2014 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
2014 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन
2014 BRICS summit

2014 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के नेतागण
मेजबान ब्राज़ील ब्राज़ील
तिथि 15-16 जुलाई 2014
आयोजन स्थल फोर्टालेज़ा और ब्रासीलिया
शहर फोर्टलेज़ा और ब्रासीलिया
भागीदार ब्राज़ील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका
अनुसरण 2013 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन
पूर्ववर्ती 2015 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन

2014 ब्रिक्स शिखर सम्मेलन (छठा ब्रिक्स शिखर सम्मेलन) 15-16 जुलाई 2014 को ब्राज़ील के फोर्टालेज़ा और ब्रासीलिया में आयोजित किया गया था।[1] इस शिखर सम्मेलन का मुख्य विषय रहा- ”समावेशी वृद्धि, सतत विकास”।

अध्यक्षता[संपादित करें]

इस सम्मेलन की अध्यक्षता दक्षिण अफ्रीका ने की। अगला अध्यक्ष ब्राज़ील को बनाया गया।[2]


प्रतिभागी[संपादित करें]

निम्न पाँच देशों के राष्ट्र प्रमुखों/सरकार प्रमुखों ने इस शिखर सम्मेलन में भाग लिया।


प्रमुख निर्णय[संपादित करें]

नए विकास बैंक की स्थापना[संपादित करें]

2014 ब्रिक्स सम्मेलन के एक अति महत्त्वपूर्ण निर्णय में 100 अरब डॉलर की शुरुआती अधिकृत पूंजी के साथ नए विकास बैंक की स्थापना का फैसला किया गया।[3]

फिलहाल मीडिया में इस बैंक को ब्रिक्स बैंक का अनौपचारिक नाम दिया जा रहा है।[4] माना जा रहा है कि इस बैंक और फंड को पश्चिमी देशों के वर्चस्व वाले विश्व बैंक और आईएमएफ जैसी संस्थाओं के टक्कर में खड़ा किया जा रहा है। इस बैंक का प्रमुख उद्देश्य होंगे- किसी देश शॉर्ट-टर्म लिक्विडिटी समस्याओं को दूर करना, ब्रिक्स देशों के बीच सहयोग बढ़ाना, वैश्विक फाइनैंशल सेफ्टी नेट को मजबूत करना आदि।

बैंक का मुख्यालय चीन के शंघाई में होगा तथा बैंक का प्रथम अध्यक्ष भारत से होगा। हर सदस्य देश को पाँच साल तक अध्यक्षता करने का अवसर मिलेगा।

कंटिंजेंट रिज़र्व अरेंजमेंट[संपादित करें]

ब्रिक्स कंटिंजेंट रिज़र्व अरेंजमेंट नाम से 100 अरब अमरीकी डॉलर के एक कोष की स्थापना की गई जिसे अल्पकालिक नकदी समस्याओं से बचने के लिए बनाया गया है।[5] यह समझौता एक ऐसी रूपरेखा प्रस्तुत करेगा जिसमें नकदी के आदान-प्रदान का प्रावधान होगा। इसके जरिये अल्पकालिक अदायगी दबाव संतुलन की स्थिति से निपटा जा सकेगा।[6]

उर्जा कोष का सुझाव[संपादित करें]

रूस द्वारा भविष्य की उर्जा आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए संयुक्त उर्जा कोष बनाने का सुझाव दिया गया जिस पर भविष्य में काम किया जाएगा।[7]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

छठा ब्रिक्‍स शिखर सम्‍मेलन - फोर्टलेजा घोषणा

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "छठे ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के लिए ब्राजील यात्रा पर रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री का बयान". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 13 जुलाई 2014. मूल से 15 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 14 जुलाई 2014.
  2. "प्रेस वि‍ज्ञप्‍तिब्रिक्स शिखर सम्मेलन, फोर्तालेजा, ब्राजील में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रारम्भिक उद्गार". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 16 जुलाई 2014. मूल से 26 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 जुलाई 2014.
  3. "ब्रिक्स बनाएगा बैंक, भारत से होगा पहला प्रेजिडेंट". नवभारत टाईम्स. 16 जुलाई 2014. मूल से 12 अगस्त 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 16 जुलाई 2014.
  4. http://www.dw.de/%E0%A4%B6%E0%A4%82%E0%A4%98%E0%A4%BE%E0%A4%88-%E0%A4%AE%E0%A5%87%E0%A4%82-%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BF%E0%A4%95%E0%A5%8D%E0%A4%B8-%E0%A4%AC%E0%A5%88%E0%A4%82%E0%A4%95-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%AE%E0%A5%81%E0%A4%96%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE%E0%A4%B2%E0%A4%AF/a-17785385?maca=hin-RSS_hin_Flipboard-11985-xml-media Archived 26 जुलाई 2014 at the वेबैक मशीन. शंघाई में ब्रिक्स बैंक का मुख्यालय-www.dw.de
  5. "छठा ब्रिक्‍स शिखर सम्‍मेलन - फोर्टलेजा घोषणा". पत्र सूचना कार्यालय, भारत सरकार. 16 जुलाई 2014. मूल से 26 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 जुलाई 2014.
  6. "BRICS Contingent Reserve Arrangement operational: Arun Jaitley". The Economic Times. अभिगमन तिथि 2020-11-13.
  7. "ब्रिक्स". Drishti IAS (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-11-13.