लंदन हेज फाॅलेन (फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
लंदन हेज फाॅलेन
London Has Fallen poster.jpg
फिल्म का पोस्टर
निर्देशक बाबक नजाफी
निर्माता
पटकथा
कहानी
  • क्रिफटन राॅथेनबर्गर
  • कैट्रिन बेनेदिक्ट
आधारित Characters created
क्रिफटन राॅथेनबर्गर
कैट्रिन बेनेदिक्ट
अभिनेता
संगीतकार ट्रेवर माॅरिस
छायाकार एड वाइल्ड
संपादक
  • माइकल जे. ड्युथी
  • पाॅल मार्टिन स्माइथ
स्टूडियो
वितरक
प्रदर्शन तिथि(याँ) साँचा:फ़िल्म तिथि
समय सीमा ९९ मिनट[2]
देश संयुक्त राष्ट्र अमेरिका
भाषा अंग्रेज़ी
लागत $ ६० करोड़[3]
कुल कारोबार $ १९५.६ करोड़[4]

लंदन हेज फाॅलेन (अंग्रेजी; London Has Fallen) वर्ष २०१६ में बनी अमेरिकी एक्शन थ्रिलर फ़िल्म है जिसका निर्देशन बाबक नजाफी ने किया है तथा लेखन क्रिफटन राॅथेनबर्गर, कैट्रिन बेनेदिक्ट, चैड सेंट. जाॅन तथा क्रिश्चियन गुडेगैस्ट ने किया है। यह एंटोनी फुक़ुआ की साल २०१३ की निर्देशित फ़िल्म ओलिम्पस हेज फाॅलेन की अगली कड़ी है, जिनमें प्रमुख कलाकारों में जेरार्ड बटलर, आराॅन एक्हार्ट, तथा माॅर्गन फ़्रीमैन के साथ एलोन मोनी अबाउटबुल, एंजेला बैसेट, राॅबर्ट फाॅर्स्टेर, मेलिसा लियो, राधा मिचैल, एवं शैर्लाॅट रिले सहयोगी भूमिका में शामिल हैं। फ़िल्मांकन का काम लंदन में अक्टूबर २४,२०१४ शुरू किया गया। फिर नवम्बर बाद क्रिसमस का अवकाश खत्म कर शुरू करते हुए फरवरी २०१५ तक संपन्न किया गया। फ़िल्म का प्रदर्शन मार्च ४, २०१६ को फोकस फिचर्स के अधीनस्थ करने बाद ग्रैमेर्सी पिक्चर्स लेबल से जारी किया गया।

सारांश[संपादित करें]

पाकिस्तानी हथियार डीलर और आतंकी नेता आमिर बर्कावी (अलोन मोनी अबाउटबुल) एक ऐसे मास्टरमाइंड जिसे दुनिया भर में आतंकी हमलों को अंजाम देने के कुसूर में खोजबीन कर रही है। पश्चिमी खुफिया सेवा विभाग के उसके कंपाउड के ठिकाने का पता लगा लेती है और अमेरिका उस पर ड्राॅन हमला करवाती है, और सभी मान लेते है कि बर्कावी अपने परिवार समेत मारा गया है। दो साल बाद, राष्ट्रपति बेंजामिन एशर (आराॅन एक्हार्ट) की सुरक्षा में तैनात, सीक्रेट सर्विस एजेंट माइक बैनिंग (जेरार्ड बटलर), अपनी बीवी लियाह (राधा मिचैल) साथ पहले बच्चे को लेकर काफी हार्दिक उम्मीद लिए रहते हैं। अपने परिवार संग और समय गुजारने की आशा में, वह सीक्रेट सर्विस की नौकरी से इस्तीफा देने पर भी विचार करता है। इस मध्यांतर, किसी प्रकार पिछले हवाई हमले से बचा, सकुशल बर्कावी अपने बेटे कमरान (वालिद ज़ुएतेर) से यमन में दोनों मुलाकात कर अपने इंतकाम लेने के लिए अगली योजना पर अमल करते हैं।

