श्री शंकराचार्य अभियांत्रिकी एवं प्रौद्योगिकी महाविद्यालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
श्री शंकराचार्य अभियांत्रिकी एवं प्रोद्योगिकी महाविद्यालय
Institute Logo

स्थापित१९९९
प्रकार:Private Engineering School
निदेशक:डॉ प्रताप बी. देशमुख
अवस्थिति:भिलाई, दुर्ग, छत्तीसगढ़, भारत
संक्षिप्त:SSCET
जालपृष्ठ:www.sstc.ac.in

श्री शंकराचार्य के संस्थानों के समूह का अभियांत्रिकी और प्रौद्योगिकी संकाय,  (पूर्व श्री शंकराचार्य कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी (SSCET)) भिलाई, छत्तीसगढ़, भारत, में स्थित एक अभियांत्रिकी महाविद्यालय है। इसका नाम आदि गुरु शंकराचार्य क नाम पर रखा गया है। १९९९  में स्थापित, यह छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय, भिलाई से सम्बद्ध है। यह श्री शंकराचार्य संस्थानों के समूह कि एक इकाई है।[1]

इतिहास[संपादित करें]

१९९९ में, यह पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय से सम्बद्ध  था और इसमें २४० छात्रों का वार्षिक नामांकन होता था। २००५ के बाद से, यह महाविद्यालय छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानन्द तकनीकी विश्वविद्यालय संबद्ध है।

परिसर[संपादित करें]

  • इस परिसर में २१,००० वर्ग मीटर निर्मित क्षेत्र (प्रथम चरण).इसमें ऑडियो और वीडियो सिस्टम शिक्षण उपकरण, प्रयोगशालाओं, कार्यशालाओं, और इंटरनेट की सुविधाओं वाली कक्षाएं और संरक्षण कक्ष है।
  • पुस्तकालय में पुस्तकें, पत्रिकायिएन, सीडी-रोम और एक कंप्यूटर सेंटर है। यह एक समय में ४५० पाठकों को समायोजित कर सकता है।
  • कैफेटेरिया, एटीएम, मेडिकल सेंटर, बुक स्टोर, टेलीफोन खोखे, मनोरंजन केन्द्र, जिमखाना, और इनडोर और आउटडोर खेल की सुविधा उपलब्ध है।
  • सुरम्य ललितेश्वर मन्दिर माहौल को शांति और प्रशांति देते हैं।

विभाग[संपादित करें]

वर्तमान मेंसंसथान में निम्नलिखित चार विभाग हैं:

  • अनुप्रयुक्त रसायन विज्ञान
  • अनुप्रयुक्त भौतिकी
  • अनुप्रयुक्त गणित
  • मानविकी

कार्यक्रम[संपादित करें]

स्नातक कार्यक्रमों

वर्तमान में, यह संकाय निम्नलिखित विषयों में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग कि शिक्षा प्रदान करता है.

  • यांत्रिक भियांत्रिकी
  • कंप्यूटर विज्ञान अभियांत्रिकी
  • इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स
  • इलेक्ट्रॉनिक्स और तेलेकोम्म 
  • सूचना प्रौद्योगिकी
  • इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी
  • इलेक्ट्रॉनिक्स और इंस्ट्रूमेंटेशन अभियांत्रिकी
  • सिविल अभियांत्रिकी

स्नातकोत्तर कार्यक्रमों

वर्तमान में, संकाय इन विषयों पर मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग (एमई) देता है:

  • कंप्यूटर टेक एंड एप्लीकेशन
  • इलेक्ट्रॉनिक्स (संचार)
  • यांत्रिक (M/c डिजाइन)
  • बिजली (पावर सिस्टम)
  • इलेक्ट्रॉनिक्स (वीएलएसआई डिजाइन)

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.sstc.ac.in/

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]