "खिलाड़ी श्रृंखला" के लिए जाने जाते थे.फिर भी, वह रोमांटिक फिल्मों जैसे ये दिल्लगी (१९९४) और धड़कन (२०००) में अपने अभिनय के लिए सम्मानित किए गए और साथ ही साथ ड्रामेटिक फिल्मों जैसे एक रिश्ता (२००१) में अपनी अभिनय क्षमता को दिखाया। २००२ में वे अपना पहला फ़िल्मफेयर पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ खलनायक के रूप में फ़िल्म अजनबी ( 2001 ) में अपने अभिनय के लिए. अपनी एक सी इमेज को बदलने के इच्छुक अक्षय कुमार ने ज्यादातर कोमेडी फिल्में की।[1]फ़िल्म हेरा फेरी (2002), मुझसे शादी करोगी (2004), गरम मसाला (2005) और जान-ए-मन (२००६) में हास्य अभिनय के लिए फ़िल्म समीक्षकों द्वारा उनकी प्रशंसा की गई. 2007 में वे सफलता की उचाईयों को चुने लगे, जब उनके द्वारा अभिनीत चार लगातार कामर्सियल फिल्में हिट हुई.इस तरह से, वे अपने आपको हिन्दी फ़िल्म उद्योग में एक प्रमुख अभिनेता के रूप में स्थापित किया.[2]

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

राजीव हरी ओम भाटिया का जन्म अमृतसर के एक मध्यम वर्गीय पंजाबी परिवार में हुआ।[3] उसके पिता एक सरकारी कर्मचारी थे .बहुत ही चोटी उम्र से ही, वे एक कलाकार के रूप में जाने गए, विशेषतः एक डांसर के रूप में. मुंबई आने से पहले, कुमार दिल्ली के चाँदनी चोक में एक पड़ोसी के घर पले बढे.[4]मुंबई में, वे कोलीवाडा में रहते थे जो एक पंजाबी बहुल क्षेत्र था.[4]वे डोन बोस्को विद्यालय में पढाई किए और फ़िर खालसा कोलेज में, जहाँ वे खेल में अपनी रूचि दिखाई.[4]

वे मार्शल आर्ट्स (martial arts) की शिक्षा बेंगकोक में प्राप्त किया और वहां एक शेफ (Chef) की नौकरी भी करते थे. वे फ़िर मुंबई वापस आ गए, जहाँ वे मार्सल आर्ट्स की शिक्षा देने लगे.उनका एक विद्यार्थी जो एक फोटोग्राफर था और उन्हें मोडलिंग करने कहा.उस विद्यार्थी ने उन्हें एक चोटी कंपनी में एक मोडलिंग असयांमेंट दिया.उन्हें केमरे के सामने पोज देने के लिए, दो घंटे के 5,000 रुपये मिलते थे, पहले की सेलरी 4000 रुपये प्रति महीने की तुलना में.यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारण था कि वे क्यों मोडल बने.मोडलिंग करने के दो महीने बाद, कुमार को प्रमोद चक्रवर्ती ने अंततः अपनी फ़िल्म दीदार में अभिनय करने का मौका दिया.[4]

कैरियर[संपादित करें]

कुमार बोलीवुड में अभिनय की शुरुवात 1991 की फ़िल्म सौगंध (Saugandh) से की, जो सराहा नही गया.उनकी पहली प्रमुख हिट 1992 की थ्रिलर फ़िल्म खिलाड़ी (Khiladi) थी. 1993 का वर्ष उनके लिए अच्छा नही रहा क्योंकि उनकी अधिकतर फ़िल्म फ्लॉप हो गई.फ़िर भी, 1994 का वर्ष कुमार के लिए बेहतरीन वर्ष रहा जिसमें खिलाड़ी के साथ मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी (Main Khiladi Tu Anari) और मोहरा (Mohra) जो साल का सार्वाधिक सफल फिल्मों में से था.[5]बाद में, यश चोपडा ने उन्हें रोमांटिक फ़िल्म ये दिल्लगी (Yeh Dillagi) में लिया जो एक सफल फ़िल्म थी.[5]उन्हें इस फ़िल्म के लिए सराहना मिली, जिसमें वे एक रोमांटिक किरदार में थे जो बहुत ही अलग था उनके एक्सन किरदार से.उन्हें फ़िल्मफेयर और स्टार स्क्रीन उत्सवों में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए पहला नोमिनेशन मिला.ये सारी उपलब्धियां, कुमार को उस साल का सफलतम अभिनेता बना दिया.[6]