वहीं एशर और माइक को ब्रिटिश प्रधानमंत्री जेम्स विल्सन के निधन की सूचना मिलती है। फिर सीक्रेट सर्विस की निदेशिका लिने जैकब्स (एंजेला बैसेट) के साथ, लंदन के सफर पर रवाना होते हैं जहाँ विश्व के प्रमुख नेता विल्सन के अंतिम जनाजे पर शिरकत करने पहुंचते हैं। ज्यों ही सभी गणमान्य लोगों का हुजूम पहुँचता है, बर्कावी के नेतृत्व में घात लगाए कई मेर्सेनैरिस (किराए के हत्यारे) उसके इशारे पर हमला शुरू देते हैं, जिसमें पहला हमला ट्रैफेलगेर स्काॅव्यर से गुजरते कनाडियन प्रधानमंत्री की लिमोज़ीन पर बम विस्फोट से उन्हें तथा उनकी पत्नी को मार डालते हैं। बाकी नेताओं के साथ लगभग उसी श्रंखलाबद्ध तरीके से जानलेवा हमले होते हैं – जापानी प्रधानमंत्री की हत्या डूबने से होती है जब आत्मघाती बाॅम्बरों का दल चेलसी पुल को ध्वस्त कर डालते हैं, फ्रेंच राष्ट्रपति को उनकी नौका समेत लगभग टेम्स नदी पर विध्वंसक धमाकों के साथ तबाह हुए बिग बेन और वेस्टमिंस्टर के किले के मलबे में दफन कर डालते हैं, इटालियन प्रधानमंत्री तथा उनकी बीवी की जान भी नहीं बचती जब उन्हीं में से एक वेस्टमिंस्टर मठ का घंटाघर धराशायी होती है जहाँ वे लोग पर्यटन करने ही आए थे, और जर्मन चांसलर की हत्या बकिंघम किले के महारानी की शाही प्रहरी के बीच मौजूद आतंकी उन्हें गोली मारता है। इन्हीं सबके दरम्यान, एशर और उनके सीक्रेट सर्विस के लोग आगजनी में उलझे रहते हैं तब तक दूसरे ब्रिटिश पुलिसकर्मियों के भेष में अन्य आतंकी और आपातकालिक रेस्पोन्डर्स उसे ढुंढ़ते रहते हैं। दोनों तरफ से हुई इस भारी नुकसान मचने से पहले ही बैनिंग, एशर और जैकब्स इन अफरा-तफरी के बीच भी भाग निकलने में सफल रहते हैं। वहीं राष्ट्रपति विभाग के लोग व्हाइट हाउस लौटकर बड़ी खौफ में लंदन में छिड़ी तबाही और सैकड़ों नागरिकों के मारे जाने की हालिया खबर देखते हैं।

वहीं जमीनी ऑपरेशन पर, आतंकी शहर के पावर नेटवर्क में सेंध लगाकर, वे इसे पूरी तरह बंद करा देते हैं। बैनिंग, एशर तथा जैकब्स की निकासी के लिए मरीन वन के लोग पहुँचते हैं। मगर, इमारतों की छत पर तैनात आतंकवादी हैलीकाॅप्टर बिठाने वाली जगह पर स्टिंगर मिसाइल दागकर मरीन वन के चाॅपर को निशाना बना डालते हैं। हवाई यान पार्क में क्रैश होता हैं, नतीजतन जैकब्स बुरी तरह घायल होती है; माइक की बांहों में दम तोड़ते हुए इन सभी कत्लेआम के जिम्मेवारों को मार डालने की कसम देती है। माइक और एशर वहां से दौड़ते हुए, सड़कों पर नजर आने से बचने के लिए लंदन की निष्क्रिय अंडरग्राउण्ड में भाग निकलते हैं। ज्यों ही वह लोग अंडरग्राउण्ड सुरंगों के रास्ते गुजरते हैं, एशर यह गौर करता है कि आतंकवादियों को उन्हें वह जिंदा मिल जाए तो वे उसे सार्वजनिक रूप से वे उन्हें मार डालेंगे, तब वह माइक से उन्हें मार डालने का आदेश देते हैं, अगर जरूरत हिसाब से वह रोक ना पाएँ तो। माइक बेहद अनिच्छा से राजी होता है। जैसे ही वह लोग शहर में दाखिल होते हैं, माइक बहुत एहतियात बरतते हुए उप राष्ट्रपति एलेन ट्रमबुल (माॅर्गन फ़्रीमैन) से संपर्क साध लेता है और व्हाइट हाउस को यह संदेश भेजता है कि वह और एशर शहर में एमआई6 के सेफहाउस जाकर ही मिलेंगे।

