हिंदचीन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
हिंदचिनी महासंघ
Fédération indochinoise
फ़्रांसिसी उपनिवेशों का संघ
1887–1954
ध्वज हिंदचीन के गवर्नर-जनरल का कुल चिह्न
राष्ट्रीय गान
"La Marseillaise"
हरा: फ़्रांसिसी हिंदचीन
गहरा धूसर: अन्य फ़्रांसिसी क्षेत्र
काला धूसर
: फ़्रांस
राजधानी
* साइगॉन (1887–1902) * हनोई (1902–39) * दा लात (1939–45) * Hanoi (1945–54)
भाषाएँ फ़्रांसिसी (आधिकारिक)
धर्म
शासन Federation of French colonial possessions
गवर्नर-जनरल List of Governors-General
ऐतिहासिक युग New Imperialism
 -  स्थापित 17 अक्तूबर 1887
 -  लाओस का जुड़ना 3 अक्तूबर 1893
 -  क्वांगचाउ वान का जुड़ना 5 जनवरी 1900
 -  उत्तरी वियतनाम की स्वतंत्रता (घोषित) 2 सितंबर 1945
 -  लाओस की स्वतंत्रता 22 अक्तूबर 1953
 -  दक्षिण वियतनाम की स्वतंत्रता 21 जुलाई 1954
क्षेत्रफल
 -  1935 7,37,000 किमी ² (2,84,557 वर्ग मील)
जनसंख्या
 -  1935 est. 2,15,99,582 
     


घनत्व

29.3 /किमी ²  (75.9 /वर्ग मील)
पूर्ववर्ती
अनुगामी
कोचीनचीन
न्गुयेन राजवंश
कम्बोडिया का फ़्रांसिसी संरक्षित राज्य
लुआंग फ्राबांग साम्राज्य
चम्पासक साम्राज्य
रत्तनकोसिन साम्राज्य
चिंग राजवंश
उत्तर वियतनाम
वियतनाम राज्य
कम्बोडिया साम्राज्य (1953–70)
लाओस साम्राज्य
चीन गणराज्य
आज इन देशों का हिस्सा है:
Warning: Value specified for "continent" does not comply
फ्रेंच हिन्दचीन का प्रसार
फ्रेंच हिन्दचीन के उपविभाग

हिंदचीन ([[अंग्रेजी: French Indochina ; फ़्रांसिसी: Indochine française; ख्मेर: សហភាពឥណ្ឌូចិន, वियतनामी : Đông Dương thuộc Pháp), फ्रांस के उपनिवेशों का समूह का नाम था। इसका आधिकारिक नाम था हिंदचिनी संघ (फ़्रांसिसी: Fédération indochinoise)

१८८७ में वियतनाम के तीन क्षेत्रों (उत्तर में तोंकिन, बीच में अन्नाम और दक्षिण में कोचीनचीन) को कम्बोडिया के साठ जोड़ दिया गया। १८९३ में लाओस और १८९८ में क्वांगचाउ वान को जोड़ा गया। १९०२ तक इसकी राजधानी साइगॉन थी, फिर १९३९ तक हनोई, और १९४५ तक दा लात। उसके बाद इसकी राजधानी फिर से साइगॉन हो गई।

द्वितीय विश्वयुद्ध में फ़्रांस के हार के बाद, इसका प्रशासन विशी सरकार द्वारा किया गया, और मार्च १९४५ तक यह जापानी कब्ज़े में था। १९४१ से वियत मिन्ह नामक साम्यवादी सेना ने हो ची मिन्ह के नेतृत्व जापानियों के ख़िलाफ़ विद्रोह शुरू किया। अगस्त १९४५ में उन्होंने स्वतंत्रता की घोषणा की और फ़्रांस के ख़िलाफ़ युद्ध जारी रखा, हो प्रथम हिंदचीन युद्ध बना।

साइगॉन में साम्यवादी-विरोधी वियतनाम राज्य को १९४९ में स्वतंत्रता प्रदान किया गया, जिसके राजा बाओ दाई थे। ९ नवंबर १९५३ को लाओस साम्राज्य और कम्बोडिया साम्राज्य स्वतंत्र हुए। १९५४ के जिनेवा सम्मलेन के बाद फ़्रांसिसी वियतनाम से निकल गए और फ़्रांसिसी हिंदचीन का अंत हो गया।