साथी (1968 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
साथी
साथी फिल्म.jpeg
साथी का पोस्टर
निर्देशक सी॰ वी॰ श्रीधर
निर्माता एस॰ कृष्णमूर्ति
अभिनेता राजेन्द्र कुमार,
वैजयन्ती माला,
सिमी गरेवाल[1]
संगीतकार नौशाद
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1968
देश भारत
भाषा हिन्दी

साथी 1968 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसको सी॰ वी॰ श्रीधर द्वारा निर्देशित किया गया। नौशाद द्वारा रचित संगीत के साथ इसमें राजेन्द्र कुमार, वैजयन्ती माला, सिमी गरेवाल और पहाड़ी सान्याल प्रमुख भूमिकाओं में हैं। ये 1961 की एक तमिल फ़िल्म की रीमेक है।

संक्षेप[संपादित करें]

डॉ. रवि (राजेन्द्र कुमार) विदेश से लौटता है और एक अस्पताल में मुख्य सर्जन का पद ग्रहण करता है। वह नर्स शान्ति (वैजयन्ती माला) से मिलता है जो अपनी बीमार मां के साथ गरीबी में रहती हैं। रवि उसकी माँ पर ऑपरेशन करने का फैसला करता है, लेकिन वह मर जाती है। अपराध-बोध से ग्रस्त रवि शान्ति से शादी करता है। इसे उसके गुरु काका नाराज हो जाते हैं जिन्हें उम्मीद थी कि वह उनकी बेटी रजनी (सिमी गरेवाल) से शादी करेगा। नव दंपति अपने हनीमून के लिए कश्मीर जाते हैं। वह ऐसे ही घूमते-घूमते जिंदगी बसर करना चाहते हैं। लेकिन अस्पताल के प्रमुख डॉक्टर चाहता है कि रवि अपने कैंसर अनुसंधान पर ध्यान केंद्रित करे।

रवि अपने को अनुसंधान में इतना व्यस्त कर लेता है कि शान्ति बीमार हो जाती है और अब बोझ नहीं बनना चाहती है। वह उसे छोड़ देती है। रवि उसकी व्यर्थ में खोज करता है और बाद में यह जानकर तबाह हो जाता है कि वह एक ट्रेन दुर्घटना में मर गई है। काका तब बहुत बीमार हो जाता है और काकी रवि से कहता है कि उसकी बीमारी का कारण रजनी की जिद है कि वह रवि के अलावा किसी से शादी नहीं करेगी। नतीजतन, रवि उससे शादी कर लेता है लेकिन शान्ति को अपने दिमाग से नहीं निकाल पता है। चिड़चिड़ी रजनी उपेक्षित महसूस करती है और रवि का सामना करने का फैसला करती है। लेकिन परिणामस्वरूप वह अपनी दृष्टि खो देता है और शायद आगे कोई कैंसर अनुसंधान करने में असमर्थ हो जाता है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

विशेष उपस्थिति

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत मजरुह सुल्तानपुरी द्वारा लिखित; सारा संगीत नौशाद द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आँखें खुली थी आये थे वो भी"मुकेश4:28
2."जो चला गया उसे भूल जा"मुकेश5:42
3."मेरा प्यार भी तू है" (I)मुकेश, सुमन कल्याणपुर4:14
4."मेरे जीवन साथी"लता मंगेशकर3:56
5."हुस्न-ए-जाना इधर आ"मुकेश3:59
6."मेरा प्यार भी तू है" (II)मुकेश, सुमन कल्याणपुर4:22
7."ये कौन आया रोशन हो गई"लता मंगेशकर3:44
8."मैं तो प्यार से पिया"लता मंगेशकर3:44

नामांकन और पुरस्कार[संपादित करें]

वर्ष नामित कार्य पुरस्कार परिणाम
1969 सिमी गरेवाल फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री पुरस्कार जीत
एन॰ एम॰ शंकर फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सम्पादक पुरस्कार जीत

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Birthday Special: सिमी ग्रेवाल को मंसूर अली खान से था प्यार, इस वजह से रविमोहन संग रचानी पड़ी शादी, लेकिन फिर भी हैं अकेली". अमर उजाला. अभिगमन तिथि 30 अक्टूबर 2021.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]