सांगली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सांगली
—  शहर  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य महाराष्ट्र
महापौर हारून शिकलगार (काँग्रेस)
सांसद संजयकाका पाटील Sanjaykaka Patil
जनसंख्या
घनत्व
513,862 (91) (2011 के अनुसार )
• 4,300/km2 (11,000/sq mi)
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)
118.18 km2 कि.मी²
• 549 m (1,801 ft) मीटर
आधिकारिक जालस्थल: sangli.nic.in

निर्देशांक: 16°51′N 74°35′E / 16.85°N 74.58°E / 16.85; 74.58

सांगली महाराष्ट्र राज्य के प्रमुख शहरों में से एक है। सांगली शहर दक्षिण-पश्चिम भारत के पश्चिम एवं दक्षिण महाराष्ट्र राज्य में स्थित है। सांगली नगर पुणे-बंगलुरु रेलमार्ग पर कोल्हापुर के पूर्व में कृष्णा नदी के किनारे स्थित है। यह शहर भूतपूर्व सांगली राज्य (1761-1947) की राजधानी था। सांगली संस्थान के वर्तमान राजा विजयसिंहराजे पटवर्धन हैं।

कृषि[संपादित करें]

सांगली के आसपास का क्षेत्र कृषि उत्पादन के लिए प्रसिद्ध है। ज्वार, गेहूँ और दलहन यहाँ की मुख्य फ़सलें हैं। हल्दी तो पूरे भारत के व्यापक बाजार पर नियंत्रण रखती है। तसगां क्षेत्र की विशेषता यहाँ के अंगूर हैं, जिसका एक बड़ा बाज़ार है। गन्ना मुख्य सिंचित फ़सल है, जिसने अनेक स्थानों की चीनी मिलों की उन्नति में सहायता की है।

व्यापार और उद्योग[संपादित करें]

इसका दलहन और हल्दी का बाज़ार भारत की सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण मंडियों में से एक है। शहर के उद्योगों में सूती वस्त्र, तेल मिलें और पीतल व तांबे के सामान के निर्माण से जुड़े कारख़ानें हैं। सांगली सुनारों का पारम्परिक केंद्र है। यहाँ की चीनी मिल अग्रणी चीनी प्रसंस्करण इकाई के रूप में गिनी जाती है।

एक ऐसी बजार हैं.जो ऑन लाइन पूरी इंडिया मे सप्लाई करती हैं महाराष्ट्र कार ओल्ड पार्ट्स.हर लेटेस्ट कार के जुना औऱ नये स्पेअरपार्ट्स होम डिलीवरी की सुविधा , caroldpart.com.से भी जानकारी पा सकते हैं.पस्चिम महाराष्ट्र की 170 शॉप एक ही जगह बहूत बडी मार्केट सांगली मे हैं.जहाँ से पुरे इंडिया मे जूना मटेरियल सप्लाईहोता हैंऔऱ यहाँ ट्रक के ओल्ड स्पेअर पार्ट्स मिलते हैं.जिसका नाम सांगली लोखंड मार्केट. सांगली हैं.जिसके फाउंडर चेअरमेन.सलीमभाई नदाफ.हैं.कर्नाटक बॉण्डरी से नजदीक रहेनें से पुरे कर्नाटक स्टेट से भी बङा व्यापार होता हैं.यहाँ की ख़ूबसूरत वातवरण मे रहेना सेहत के लिए बहूत बढिया हैं.

उद्योग-रोजगार के नये अवसर[संपादित करें]

भारत एक प्रगतिशील देश है और इसकी प्रगति मे बड़ा योगदान वाहन उद्योग का है। इसमें कार गाड़ियों का अधिक हिस्सा है। इन कार गाडीयों के स्पेअर पार्टस की मांग तो रहेंगी। इसी कारण गत 30 वर्ष से अॅटोमोबाईल क्षेत्र मे यशस्वी तरीके से काम करने वाली कंपनी ` आटो रिलीफ कम्पनी जो पूरे भारत देश मे कार के नये स्पेअर पार्टस आनलाइन सप्लाई करती है। जैसे हर कार हरेक माॅडल्स के मारूती, टाटा, महीन्द्रा, फोर्ड, निस्सान, शोअरलेट, हुडांई, होंडासिटी आदि कार गाडीयों के सभी नये स्पेअर पार्टस् ईंजीन, गिअरबाॅक्स, सस्पेंशन, बाॅडीपार्टस्, ईलेक्ट्रीकल पार्टस, टायर ,ईत्यादी NEW SPEAR PARTS होलसेल और रिटेल मे सप्लाई करती है। और इससे आपको रोजगार का अवसर उपलब्ध करती है। आप भी कंपनी की डिलरशिप /फ्रचांईसी आपके गाँव, तहसील, शहर, सिटी मे लेकर अच्छा मुनाफा कमा सकते है।इसमे कार मालीक, मेकॅनिक्स, कार अॅटोमोबाईल विक्रेता और नया उध्योग की तलाश मे रहने वाले सभी हिस्सा लेकर व्यवसाय की शुरवात कर सकते है। कंपनी के तरफ से व्यवसाय ट्रेनिंग दिया जाता है। अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे; AUTO RELIFE.CO.maharashtra scrap 100 futi Road near Nurani masajid sangli 416416 (MH) INDIA. Coustemer Care 0233/2373091 , 09595709696. 09850155823 .www.autorelife.com (कृपया ईस मेसेज कोआपने कार /अॅटोमोबाईल /मेकॅनिक्स मित्रों वाॅटस्अप ग्रुप पर भेजे ताकि गरजमंदो को उध्योग मिल जाये! धन्यवाद!

शिक्षा[संपादित करें]

सांगली शहर में विद्यालयों, तकनीकी संस्थानों और शिवाजी विश्वविद्यालय, कोल्हापुर से संबद्ध कला, विज्ञान और प्रौद्योगिकी महाविद्यालय वाला यह एक महत्त्वपूर्ण शैक्षणिक केंद्र है।

विकास[संपादित करें]

कृष्णा नदी के तट को छोड़कर सांगली का विस्तार सभी दिशाओं में तेजी से हो रहा है। पूर्व में सांगली और मिराज के मिलने से एक विशाल शहरी संकेंद्रण निर्मित होता है। मिराज भी एक भूतपूर्व रियासत की राजधानी था। यह वाद्य यंत्रों के निर्माण के लिए विख्यात है।

परिवहन[संपादित करें]

मिरज एक रेलवे जंक्शन है, जहां से निकली शाखाएं पश्चिम में कोल्हापुर और पूर्व में कुरडुवाडी की छोटी लाइन को बड़ी लाइन में बदलने का कार्य निर्माणाधीन है।

सड़क द्वारा और रेलवे द्वारा बड़े नगरों से सम्बद्ध है।

पर्यटन[संपादित करें]

सांगली का गणपति मन्दिर

सांगली का गणपति मंदिर श्रद्धालुओं के आकर्षण का केंद्र है। यहाँ स्थित मीर साहेब औलिया की दरग़ाह दूर-दूर तक मशहूर है।

जनसंख्या[संपादित करें]

2001 की जनगणना के अनुसार सांगली की जनसंख्या नगर निगम क्षेत्र की 4,36,639 है। सांगली ज़िले की कुल जनसंख्या 25,81,835 है।