वहीं व्हाइट हाउस के स्टाफ विभाग के लोगों को बर्कावी की ओर से एक डरा देनेवाली काॅल मिलती हैं जिसके मुताबिक उसने ही इन सभी घटनाओं का प्रपंच रचा था ताकि वह अपनी परिवार की मौत का प्रतिशोध ले सकें। इसकी सूचना उन्हें विल्सन के ऑपरेशन की जानकारी मिलने उनके शरीर पर जहर पहुँचाने का भी काम किया, अंतरराष्ट्रीय स्तर की हत्याकांड के इस खुलासे पर उन्होंने दुनियाभर के नेताओं को लंदन में इकट्ठा होने को मजबूर किया ताकि वह सबको एकसाथ मार सकें। शहर की नाकाबन्दी के साथ ही, माइक और एशर सेफहाउस पर एमआई6 एजेंट जैक़लिन "जैक्स" मार्शल (शैर्लाॅट रिले) से मिलते हैं, वह माइक को अच्छे से जानती थी। जैक्स कंप्यूटर द्वारा मालूम कर लेती है कि इन सभी में बर्कावी की ही भागीदारी है। उसे तब ट्रमबुल की ओर से मैसज मिलता है कि उनको माइक का संदेश मिल चुका है और उनके लिए सहायता भेज रहे हैं। निगरानी कैमरों के जरीए, वह तीनो देख यह अंदाजा लगाते कि माइक और एशर को बचाने पहुँची डेल्टा फाॅर्स की टीम वहां क्या कर रही है। हालाँकि, माइक गौर करता है कि वे ऑपरेटर्स उस तरह पसीने से भीगें नहीं है जैसे कि उन्होंने भारी भरकम गियर पहनकर शहर का दौरा किया हो, इसका मतलब आतंकवादियों ने महज दिखावे के लिए ऐसा किया है। वह समझ लेता हैं कि आतंकियों को यहां तक पहुंचाने के लिए ब्रिटिश सरकार में किसी ने सेंघ लगाई होगी, जैक्स तब स्थानीय अधिकारियों के साथ स्काॅटलैंड यार्ड की ओर बढ़ती है तो माइक वहीं पर आतंकियों को मारने के लिए, एशर के साथ ठहरता है। दोनों एक एमआई6 की गाड़ी पर कब्जा करते हैं और अमेरिकी दूतावास की ओर सुरक्षित भागने की कोशिश करते हैं, पर जल्द ही उनका पीछा वैन में बैठे आतंकवादी उनकी गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त कर देते हैं। बैनिंग को जब तक होश आता वो लोग एशर को अगुवा कर चुके होते हैं।

