मोहेंजो दारो (फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मोहेंजो दारो
मोहेंजोदारो-फिल्म.jpg
निर्देशक आशुतोष गोवारिकर
निर्माता
लेखक प्रीति मैमग्न (डायलॉग)
पटकथा आशुतोष गोवारिकर
कहानी आशुतोष गोवारिकर
अभिनेता ऋतिक रोशन
पूजा हेगड़े
संगीतकार ए. आर. रहमान
छायाकार सीके मुरलीधरन
संपादक संदीप फ्रांसिन्स
स्टूडियो
वितरक डिजनी इंडिया
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • 12 अगस्त 2016 (2016-08-12)
समय सीमा 150 मिनट[1]
देश भारत
भाषा हिन्दी
लागत 100 करोड़ (US$एक्स्प्रेशन त्रुटि: round का घटक नहीं मिला मिलियन)[2][3]

मोहेंजो दारो (अंग्रेजी; Mohenjo Daro)(अंग्रेज़ी: Mound of the Dead Men) वर्ष २०१६ की भारतीय रोमांचक-प्रेम गाथा आधारित हिन्दी भाषा की फ़िल्म है, जिसका लेखन एवं निर्देशन आशुतोष गोवारिकर[4][5][6], तथा निर्माण युटीवी मोशन पिक्चर्स के सिद्धार्थ राॅय कपूर व आशुतोष गोवारिकर प्रोड्क्शन्स लिमिटेड (एजीपीपीएल) की सुनीता गोवारिकर द्वारा किया गया है,[7] और फ़िल्म में ऋतिक रोशन व पूजा हेगड़े मुख्य भूमिकाओं में अदाकारी कर रहे हैं।[8] मोहेंजो दारो विश्व की प्रथम सिनेमाई प्रदर्शन है जो प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता को संदर्भित की गई है[9], तथा इस महान नगर, मोहेंजो दारो को युनेस्को द्वारा विश्व धरोहर के तौर पर अंकित किया गया है (अब यह क्षेत्र पाकिस्तान स्थित सिंध जिले के लरकाना में पड़ता है)। [10]

फ़िल्म की शुरुआत मुताबिक प्राचीन समय के २०१६ के ईसा पूर्व की है जब सिंधु घाटी सभ्यता चरम पर थी[11][12], कहानी एक साधारण किसान (रोशन) के मोहेंजो दारो नगर की ओर यात्रा करने और फिर नगर की संभ्रांत वर्ग की औरत (हेगड़े) से हुए प्रेम को लेकर बुना गया है, और जिसके परिणाम में वह नगर के अभिजात वर्ग को चुनौती दे डालता है तथा आखिर में उसी नगर के अपरिहार्य विनाश के विरुद्ध संघर्ष भी करता है। गोवारिकर ने अपने तीन वर्ष शोध करने तथा पटकथा के विकास में व्यतीत किए, अपनी इस काल्पनिक कहानी को प्रामाणिकता पक्का करने के लिए पुरातत्ववेत्ताओं के साथ काफी नजदीकी कार्य किया।[13] फ़िल्मांकन का कार्य भुज एवं मुंबई के साथ संक्षिप्त समयावधि में बेड़ाघाट (जबलपुर) एवं थाणे में भी किया गया।

फ़िल्म का संगीत एवं एलबम रचना ए.आर. रहमान[14] के साथ गीत लिखने का काम जावेद अख़्तर ने भी किया।[15] फ़िल्म का प्रदर्शन १२ अगस्त २०१६ में वैश्विक स्तर पर जारी किया गया।[16][17][18]

सारांश[संपादित करें]

फ़िल्म का आरंभ सन् २०१६ ईसा पूर्व को सरमन और होजो एवं उनके दोस्तों से होती है, जब वह आमरी की प्राचीन गाँव के युवा, अपनी नाव में सफर करते हुए तंग नदी में जा फंसते हैं। और उनपर अचानक ही नरभक्षी मगरमच्छों का हमला होता है। सरमन बेहद साहसपूर्ण ढंग से अपने भाले से लड़ता है और उन्हें मार डालता है। फिर उनको ढोकर गाँव वापिस लौटते है जहाँ उनकी नायक के तौर पर जय-जयकार होती है। सरमन को उस रात नींद नहीं आती: जब बचपन में उसके माता-पिता को खो देता है, उसके मन में अब भी कई दिनों से अपने चाची की गुनगुनाहट गुँजती महसूस होती है, और जब सपने देखता है तो उसे एक सींगवाला विचित्र पशु और मोहेंजो दारो के विशाल नगर की झलक दिखाई पड़ती।

