समता पार्टी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
समता पार्टी
अध्यक्ष उदय मंडल[1]
स्थापक जॉर्ज फर्नान्डिस
स्थापित 1994
मुख्यालय २२०, विठ्ठलभाई पटेल हाउस, रफी मार्ग, नई दिल्ली - ११०००१
विचारधारा समाजवादी
वेबसाइट
http://samataparty.org
पार्टी का झंडा
Samata Party Flag.jpg

समता पार्टी (SAP) एक भारतीय राजनीतिक दल है, जिसका गठन वर्ष 1994 में पूर्व रक्षामंत्री जॉर्ज फर्नांडीस के द्वारा किया गया था, जो अब राष्ट्रीय अध्यक्ष उदय मंडल के नेतृत्व में है।[2] समता पार्टी ने पहली बार नीतीश कुमार को बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में मौका दिया।[3] यह समाजवादी विचारधारा को मानती है, और उत्तर भारत में, विशेष रूप से बिहार में काफी राजनीतिक और सामाजिक प्रभाव है। 2003 में समता पार्टी के सदस्य जनता दल (यूनाइटेड) में शामिल हो गए। लेकिन सांसद ब्रह्मानंद मंडल के नेतृत्व वाला एक गुट समता पार्टी में हीं रहा और पार्टी के नाम और प्रतीकों का इस्तेमाल करता रहा।[4]

मुख्यमंत्रीयों की सूची[संपादित करें]

नाम समय पार्टी राज्य
नीतीश कुमार[5] 3 March 2000 10 March 2000 समता पार्टी बिहार
राधा बिनोद कोईजम[6] 15 February 2001 1 June 2001 समता पार्टी मणिपुर

गठबंधन[संपादित करें]

समता पार्टी ने 1996 में भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन कर राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन का हिस्सा बन गई।[7] 2003 में जनता दल (यूनाइटेड) के गठन के बाद, समता पार्टी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग हो गई।[8]

जद(यू) में विलय रद्द[संपादित करें]

एक कार्यक्रम के दौरान समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उदय मंडल मशाल के साथ।

2003 में समता पार्टी, लोक शक्ति पार्टी एवं शरद यादव कि नेत्रित्व वाली जनता दल का विलय करके जनता दल (यूनाइटेड) का गठन किया गया। मुंगेर के सांसद ब्रह्मानंद मंडल ने समता पार्टी के विलय को चुनैती दी, परिणाम स्वरुप चुनाव आयोग ने अधिकारिक विलय नहीं माना एवं पार्टी के नाम और चुनाव चिन्ह के उपयोग कि अनुमति दी।[9] समता पार्टी से सभी बड़े चहड़े जनता दल (यूनाइटेड) के जाने के कारण पार्टी धीरे - शिरे सिमटने लगी। लगातार चुनाव में बेहतर प्रदर्शन के कारण लोकप्रियता घटने लगी और लगभग बंद होने के कगार पर पहुँच गई। 2020 में, पार्टी की कमान उदय मंडल के दिया गया, जिसके बाद उन्होंने इसका पुनर्गठन किया।[10]

चुनाव चिन्ह विवाद[संपादित करें]

शिव सेना में फुट होने के बाद दो अलग - अलग धरे बने जिसमे शिव सेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) एवं बालासाहेब की शिव सेना। अक्टूबर - नवम्बर में होने वाले अँधेरी विधानसभा उपचुनाव के दौरान चुनाव आयोग ने कुछ समय के लिए शिव सेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) को "मशाल" चुनाव चिन्ह दिया गया जिस पर आपत्ति जताते हुए समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष उदय मंडल[11] ने आयोग में अपील की एवं मामले को न्यायपालिका में ले जाने की तैयार हुए। यह मामला अभी चुनाव आयोग के पास है।[12][13][14] उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव 2022 में समता पार्टी को पुन: मशाल चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया।[15]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Uday Mandal – SAMATA PARTY" (अंग्रेज़ी में). मूल से 26 जनवरी 2022 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2022-01-28.
  2. "Delhi HC dismisses Samata Party plea against 'flaming torch' symbol allotment". The Indian Express (अंग्रेज़ी में). 2022-10-19. अभिगमन तिथि 2022-11-04.
  3. "'Flaming Torch' Election Symbol: A Look Back At Samata Party And Nitish Kumar's Ascension To Bihar CM". https://www.outlookindia.com/ (अंग्रेज़ी में). 2022-10-19. अभिगमन तिथि 2022-11-04. |website= में बाहरी कड़ी (मदद)
  4. "BBCHindi". www.bbc.com. अभिगमन तिथि 2022-11-04.
  5. March 20, SWAPAN DASGUPTA Sanjay Kumar Jha; March 20, 2000 ISSUE DATE:; January 8, 2000UPDATED:; Ist, 2013 12:44. "Nitish Kumar's government in Bihar not outvoted as much as outmanoeuvred by Laloo Yadav". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2022-05-02.सीएस1 रखरखाव: फालतू चिह्न (link)
  6. "rediff.com: Radhabinod Koijam is new Manipur CM". in.rediff.com. अभिगमन तिथि 2022-05-02.
  7. "Nitish Kumar: The master of many U-turns - Alliance with BJP in 1996". The Economic Times. अभिगमन तिथि 2022-05-03.
  8. "INKredible India: The story of 1996 Lok Sabha election - All you need to know". Zee News (अंग्रेज़ी में). 2019-04-24. अभिगमन तिथि 2022-05-03.
  9. "EC rejects merger of JD-U, Samata Party". www.rediff.com. अभिगमन तिथि 2023-01-08.
  10. "दिल्ली HC ने शिवसेना धड़े को मशाल चुनाव चिह्न आवंटित किए जाने के खिलाफ समता पार्टी की याचिका खारिज की". Dainik Jagran. अभिगमन तिथि 2023-01-08.
  11. "मशाल निवडणूक चिन्ह संकटात, समता पार्टी कोर्टात जाणार?". www.timesnowmarathi.com (मराठी में). 2022-10-12. अभिगमन तिथि 2022-10-12.
  12. "Dispute over new symbol of Uddhav Shiv Sena, Samata Party files complaint". Hindustan Times (अंग्रेज़ी में). 2022-10-12. अभिगमन तिथि 2022-10-12.
  13. "Shiv Sena : 'धनुष और तीर' के बाद 'जलती हुई मशाल' को लेकर तकरार, समता पार्टी ने ठोका दावा". Republic Bharat. अभिगमन तिथि 2022-10-12.
  14. "Election Commission:ठाकरे गुट का मशाल चुनाव चिन्ह भी जाएगा? समता पार्टी ने चुनाव आयोग को लिखी चिट्ठी". Amar Ujala. अभिगमन तिथि 2022-10-12.
  15. Sharma, Unnati (2022-12-03). "After reclaiming mashaal for UP civic polls, Samata Party says will move SC for old symbol". ThePrint (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2022-12-03.