सदस्य:Sneha srivatsa/पिंकचलचित्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

पिंक चलचित्र २०१६ मे प्रदर्शन हुइ। यह एक अदालत नाटक है। इस चलचित्र के निदेशक अनिरुद्ध रॉय चौधरी जि है, कथाकार रितेश शाह और निर्माता रश्मि और सुजीत सरकार जि है। इस चलचित्र के मुख्य अभिनेता पर हुम अमिताभ बच्चन, तापसी पन्नू, कीर्ति कुल्हरि, अंगद बेदी, एंड्रिया तरिअङ्, पीयूष मिश्रा और ध्रितिमन् चटर्जी है। केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड ने इस चलचित्र को यू/ए प्रमाणपत्र दिय है।

इस चलचित्र के निर्देशन राजस्थान पुलिस को महिलाओं के अधिकार और गौरव कि ज्ञान देने के लिए बनाया गया है।

इस साल पिंकचलचित्र ने बॉक्स ऑफिस मे बहुत नाम कमाया है। इस चलचित्र को अमिताभ बच्चन जि कि नये चलचित्रो मे से सब से कामियाब चलचित्र माना गया है। दर्शक और बॉक्स ऑफिस से इस चलचित्र कि बहुत अच्छा आलोचना मिलि है। नवंबर ४, २०१६ को इस चलचित्र कि लाभप्रद ५० दिन को मनाया गया था।

कहानी क विषय:[संपादित करें]

इस चलचित्र मे ३ लडकिया मीनल अरोड़ा(तापसी पन्नू),फलक अली(कीर्ति कुल्हरि)और एंड्रिया(एंड्रिया तरिअङ्) दक्शिन दिल्लि मे एक शानदार शेहर मे अपने अपने विस्तार मे काम करने वाले है। एक रात यह ३ लडकिया एक रॉक कंसर्ट देकने चलते है,वहा वे एक सामान्य दोस्त के माध्यम से राजवीर से मिलते है। राजवीर दक्शिन दिल्लि कि एक प्रमुख राजनीतिज्ञ के भतीजा है, और राजवीर(अंगद बेदी) उन्हे खाने पर बुलाता है और ये ३ लडकिय राजवीर और उसके दो दोस्त के सात सूरजकुंड, फरीदाबाद जिला, हरयाणा के एक आश्रय पर चलते है। वहा सारे लोग दारू पीते है और नशा चड जात है। सही मौके पर इनतज़ार कते हुए यह ३ लडके, ३ लडकियो को अलग अलग कम्रे मे ले जाते है। राजवीर और मीनल एक कमरे मे है और यहा, राजवीर मीनल के साथ संभोग कि प्रयास करत है, मीनल न केहेने पर भी वह उसकि बलात्कार करने कि कोशिश करता है तो मीनल दारू कि बोतल को उस्के सिर पर आत्म रक्षा के कारन मारदेति है, यह राजवीर कि आंख पर लग जाति है।

बदला लेने के लिए, राजावीर के दोस्तो मीनल और उन्के दोस्तो को उन्के घर से निकलवाने कि कोसिश करते है। नकमीयब होने पर, मीनल को अपहरण करते है और छेडते है। मीनल जब उन लद्को पार पुलिस मामले टिकाने जाति है, वहा कि एक महिला पुलिस जो राजवीर को जनति है वह यह मामले पर विचार नहि करति। राजविर गुस्सा हो कर और उस्के संपर्कों के माध्यम से उन लडकियो पर हि पुलिस मामला करदेता है, यह कहते हुए कि मीनल और उस्के दोस्त रंडीपन करनेवाले है। मीनल को इस कारन हत्या के प्रयास कि आरोप डालि जाति है और १० साल कि कारागार कि सज़ा कि संभावना होति है। मीनल के दोस्त फलक और अन्द्रिया को भि इस कार्य मे शामिल होने कि आरोप होति है।

इन लडाकियो कि मुसीबत को देख कर उन कि पड़ोसी दीपक सहगल(अमिताभ बच्चन), जो एक विरत वकील है, वे अपने पत्नि ममत शंकर जो बहुत बिमार है, उसकि अनुमति लेकर एन ३ लडकियो कि समर्थन न्यायालय मे करते है। इस न्यायालय कि चर्चे पर हि यह चलचित्र आदरित है। अंत मे निर्णय लडकियो को बेकसूर साबित करति है।

पिंक के अभिनेताओं

पात्रवर्ग:[संपादित करें]

गीत:[संपादित करें]

क्र॰शीर्षकगीतकारसंगीतकारगायकअवधि
1."जीने दे मुझे"फैज़ा मुजाहिदफैज़ा मुजाहिदफैज़ा मुजाहिद०३:५८
2."कारी कारी" शांतनु मोइत्राक़ुरत्-उल-आइन बलोउछ्०६:२७
3."तुझसे हाय है रोशनि" अनुपम रॉयअनुपम रॉय०४:२८
4."पिंक" अनुपम रॉयजोनित गांधी, ई पी आर अय्यर०३:४७
कुल अवधि:१८:४०

आश्रय:[संपादित करें]

एङ्लिश विकिपिडिया।

http://indianexpress.com/article/entertainment/movie-review/pink-movie-review-amitabh-bachchan-taapsee-pannu-star-rating-3032180/ http://www.thehindu.com/features/cinema/Pink-The-girls-are-alright-but-the-boys/article14639361.ece