हालाँकि उसके चाचा कभी भी सरमन के मोहेंजो दारो जाने के फैसले की अनुमति नहीं देते। आखिरकार उसके चाचा हार मानते है, और सलाह देते है कि मोहेंजो दारो एक बहुत निर्मम नगर है और सरमन को किसी पर भी भरोसे पर एहतियात बरतने को कहते है। उसके चाचा उसे एक गंडा-ताजिब देते जो उसे सिर्फ़ उसके जिंदा रहने या मृत्यु के वक्त इस्तेमाल करने को कहते हैं। (सरमन को उस ताबिज में उसी सपने के एक सींगवाले पशु पता चलता है, और वही पशु मोहेंजो दारो का नगर प्रतीक भी साबित होता है।)

तमाम माल-असबाब (नील) के साथ व्यापार को निकला सरमन ज्यों ही मोहेंजो दारो पहुँचता है तो वह नगर की विशालता और वैभव देख आवाक रह जाता है। यहां के बाजार मैसेडोनियाई और सुमेरियाई तथा विदेशी व्यापारियों के अनदेखी व अनोखी सामानों व पशुओं (उस वक्त तक के अपरिचित नस्ल के घोड़े भी) की बिक्री बरबस आकर्षित करती है। सरमन को मालूम हो जाता है कि मोहेंजो दारो के शासन बागडोर उसके प्रमुख तानाशाह माहम और उसके दुष्ट बेटे मुंजा के हाथों में है। माहम किसानों से अतिरिक्त कर उगाही एक प्रस्ताव रखथा है; इस प्रस्ताव पर नगर परिषद के वे सभी सांसद अपना समर्थन देते हैं जो माहम के साथी है सिवाय उन खेतीहर किसानों के प्रतिनिधियों के। चुनाव बीत जाता है और जब किसानों के प्रतिनिधि माहम की करतूतों का बेनकाब करते हुए धमकाते हुए यह पुछते है – कि क्यों आखिर माहम को पड़ोसी नगर हड़प्पा ने उनको तड़ीपार कराया – माहम तत्काल उन्हें मार डालता है।

उधर सरमन की भेंट चानी नामक सुंदर युवती से होती है, मोहेंजो दारो के प्रमुख पुरोहित की बेटी और वह सिर्फ 'एक को ही' चुनेगी जो नगर को मुक्ति दिलायेगा और नई सुबह लाएगा। इस तरह वह मोहेंजो दारो के किसानों के साथ माहम के इस नए कर के विरुद्ध बगावत का नेतृत्व करता है (माहम के सिपाही उसे मारने की धमकी देते हैं लेकिन सरमन, किसानों के पक्ष लेकर, कहता है वह तो वैसा ही मरना स्वीकार करेगा, जबकि इस मोटे कर को चुकाने में ही उनके परिवार के लोग भूख से मरने लगेंगे।) वह नगर के संभ्रांत वर्ग में अपने चाचा के दिए ताबिज के कारण जगह बना लेता है, जब वह चानी को गुस्सैल घोड़े के प्रहार को बचा लेता है, तब वह उसके पिता से मिलता है, प्रमुख पुरोहित, इस मुलाकात के बाद ही उसे पहचान लेता है। सरमन और चानी लोगों के सामने अपने आपसी प्रेम को व्यक्त नहीं कर पाते लेकिन चानी के अश्रु बयान करते हैं कि मुंजा के साथ उसका जबरन विवाह कराया जा रहा है। नव चंद्रमा के उत्सव पर आयोजित नृत्य दौरान ही माहम को सरमन और चानी एक-दूसरे से प्रेम करते हैं और ये भी कि सरमन ही कर विरोधियों का नेता है। माहम फौरन सरमन को मृत्युदंड की घोषणा कराता है पर उसे एहसास होता है उसे जनता का समर्थन प्राप्त है तो माहम सजा टाल देता है और बेहद कुटिलता से सरमन के समक्ष बकर-ज़ोखर खेलने की चुनौती रखता है। सरमन के सामने यही प्रस्ताव रखा जाता है कि यदि वह विजयी हुआ तो चानी को इस सगाई से मुक्त कर देगा। और वह इसे मंजूर करता है।

