2002 की गुजरात हिंसा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
2002 गुजरात हिंसा
Ahmedabad riots1.jpg
फ़रवरी और मार्च 2002 में घरों और दुकानों को सांप्रदायिक भीड़ूँ की लगाई आग के धुओं से भरा अहमदाबाद का आसमान
तिथी 27 फ़रवरी 2002 (2002-02-27)
Mid-June 2002
जगह गुजरात, भारत
कारण गोधरा ट्रेन हमला
आहत
790 मुस्लिम[1][2][3] 254 हिंदू[1][4][5]

2002 की गुजरात हिंसा,जिसे 2002 के गुजरात हिंसा या गुजरात पोग्रोम के रूप में भी जाना जाता है, पश्चिमी भारतीय राज्य गुजरात में तीन दिनों की अंतर-सांप्रदायिक हिंसा थी। प्रारंभिक घटना के बाद, अहमदाबाद में तीन महीने तक हिंसा का प्रकोप रहा; राज्यव्यापी, अगले वर्ष के लिए अल्पसंख्यक मुस्लिम आबादी के खिलाफ हिंसा का अधिक प्रकोप था। 27 फरवरी 2002 को गोधरा में एक ट्रेन को मुस्लिम समुदाय के लोगों द्वारा जलाने से 58 हिन्दू कारसेवकों की मौत हो गई थी जो अयोध्या से लौट रहे थे।[6][7][8][9] इससे गुजरात में मुसलमानों के ख़िलाफ़ एकतरफ़ा हिंसा का माहौल बन गया। इसमें लगभग 790 मुसलमानों एवं 254 हिन्दुओं की बेरहमी से हत्या की गई या ज़िन्दा जला दिया गया था। [2]

उस समय गुजरात के मुख्यमंत्री, नरेन्द्र मोदी पर हिंसा को शुरू करने और निंदा करने का आरोप लगाया गया था, क्योंकि पुलिस और सरकारी अधिकारी थे जिन्होंने कथित रूप से दंगाइयों को निर्देशित किया था और उन्हें मुस्लिम-स्वामित्व वाली संपत्तियों की सूची दी थी।[3] हालांकि भारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा 2014 के आम चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट दे दी गई थी।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Setalvad, Teesta. "Talk by Teesta Setalvad at Ramjas college (March 2017)". www.youtube.com. You tube. अभिगमन तिथि 4 July 2017.
  2. Jaffrelot, Christophe (July 2003). "Communal Riots in Gujarat: The State at Risk?" (PDF). Heidelberg Papers in South Asian and Comparative Politics: 16. अभिगमन तिथि 5 November 2013.
  3. The Ethics of Terrorism: Innovative Approaches from an International Perspective. Charles C Thomas Publisher. 2009. पृ॰ 28. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780398079956.
  4. Jaffrelot, Christophe (July 2003). "Communal Riots in Gujarat: The State at Risk?" (PDF). Heidelberg Papers in South Asian and Comparative Politics: 16. अभिगमन तिथि 5 November 2013.
  5. The Ethics of Terrorism: Innovative Approaches from an International Perspective. Charles C Thomas Publisher. 2009. पृ॰ 28. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780398079956.
  6. India Godhra train blaze verdict: 31 convicted बीबीसी न्यूज़, 22 फ़रवरी 2011.
  7. [1] The Hindu — March 6, 2011[मृत कड़ियाँ]
  8. The Godhra conspiracy as Justice Nanavati saw it द टाइम्स ऑफ़ इण्डिया, 28 सितम्बर 2008. Archived 21 फ़रवरी 2012.
  9. Godhra case: 31 guilty; court confirms conspiracy rediff.com, 22 फ़रवरी 2011 19:26 IST. Sheela Bhatt, Ahmedabad.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]