"कन्नौज" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
130 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
→‎परिचय: छठी शताब्दी
(गुर्जर प्रतिहार)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
(→‎परिचय: छठी शताब्दी)
टैग: मोबाइल संपादन मोबाइल वेब सम्पादन
 
== परिचय ==
कन्नौज, उत्तर प्रदेश का एक जिला है। यह नगर, [[गंगा]] के बायीं ओर [[ग्रैंड ट्रंक रोड]] से 3 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। किसी समय [[गंगा नदी]] इस नगर के पार्श्व से बहती थी। [[रामायण]] में इस नगर का उल्लेख मिलता है। [[तॉलेमी]] ने ईसा के काल में कन्नौज को 'कनोगिज़ा' लिखा है। पाँचवीं शताब्दी में यह [[गुप्त साम्राज्य]] का एक प्रमुख नगर था। छठी शताब्दी में श्वेत हूणों के आक्रमण से यह काफी विनिष्ट हो गया था। चीनी यात्री [[ह्वेन त्सांग]], ने, जो [[हर्षवर्धन]] के समय भारत आया था, इस नगर का उल्लेख किया है। छठी शताब्दी से लेकर 11वीं शताब्दी केतक आंरभिकयह काल[[गुर्जर]] राजाओं की राजधानी रही है के बाद में मुसलमानों के आक्रमण के कारण यह नगर काफी विनिष्ट हुआ। 1194 ई. में [[मुहम्मद गौरी]] ने इस नगर पर अपना स्वत्व जमाया। 'आइने अकबरी' द्वारा ज्ञात होता है कि [[अकबर]] के समय में यहाँ सरकार का मुख्य कार्यालय था। प्राचीन काल के भग्नावशेष आज भी लगभग छह कि.मी.व्यास के अर्धवृत्तीय क्षेत्र में वर्तमान हैं। कन्नौज इत्र और इतिहास की नगर रहा है | कन्नौज अपने मन्दिरो के लिये विशेष जाना जाता है | कन्नौज प्रमुख रुप से सिद्धपीठ बाबा गौरी शंकर मन्दिर एवं सिद्धपीठ माँ फूलमती मंदिर के लिये जाना जाता है | इसके अलावा यहाँ अनेकों मंदिर हैं, जो की इस नगर की छवि कों और आकर्षित बनाते हैं | वर्तमान में कन्नौज नगर पालिका अध्यक्ष माननीय "शैलेन्द्र अग्निहोत्री जी (वंदेमातरम)" हैं |
 
== कड़ियाँ ==
24

सम्पादन

दिक्चालन सूची