प्रमुख पुरोहित कारावास में सरमन से मिलता है। वह बताता है माहम सुमेरियाईयों के साथ हड़प्पा में शीशम की अवैध व्यापार के कारण ही तिरस्कार कर दिया गया था। माहम अन्य सौदागरों के भांति ही मोहेंजो दारो दाखिल हुआ और देखते ही देखते इस धंधे के कारण नगर परिषद तक अपनी पहुँच बना सका। वहीं माहम को महान सिंधु नदी में व्यापक सोने का भण्डार जमा पड़ा है और तब माहम एक बड़ी योजना के साथ नदी में बांध बनाने का प्रस्ताव रखता है तथा सोने की खान को दूसरा रास्ता मिल जाता है और मोहेंजो दारो की तिजोरी में जमा होने लगती है। श्रुजन नामक बुद्धिमान व ईमानदार प्रधान इस योजना का विरोध करता है लेकिन माहम किसी तरह उसे नाकाम करता है और बांध का निर्माण करवाता है। माहम सोना जमाखोरी के झूठे आरोप में श्रुजन को फांसते हुए गिरफ्तार कराता है। उसे इस बात का बेहद पछतावा होता है कि कैसे उनको व दुर्जन (सरमन के चाचा) को माहम की धमकियाँ मिलती थी यदि उन्होंने विरोधी श्रुजन की सहायताकी तो। श्रुजन मारा जाता है। पुरोहित बताता है कि सरमन ही श्रुजन का बेटा है और उसे ही दुष्ट माहम के अत्याचार से मुक्ति देनी होगी।

सरमन का सामना ताजिक पर्वत के क्रुर आदमखोरों बकर और ज़ोखर से एक बड़े रण आखाड़े में होता है। इस लंबी और बेरहम लड़ाई में वह एक आदमखोर को मार डालता है लेकिन जख्मी कर छोड़ देता है और मोहेंजो दारो के लोगों में उसकी विजय को लेकर हर्ष की लहर दौड़ पड़ती है। माहम गुस्से में आग-बबुला होता है और मुंजा से पुरोहित व चानी का खात्मा करने कहता है। मुंजा आवेग में पवित्र मंदिर पहुँचता है और पुरोहित को मारकर चानी की ओर भागता है। सरमन चानी को बचाता है और मुंजा को मार डालता है।

सरमन जनता की अगुवाई करता हुआ वापिस नगर परिषद पहुँच कर माहम को चुनौती देता है। चानी माहम से जुड़ी एक योजना का पर्दाफाश करती है कि वह सिंधु के सोने की जमाखोरी कर खुद अभीर होने चला था और पश्चिम से तांबे और काँसे के शस्त्रों की तस्करी करता है। सरमन को मिले इस समर्थन पर नगर परिषद के सभी प्रमुख माहम के विरुद्ध फैसला सुनाते है। जनता बतौर नए प्रधान के रूप में सरमन का चयन करती है लेकिन सरमन का सुझाव रहता है कि मोहेंजो दारो के लोगों को सरकार की आवश्यकता है ना किसी प्रधान की। सिंधु नदी, पर निर्मित बांध धीरे-धीरे बाढ़की वजह से चरमराने लगता है। सरमन को एहसास होता है कि बांध जल्द टुटेगा और समूचे नगर को जलमग्न कर डालेगा। इससे पूर्व नदी पूरी तरह बांध ढहा देती सरमन सभी लोगों से एकसाथ नौकाएं जोड़ने को कहता है और एक तैरता पुल सा बना देता है। मोहेंजो दारो लगभग खाली पड़ जाता है और पुल को नदी के दूसरे छोर तक ले जाया जाता है। बांध तबाह होता है और नदी प्रचण्ड वेग से नगर में प्रवेश करती है। नगर के चौराहे पर जंजीरों में बंधा माहम, इस सैलाब में डूब जाता है। महान मोहेंजो दारो का नामोनिशान मिट जाता है। अगली सुबह तक सिंधु नदी शांत पड़ती है और वह लोग बहते हुए पूर्वी हिमालय पहुँचते हैं। चानी नदी किनारे लोगों साथ महसूस करते है कि भविष्यवाणी सच प्रमाणित हुई है: यह एक नई सुबह थी। सरमन को भी तब दूसरे छोर वह एक-सींग वाला पशु दिखाई पड़ जाता है। लोगों में इस नदी के नए नाम को लेकर फुसफुसाहट होती है। और फ़िल्म सरमन के कहे गए एक शब्द के साथ समाप्त होती है: गंगा