1995 में, अपनी सफल फिल्मों के साथ, वे खिलाड़ी श्रेणी के तीसरी फ़िल्म सबसे बड़ा खिलाड़ी (Sabse Bada Khiladi) में अभिनय किया, जो एक हिट थी.[7]वे खिलाड़ी श्रेणी के सभी फिल्मों में सफल रहे, और फ़िर बाद के वर्ष में खिलाड़ी टायटल के साथ फ़िल्म खिलाड़ियों के खिलाड़ी (Khiladiyon Ka Khiladi) में अभिनय किया जिसमें उनके साथ रेखा और रवीना टंडन (Raveena Tandon) थी.यह फ़िल्म उस साल का सर्वाधिक सफल फ़िल्म रही.[8]

1997 में, यश चोपडा की हिट फ़िल्म दिल तो पागल है (Dil To Pagal Hai) में मेहमान कलाकार की भूमिका निभाई, जिसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक कलाकार के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार में नामांकन हुआ.उसी साल, वे खिलाड़ी श्रेणी के पांचवें फ़िल्म मिस्टर एंड मिसेस खिलाड़ी (Mr and Mrs Khiladi) में हास्य भूमिका में नजर आए.खिलाड़ी टायटल के साथ उनकी पिछली फिल्मों की तरह, यह फ़िल्म हिट हुई.[9]और इस तरह इस फ़िल्म की तरह, उनका अगला खिलाड़ी नाम से रिलीज सारी फिल्में आने वाले साल में बॉक्स ऑफिस पर हिट होते चला गया. 1999 में, कुमार को फ़िल्म संघर्ष (Sangharsh) और जानवर (Jaanwar) में उनके किरदार के लिए अच्छी सराहना मिली.जबकि पहली फिल्में बॉक्स ऑफिस पर सफल हौ सकी, पर बाद में उन्हें सफलता मिली.[10]

2000 में कोमेडी फ़िल्म हेरा फेरी (Hera Pheri) (2000)में अभिनय किया जो हर लिहाज से सफल रही,[11] और इस फ़िल्म में उन्होंने अपने आपको एक एक्शन और रोमांटिक भूमिकाओं की तरह एक सफल कोमेडी रोल भी अच्छी तरह निभाया.उन्होंने रोमांटिक फ़िल्म धड़कन (Dhadkan) में भी काम किया और बाद में उसी साल उसे काफ़ी सफलता मिली.[11]2001 में, फ़िल्म अजनबी (Ajnabee) में कुमार ने एक नकारात्मक किरदार निभाया. उनकी फ़िल्म को काफी सराहा गया तथा बेस्ट विलेन (Best Villain) के लिए पहला फ़िल्मफेयर पुरस्कार मिला.

हेरा फेरी की सफलता के बाद अक्षय कुमार ने कई कोमेडी फिल्मों में काम किया, जिनमें शामिल हैं आवारा पागल दीवाना (Awara Paagal Deewana) (2000), मुझसे शादी करोगी (Mujhse Shaadi Karogi) (2004) और गरम मसाला (Garam Masala) (2005).यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस पर बेहद सफल रही और उनके अभिनय के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ हास्य कलाकार (Best Comedian) का दूसरा फिल्मफेयर पुरस्कार मिला.[12][13]

अपनी एक्शन, कोमेडी और रोमांटिक भूमिकाओं के अलावा कुमार ने ड्रामाई रोल भी बखूबी निभाये जैसे कि एक रिश्ता (Ek Rishtaa) (2001), आँखें (Aankhen) (2002), बेवफा (Bewafaa) (2005) और Waqt: The Race Against Time (2005).

