सेल्युकस प्रथम निकेटर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सेल्युकस प्रथम निकेटर
Seleuco I Nicatore.JPG
A Roman copy of a Greek statue of Seleucus I found in Herculaneum. Now located at the Naples National Archaeological Museum.
Basileus of the Seleucid Empire
शासनावधि305[1] – September 281 BC
पूर्ववर्तीAlexander IV of Macedon
उत्तरवर्तीAntiochus I Soter
जन्मc. 358 BC
Europos, Macedon
निधनSeptember 281 BC (aged c. 77)
Thrace
जीवनसंगी
संतान
DynastySeleucid dynasty
पिताAntiochus
माताLaodice
धर्मGreek polytheism

सेल्युकस एक्सजाइट निकेटर एलेग्जेंडर (सिकन्दर) के सबसे योग्य सेनापतियों में से एक था जो उसकी मृत्यु के बाद भारत के विजित क्षेत्रों पर उसका उत्तराधिकारी बना। वह सिकन्दर द्वारा जीता हुआ भू-भाग प्राप्त करने के लिए उत्सुक था। इस उद्देश्य से ३०५ ई. पू. उसने भारत पर पुनः चढ़ाई की। सम्राट चन्द्रगुप्त ने पश्‍चिमोत्तर भारत के यूनानी शासक सेल्यूकस निकेटर को पराजित कर एरिया (हेरात), अराकोसिया (कंधार), जेड्रोसिया पेरोपेनिसडाई (काबुल) के भू-भाग को अधिकृत कर विशाल मौर्य साम्राज्य की स्थापना की। चंद्रगुप्त से 500 हाथी लेने के बाद,सेल्यूकस ने अपनी पुत्री हेलन का विवाह चन्द्रगुप्त से कर दिया। उसने मेगस्थनीज को राजदूत के रूप में चन्द्रगुप्त मौर्य के दरबार में नियुक्‍त किया। कुछ समय पश्चात सेल्यूकस ने अपने राजदूत मेगास्टेनिस को पाटलिपुत्र में रहने और चंद्रगुप्त मौर्य कि शासन के बारे में इंडिका नाम की एक किताब लिखने के लिए भेजा।

  1. Boiy "The Reigns of the Seleucid Kings According the Babylonian King List." Journal of Near Eastern Studies 70(1) (2011): 1–12.
  2. Kosmin 2014, पृ॰ 33–34.