राष्ट्रपति एशर को शहर की निर्माणाधीन स्थल पर बिठाए आतंकियों के खुफिया हेडक़्वार्टर लाया जाता है। वहां, कमरान तब एशर को सजाए मौत का फरमान सार्वजनिक कराने के लिए, इंटरनेट तथा विडियो निकासी को हैक कर पूरी दुनिया में इसका सजीव प्रसारण कराता है। इस बीच, माइक को एसएएस कमांडो की युनीट द्वारा खोज लिया जाता है, और फिर यह मारक दस्ते का समूह आतंकियों के गढ़ पर हमला कर एशर को मुक्त करने की कोशिश करता है। वहीं पूरी दुनिया के करोड़ों लोग, कमरान के हाथों बुरी तरह मार खाए एशर को देखते हैं जब वह उसका सर कलम करने के लिए मशाटे (लंबे फलवाली कुल्हाड़ी) तानते हुए, उससे आखिरी शब्द कहने को कहता है तो एशर राष्ट्रपति पद ग्रहण करने वाला वह शपथ याद करते हैं। उन्हीं चंद पलों में, माइक अचानक से घुस पड़ता है और सारे आतंकियों को गोलियाँ चलाकर ढेर करते हुए कमरान की पिटाई करता है, हालाँकि उनका आतंकी सरगना किसी तरह भाग निकलता है।

जब तक और आतंकी उनको घेरने लगते है तब तक भागने की कोशिश दौरान, माइक एसएएस कमांडर को इमारत उड़ा डालने का आदेश देता है, नीचे मौजूद शाफ्ट पर कूद लगाकर एशर साथ सुरक्षित निकल जाते है और जलता हुआ मलबा सबको निगलते हुए कमरान और उसके लड़ाकों को, खत्म कर डालता है। जैक्स को भी एमआई5 के इंटेलिजेंस प्रमुख जाॅन लैंकैस्टर (पैट्रिक केनेडी) के विश्वासघात का पता चलता है जिसने बर्कावी की मदद की और गिरफ्तारी से बचने की जुर्रत में वह आत्मरक्षा में उसे भी मार डालती है। कुछ समय बाद, यमन में बर्कावी के कम्पाउंड को ढुंढ़ लिया जाता है, जहाँ तब उसपर दूसरी बार ड्राॅन हमले की तैयारी की जाती है। ट्रमबुल उसके फोन द्वारा संपर्क करता है और उसके कहने के कुछ पूर्व ही धमाके में बर्कावी मारा जाता है।

दो हफ्तों के आखिर में लंदन हमले के बाद, माइक घर लौटता है और अपना समय लियाह एवं अपने नए बच्चे के साथ गुजरता है, अपने मरहूम बाॅस की याद में वे उसका नाम लिने रखते हैं। वह लैपटाॅप के सामने अपना इस्तीफानामा लिखकर एशर के नाम अर्जी भेजने ही वाला था। टीवी पर, ट्रमबुल विगत घटनाओं के विषय में भाषण देते हैं, फिर एक बेहद प्रेरक संदेश देते हुए कि अमेरिका जल्द खुद को प्रबल करेगा। इस मनौव्वल के साथ माइक वह खत मिटा देता है।

भूमिकाएँ[संपादित करें]