२००६ में वे हेरा फेरी टायटल से बनी दूसरी फ़िल्म फ़िर हेरा फेरी (Phir Hera Pheri) में अभिनय किया. पिछले फ़िल्म की तरह, यह फ़िल्म बॉक्स ऑफिस में सफल हुई.[14]बाद में उसी वर्ष सलमान खान के साथ रोमांटिक संगीत फ़िल्म जान-ए-मन (Jaan-E-Mann) में अभिनय किया. इस फ़िल्म का बेसब्री से इंतजार था और आलोचकों से अच्छा रिव्यू मिलने के बावजूद यह बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सका.[14]फ़िल्म तो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकी परन्तु एक शर्मीले और प्यारे व्यक्ति के रूप में उनकी तारीफ़ की गई.[15]वे यह वर्ष हास्य फ़िल्म भागम भाग (Bhagam Bhag) से समाप्त किए, जो सफल रही.[14] उसी साल, गर्म 2006 विश्व भ्रमण किया जिसमें सैफ अली खान, प्रीति जिंटा, सुष्मिता सेन और सेलिना जेटली (Celina Jaitley) साथ थे.[16]

वर्ष 2007 अक्षय कुमार के लिए उनके कैरियर का इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा सफल वर्ष रहा और बॉक्स ऑफिस के विश्लेषकों ने "शायद एक अभिनेता के लिए चार सीधे हित और बिना किसी फ्लॉप के शानदार वर्ष रहा.[2] उनकी पहली रिलीज, नमस्ते लन्दन (Namastey London), आलोचनात्मक दृष्टि व कामर्सियल दृष्टि से सफल रही.आलोचक तरन आदर्श (Taran Adarsh) ने फ़िल्म में उनके प्रदर्शन के बारे लिखा कि वे निश्चित रूप से फ़िल्म देखने लाखों दर्शकों का मन अपनी इस फ़िल्म के जरिये लेंगे."[17] उनकी दो अगली रिलीज हे बेबी (Heyy Babyy) और भूल भुलैया (Bhool Bhulaiyaa) दोनों बॉक्स ऑफिस पर सुपर हिट हुई.[18][19] वर्ष का कुमार के लिए आखिरी रिलीज वेलकम (Welcome) थी जो बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन किया, ब्लोकबस्टर का अवसर मिला तथा साथ में वे पांचवीं लगातार हिट फ़िल्म देने वाले हीरो बन गए.[20]उस वर्ष कुमार की जितनी भी फिल्में रिलीज हुई वह विदेशी बाजार में भी अच्छा किया.[21]

निजी जीवन[संपादित करें]

बोलीवुड में रहने के दौरान, कुमार को अपने साथ काम करने वाली कई अभिनेत्रियों के साथ जोड़ा गया जैसे रवीना टंडन (Raveena Tandon), रेखा और शिल्पा शेट्ठी (Shilpa Shetty). जाने माने कलाकार राजेश खन्ना और डिम्पल कपाडिया (Dimple Kapadia) की बेटी ट्विंकल खन्ना (Twinkle Khanna) से दो बार इंगेज होने के बाद अंत में उन्होंने 14 जनवरी, 2001 में शादी कर ली. उनके बेटे का नाम आरव है जो १५ सितम्बर (September 15), २००२ में जन्म लिया.

वर्ष 2007 में, मुंबई के एक जाने माने टेबलोयद समाचार पात्र ने एक ख़बर छापी कि उनकी पत्नी उन्हें छोड़ कर चली गई है और वे घर से बाहर निकल गायें हैं व एक होटल में रह रहे हैं.[22] 26 जुलाई (July 26), 2007 को पति पत्नी ने टेबलोयद को एक कानूनी नोटिस भेजा, जिसमें यह बताया गया कि यह अपवाह झूटी थी.कुमार ने कहा:

पुरस्कार और नामांकन[संपादित करें]

फ़िल्मोग्राफी[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]