सदस्य:Jasmine.john470/शमानी धर्म

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
शमानी धर्म द्वारा मनुष्य के प्राकृतिक संबंध मजबूत होते हैं


शमानी धर्म एक सार्वभौमिक आध्यात्मिक के रूप में देखा जा सकता है जो सभी आदिवासी जनजातेयों मेंं नहित है। जैसे की सभी प्राचीन साधनाएँ प्रकृति में निहित हैं, शमानी धर्म ऐसा विधि है जिसके द्वारा मनुष्य प्राकृतिक संबंधों को मजबूत कर सकता है। 'शमानी' शब्द स्वदेशी संस्कृतियों के प्राचीन साधनाऒं का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। मानवविज्ञानी इस शब्द को दुनिया भर में स्वदेशी संस्कृतियों के बीच आध्यात्मिक और औपचारिक नेताओं के लिये इस्तेमाल करते हैं।

शमन, एक ऐसा व्यक्ति होता है जो आत्माओं की दुनिया के पहुँच मैं हैं अौर एक रस्म के दौरान एक ट्रान्स में खो जाता है। शमानी धर्म एक अभ्यास है जहाँ एक शमन चेतना की बदल राज्यों में पहुँचकर आत्माओं की दुनिया के साथ बातचीत करते हुए, दिव्य ऊर्जा को हमारे दुनिया तक लाता है।

इतिहास[संपादित करें]

शमानी धर्म की प्रथाएँ सभी धर्मों के आयोजन के पहले बनीं थीं, और निश्चित रूप से नवपाषाण काल तक की हैं। शमानी धर्म के पहलुओं को, बाद में, संगठित धर्मों के रहस्यवादी और प्रतीकात्मक प्रथाओं में देखा गया। यूनानी बुतपरस्ती, शमानी धर्म से प्रभावित था, जो टैंटलस, प्रोमेथियस,केलिप्सो की कहानियों, और साथ ही अन्य रहस्यों में परिलक्षित है। यूनानी धर्म के शमानी प्रथाओं को बाद में रोमानी धर्म में अपनाया गया था।

कृत्य[संपादित करें]

शमानी धर्म के आधार पर, शमन इंसानों की दुनिया और आत्मा दुनिया के बीच दूत हैं। शमन लोग आत्मा की आरोग्यकर बीमारियों का इलाज करते हैं। आत्मा / भावना को प्रभावित करने वाले दुखों को निवारण करके, शमन भौतिक शरीर की संतुलित और पूर्णता पुनर्स्थापित करता है। समुदाय को प्रभावित करने वाली समस्याओं का समाधान प्राप्त करने के लिए अलौकिक स्थानों या आयाम में प्रवेश करते हैं। वे दूसरी दुनिया / आयामों में जाकर गुमराह आत्माओं को मार्गदर्शन भी कराते हैं। शमानी धर्म मुख्य रूप से आध्यात्मिक दुनिया के आधार पर चलता है, जो फिर मानव दुनिया को प्रभावित करता है। संतुलन की बहाली बीमारी के उन्मूलन में ही प्रतिफल है। शमन आध्यात्मिक दुनिया या आयाम में प्रवेश करके, औरों को चंगा करने के लिए ज्ञान और सत्ता हासिल करने का दावा करते हैं। ज्यादातर शमन सपने या दृष्टि के माध्यम से कुछ संदेश देते हैं।

अन्य रूप[संपादित करें]

दुनिया भर में शमानी धर्म के कई रूप हैं, कई विश्वास सभी रूपों में शामिल हैं। जैसे :

आत्माएँ मौजूद हैं और वे दोनों व्यक्ति के जीवन में और वामानव समाज में महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है। शमन आत्मा दुनिया के साथ संवाद कर सकते हैं। द्रोही आत्माओं की वजह से आने वाली बीमारियों का इलाज कर सकते हैं। शमन की आत्मा जवाब के खोज में अलौकिक दुनिया में प्रवेश करने के लिए शरीर छोड़ सकती है।

शमन उनकी संस्कृति में मध्यस्थों के रूप में काम करते हैं। शमन समुदाय की ओर से आत्माओं एवँँ मृतक की आत्माओं के साथ संचार करते हैं। शमन रोज़ी-रोटी के लिये समुदाय के लिए सेवाएं प्रदान करते हैं। उनके काम में संलग्न करके, एक शमन महत्वपूर्ण व्यक्तिगत जोखिम के संपर्क में होते हैं। शमानी संयंत्र सामग्री को अगर गलत इस्तेमाल किया तो विषाक्त या घातक हो सकता है।

वर्तमान परिदृश्य[संपादित करें]

सिक्किम और भारत में शमानी धर्म के लोग "झाकड़ी" नाम से माने जाते हैं। वे हिंदू धर्म, तिब्बती बौद्ध धर्म, मुन और बॉन संस्कार से प्रभावित हैं। शमानी धर्म आज भी, व्यापक रूप से जापान के "रयुकु" द्वीप समूह में प्रचलित है, जहां शमन को "नोरो" या "युटा" के नाम से माना जाता है।


[1][2][3][4]

  1. https://www.britannica.com/topic/shamanism
  2. https://www.shamanism.org/
  3. https://www.shamanism.com/
  4. https://www.shamanism.com/what-is-shamanism