रानी फ़ाबिओला पर्वत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
रानी फ़ाबिओला पर्वत
Queen Fabiola Mountains
विवरण
क्षेत्र:  अंटार्कटिका
सर्वोच्च शिखर: फ़ुकुशीमा पर्वत
सर्वोच्च ऊँचाई: २,७४० मीटर
निर्देशांक: 71°30′S 35°40′E / 71.500°S 35.667°E / -71.500; 35.667


रानी फ़ाबिओला पर्वत (Queen Fabiola Mountains) पूर्वी अंटार्कटिका के रानी मौड धरती क्षेत्र में स्थित पर्वतों का एक समूह है। यह ५० किमी लम्बी कतार लुटज़ो-होल्म खाड़ी से १४० किमी दक्षिण-पश्चिम में स्थित हैं। इसका सबसे ऊँचा पहाड़ २,७४० मीटर ऊँचा फ़ुकुशीमा पर्वत (Mount Fukushima) है। यामातो हिमानी (Yamato Glacier) इन्हीं पर्वतों में स्थित है और यहाँ सन् २००० में एक १३.७ किलोग्राम का एक उल्का पाया गया जो बनावट परखने पर मंगल ग्रह से आया ज्ञात हुआ। इसे यामातो ०००५९३ (Yamato 000593) का नामांकन मिला और यह पृथ्वी पर गिरा दूसरा सबसे बड़ा ज्ञात मंगल-ग्रहीय उल्का है।[1][2][3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Webster, Guy (February 27, 2014). "NASA Scientists Find Evidence of Water in Meteorite, Reviving Debate Over Life on Mars". NASA. मूल से 1 मार्च 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2016.
  2. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  3. Gannon, Megan (February 28, 2014). "Mars Meteorite with Odd 'Tunnels' & 'Spheres' Revives Debate Over Ancient Martian Life". Space.com. मूल से 1 मार्च 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 7 मार्च 2016.