विश्व वन्यजीव दिवस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
विश्व वन्यजीव दिवस
विश्व वन्यजीव दिवस.png
विश्व वन्यजीव दिवस का लोगो
अन्य नाम Wildlife Day / WWD
अनुयायी संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्य
प्रकार International
उत्सव विश्व के वन्य जीवों और वनस्पतियों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए
तिथि 3 March
Next time Not recognized as a date. Years must have 4 digits (use leading zeros for years < 1000).

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने २० दिसंबर २०१३ को, अपने ६८ वें सत्र में, अपने प्रस्ताव UN ६८/२०५ में, ३ मार्च १९७३ में हुए 'जंगली जीव और वनस्पतियों की लुप्तप्राय प्रजातियों में अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पर कन्वेंशन' (CITES) को  विश्व वन्यजीव दिवस अपनाने का दिन घोषित करने का निर्णय लिया जिसे थाईलैंड द्वारा,[1] दुनिया के जंगली जीवों और वनस्पतियों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और मनाने के लिए प्रस्तावित किया गया था।

मुख्य उद्देश्य[संपादित करें]

3 मार्च को विश्व वन्यजीव दिवस के रूप में नामित करने का मुख्य उद्देश्य दुनिया के वन्य जीवों और वनस्पतियों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है ।

जिसकी शुरुआत थाईलैंड द्वारा दुनिया के जंगली जीवों के बारे में जागरूकता बढ़ाने और मनाने के लिए प्रस्तावित किया गया था।। महासभा ने वन्यजीवों के पारिस्थितिक, आनुवांशिक,वैज्ञानिक, सौंदर्य सहित विभिन्न प्रकार से अध्ययन अध्यापन को बढ़ावा देने को प्रेरित किया । विभिन्न जीवों और वनस्पतियों की प्रजातियों के अस्तित्व की रक्षा भी इसका उद्देश्य कहा जा सकता है।

यूएनजीए संकल्प[संपादित करें]

अपने प्रस्ताव में, [2] महासभा ने वन्यजीवों के आंतरिक मूल्य और पारिस्थितिक, आनुवांशिक, सामाजिक, आर्थिक, वैज्ञानिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक, मनोरंजन और सौंदर्य सहित विभिन्न योगदानों की पुष्टि की, ताकि सतत विकास और मानव कल्याण हो

महासभा ने बैंकाक में ३ से १४ मार्च २०१३ तक विशेष रूप से संकल्प सम्मेलन में आयोजित पार्टियों के सम्मेलन की 16 वीं बैठक के परिणाम पर ध्यान दिया। १६.१ [3] ३ मार्च को विश्व वन्यजीव दिवस के रूप में नामित करना, ताकि दुनिया के वन्य जीवों और वनस्पतियों के बारे में जागरूकता बढ़ाई जा सके, और यह सुनिश्चित करने में CITES की महत्वपूर्ण भूमिका को मान्यता दी कि जिससे वह यह सुनिश्चित कर सके की अंतर्राष्ट्रीय व्यापार से प्रजातियों के अस्तित्व को खतरा नहीं है। [4]

महासभा ने विश्व वन्यजीव दिवस के कार्यान्वयन की सुविधा के लिए, संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के संबंधित संगठनों के साथ मिलकर CITES सचिवालय का अनुरोध किया।

विषय-वस्तु[संपादित करें]

२०२० : २०२० की थीम "पृथ्वी पर जीवन कायम रखना" है [5]

२०१९ : २०१९ की थीम है "पानी के नीचे जीवन: लोगों और ग्रह के लिए" [6]

२०१८ : २०१८ की थीम "बड़ी बिल्लियां - शिकारियों के खतरे में" है। [7]

२०१७ : २०१७ की थीम "युवा आवाज सुनो" है। [8]

२०१६ : २०१६ का थीम है "वन्यजीवों का भविष्य हमारे हाथ में है", एक उप-थीम "हाथियों का भविष्य हमारे हाथों में है"।

२०१५ :२०१५ की थीम "वन्यजीव अपराध के बारे में अब गंभीर होने का समय है"।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "CITES CoP16 document CoP16 Doc. 24 (Rev. 1) on World Wildlife Day" (PDF). मूल से 9 मई 2016 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  2. "Resolution of the United Nations General Assembly on World Wildlife Day" (PDF). मूल से 9 मई 2016 को पुरालेखित (PDF). अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  3. "Resolution Conf. 16.1 of the Conference of the Parties to CITES on World Wildlife Day". मूल से 4 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  4. "Rio+20 recognizes the important role of CITES". मूल से 14 जुलाई 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  5. "Sustaining all life on earth announced as theme for next world wildlife day". मूल से 2 फ़रवरी 2020 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  6. "Focusing on marine species for the first time, the next World Wildlife Day is bound to make a splash". मूल से 21 फ़रवरी 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  7. "100 days until UN World Wildlife Day 2018". मूल से 18 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.
  8. "Engaging and empowering the youth is the call of next year's UN World Wildlife Day". मूल से 2 अगस्त 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 फ़रवरी 2020.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]