यांग दि-पेरतुआ नेगेरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मुस्तफ़ा हरून, जो साबाह राज्य के सर्वप्रथम यांग दि-पेरतुआ नेगेरी थे

यांग दि-पेरतुआ नेगेरी (Yang di-Pertua Negeri) मलेशिया के कुछ राज्यों के औपचारिक अध्यक्ष होते हैं, जिनका पात्र लगभग भारत के राज्यपाल के बराबर होता है। "यांग दि-पेरतुआ नेगेरी" का अर्थ मलय भाषा में "राज्य का अध्यक्ष" है (ध्यान दें कि मलय में नगर शब्द संस्कृत से आया है लेकिन मलय में इसका अर्थ "शहर" नहीं बल्की "राज्य" है)। मलेशिया के अधिकतर राज्यों में पुराने राजपरिवारों के सुल्तान या राजा ही औपचारिक अध्यक्ष होते हैं लेकिन वर्तमानकालीन मलेशिया में पेनांग, मेलाका, साबाह और सारावाक राज्यों के सर्वोच्च अधिकारी को यांग दि-पेरतुआ नेगेरी की उपाधि मिली हुई है। इन्हें इन राज्यों के केतुआ मेंतेरी (मुख्य मंत्री के बराबर) को नियुक्त करने का और अन्य संवैधानिक कार्यों को चलाने का अधिकार मिला हुआ है।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Appointment Of Persons To Important Posts". Malaysian Monarchy. अभिगमन तिथि 13 April 2011.