कलाकार[संपादित करें]

निर्माण[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Ashutosh Gowariker's Mohenjo Daro to have a run-time of 150 minutes". Bollywood Hungama. May 16, 2016. मूल से 16 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६.
  2. "When Hrithik Roshan made headlines". Times of India. पृ॰ 19. मूल से 26 सितंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६.
  3. Sen, Sushmita (23 September 2015). "Hrithik Roshan's fee for 'Mohenjo Daro' is half of film's budget?". International Business Times, India Edition. मूल से 26 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६.
  4. "Ashutosh Gowariker: The tallest structure in Mohenjo Daro was two-storey high". मूल से 23 जून 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जुलाई 2016.
  5. "the Indus Valley civilisation dates back to 8000 BC, making it one of the most ancient civilisations, Gowariker noted". मूल से 24 जून 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जुलाई 2016.
  6. "Please suspend disbelief when watching 'Mohenjo Daro', says director Ashutosh Gowariker". मूल से 24 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2016.
  7. "Ashutosh Gowariker's 'Mohenjo Daro' To Be Released On August 12". CNN-News18. May 18, 2016. मूल से 23 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६.
  8. "संग्रहीत प्रति". मूल से 13 अक्तूबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2016.
  9. Bollywood Hungama interview with UTV producer Siddarth Roy Kapur, https://www.youtube.com/watch?v=X-2-fD37PR0 Archived 12 अगस्त 2017 at the वेबैक मशीन. at 00:29
  10. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; :0 नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  11. "संग्रहीत प्रति". मूल से 9 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2016.
  12. "Ashutosh Gowariker's 'Mohenjo Daro' Falls Prey to Hindutva Horseplay". मूल से 3 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2016.
  13. "संग्रहीत प्रति". मूल से 9 अगस्त 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2016.
  14. "Rahman to compose for Ashutosh Gowariker's Mohenjo Daro". Mumbai Mirror. 27 September 2014. मूल से 19 सितंबर 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 13 February 2014. Italic or bold markup not allowed in: |publisher= (मदद)
  15. "Javed Akhtar turns lyricist for Mohenjo-Daro". Bollywood Hungama. मूल से 13 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 22 अगस्त 2016.
  16. "Release Date Of Hrithik Roshan's Mohenjo Daro Announced". Koimoi. मूल से 14 फ़रवरी 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 January 2015. Italic or bold markup not allowed in: |publisher= (मदद)
  17. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; RT नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  18. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; Meta नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  19. "Pooja Hegde paired opposite Hrithik Roshan in Mohenjo Daro". हिन्दुस्तान टाईम्स. 12 July 2014. मूल से 13 जुलाई 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६. Italic or bold markup not allowed in: |publisher= (मदद)
  20. "Kabir Bedi to play villain in Hrithik Roshan starrer Mohenjo Daro". Bollywood Hungama. 10 January 2015. मूल से 1 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६.
  21. "Arunoday Singh turns villain". DNA. 29 January 2015. अभिगमन तिथि २० जुलाई २०१६.
  22. "BJP wilfully ignored my potential: Nitish Bharadwaj". DNA India (अंग्रेज़ी में). 2016-02-28. मूल से 3 नवंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2016-03-14.
  23. "Hrithik Roshan's co-star Kishori Shahane in 'Lakhon Hain Yahan Dilwale' - The Times of India". मूल से 6 सितंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2015-08-10.
  24. "Hrithik Roshan is very hardworking: Sharad Kelkar". द इंडियन एक्सप्रेस. IANS. 16 July 2016. मूल से 17 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 9 August 2016.
  25. "Bollywood actor Manish Chaudhari shoots in Gujarat - The Times of India". मूल से 27 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2015-08-10.
  26. "Narendra Jha Bags Ashutosh Gowriker's Mohenjo Daro". मूल से 13 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जुलाई 2016.
  27. "Hrithik Roshan's co-star Casey Frank". stuff.co.nz. 31 March 2015. मूल से 11 जून 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 March 2015.
  28. "Diganta Hazarika Appearing in Hritik Roshan Starrer Film Mahenjo Daro". मूल से 22 अप्रैल 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जुलाई 2016.
  29. "Diganta Hazarika in Hritik Roshan Starrer Film Mohenjo Daro". मूल से 19 मई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 जुलाई 2016.