  • जेरार्ड बटलर - माइक बैनिंग, एक सीक्रेट सर्विस एजेंट तथा विशेष एजेंट जिनपर राष्ट्रपति सुरक्षा विभाग का कार्यभार है।[5]
  • आराॅन एक्हार्ट - बेंजामिन एशर, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के राष्ट्रपति।[5]
  • माॅर्गन फ़्रीमैन - एलेन ट्रमबुल, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के उप-राष्ट्रपति[5]
  • अलोन मोनी अबाउटबुल - आमिर बर्कावी, हथियारों का डीलर और एक आतंकवादी मास्टरमाइंड, जिसे एफबीआई द्वारा जारी कुख्यात लोगों की फेहरिस्त में छठे पायदान पर रखा है।[7]
  • एंजेला बैसेट - लिने जैकब्स, संयुक्त राष्ट्र सीक्रेट सर्विस की निदेशिकाहै।[5]
  • राॅबर्ट फाॅर्स्टेर - अमेरिकी सैन्य जनरल एडवर्ड क्लेग, स्टाफ के ज्वाइंट चीफ्स के चेयरमैन।[7]
  • मेलिसा लियो - रुथ मैक'मिलैन, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा विभाग की सचिव।[8]
  • राधा मिचैल - लियाह बैनिंग, माइक की पत्नी और एक नर्स।[5]
  • शैर्लाॅट रिले - जैक़लिन "जैक्स" मार्शल, एक ब्रिटिश एमआई6 एजेंट।[6]
  • जैकी एर्ले हैली - डीसी मैसन, व्हाइट हाउस स्टाफ के चीफ।[10]
  • सीन ओ'ब्रायन - रे मोन्रोए, राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के उप-निदेशक।[7]
  • वालीद ज़ुएतेर - कमरान बर्कावी, आमिर बर्कावी का बेटा और अपने पिता के आतंकी कार्रवाई करने वाला सेकेंड इन कमांडर।[7]
  • मेहदी देहबी - सुल्तान मंसूर, तीनों भाईयों में सबसे युवा जिसपर ड्राॅन हमले ने जीवन बदल दिया।[11]
  • काॅलिन सैलमाॅन - कमिश्नर केविन हैज़ेर्ड, महानगरीय पुलिस सेवा के प्रमुख।
  • पैट्रिक केनैडी - जाॅन लैनकैस्टेर, एमआई5 के इंटेलिजेंस अफसर। वह दरअसल आमिर और कमरान बर्कावी की पैरोल पर आतंकवादी साजिश में सहयोग देता है।
  • ब्रायन लैर्किन - एसएएस लैफ्टिनैंट विल डेविस।[7]
  • माइकल वाइल्डमैन - एजेंट वाॅईट, राष्ट्रपति सुरक्षा अंग के एक सीक्रेट सर्विस सदस्य।
  • एंड्रयू प्लीविन - एजेंट ब्रोनसन, राष्ट्रपति सुरक्षा अंग के एक सीक्रेट सर्विस सदस्य।
  • डेबाॅराह ग्रांट - डोरिस, लियाह की माँ।
  • क्लार्कसन गाई विलियम्स - लियाह्टन क्लार्कसन, युनाइटेड किंगडम के तत्कालीन प्रधानमंत्री जिन्हें जेम्स विल्सन के देहांत के बाद यह पद हस्तांतरित किया गया।
  • पेनी डाॅउनी - रोज केन्टर, युनाइटेड किंगडम की गृह सचिव।
  • फिलीप डेलैंसी - जैक़िस मैनैर्ड, फ्रांस के राष्ट्रपति।
  • एलेक्स गिएनीनी - एंटोनियो गुस्तो, इटली के प्रधानमंत्री।
  • नैंसी बाल्दविन - एग्नेस ब्रुक्नेर, जर्मन चांसलर।
  • नाइगेल व्हीटमे - राॅबर्ट बाॅअमैन, कनाडा के प्रधानमंत्री।
  • सुवायुकी साओतोमे - सुतोमु नाकुशिमा, जापान के प्रधानमंत्री।

निर्माण[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. Petski, Denise (May 20, 2015). "Focus Features Revives Gramercy Pictures Label For Genre Films". deadline.com. अभिगमन तिथि May 20, 2015.
  2. "LONDON HAS FALLEN (15)". British Board of Film Classification. February 4, 2016. अभिगमन तिथि February 4, 2016.
  3. "Box Office: 'Zootopia' to Take Down 'Deadpool' With Huge $60 Million-Plus Debut". variety.com.
  4. "London Has Fallen (2016)". Box Office Mojo. अभिगमन तिथि May 22, 2016.
  5. Goldberg, Matt (November 4, 2014). "Filming begins on London Has Fallen starring Gerard Butler; First Synopsis Revealed". Collider. अभिगमन तिथि April 5, 2015.
  6. Goldberg, Matt (May 8, 2015). "First LONDON HAS FALLEN Poster Is Already Hating British Landmarks". Collider. अभिगमन तिथि May 8, 2015.
  7. Miller, Phil (February 26, 2016). "Role in London has Fallen for Scottish actor marks first step into world of blockbusters". अभिगमन तिथि March 5, 2016.