रवि कांत 'अनमोल'

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

10 सितंबर 1976 को भारतीय पंजाब के पठानकोट शहर के मोहल्ला रड़ा में पैदा हुए रवि कांत ‘अनमोल’ हिंदी उर्दू व पंजाबी के कवि और शायर हैं। हिंदी में उनकी एक किताब टहलते-टहलते अंजुमन प्रकाशन इलाहबाद से नवंबर 2014 में प्रकाशित हुई है। मुशाइरों में बहुत कम नज़र आने के बाद भी रवि कांत ‘अनमोल’ अपनी दमदार उर्दू ग़ज़ल के कारण ग़ज़ल प्रेमियों में पहचाने जाते हैं। उनकी ग़ज़ल ‘उसे मस्जिद बनानी है, इसे मंदिर बनाना है। मुझे बस एक चिंता कैसे अपना घर चलाना है॥‘ 2013 दिल्ली विधानसभा चुनाव और 2014 के लोकसभा चुनाव में सोशल मीडिया पर काफ़ी चर्चित रही। मई 2014 में तेलुगू के प्रसिद्ध ग़ज़ल गायक डॉ० ग़ज़ल श्रीनिवास की पहली उर्दू ग़ज़ल अल्बम ‘रू-ब-रू’ में रवि कांत ‘अनमोल’ की लिखी चार ग़ज़लें शामिल थीं। रवि कांत ‘अनमोल’ की ग़ज़लों और गीतों को गाने वाले गायकों में डॉ० ग़ज़ल श्रीनिवास श्री संजय वत्सल, श्री संजय मिश्रा, श्री रतिश नायर, श्री अपूर्व शाह और श्री प्रवेश कालिया इत्यादि गायक शामिल हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]