मूसा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

{{ज्ञानसन्दूक व्यक्ति | name = मूसा | image = MosesMosaic.jpg | alt = | caption = मूसा की तस्वीर, मिज़ूरी, संयुक्त राज्य | birth_place = जाशान भूमि , प्राचीन मिस्र | death_place = नीबो पर्वत , मोआब | nationality = इस्राइली | known_for = पैगम्बर

| children =

| parents =

| relatives =

  • हारून (भाई)
  • मरियम, इमरान की पुत्री (बहन)

| spouse =

मूसा अलहसलाम अल्लाह पैगंबर थे जिनकी शिक्षा यह थी कि अल्लाह एक है और मैं उससे पैगंबर   (ईश्वरीय सन्देशवाहक) हूं लेकिन उनकी वफात के बाद  यहूदी लोग उनको अपना संस्थापक  मानने लगे  और यहूदी धर्म का जन्मदाता मानने लगे लेकिन वह एक अल्लाह की संदेश लेकर आए थे कुरान और बाइबिल में हज़रत मूसा की कहानी 
दी गयी है, जिसके मुताबिक लगभग १२०० ई.पू. मिस्र के फिरोन के ज़माने में जन्मे मूसा बनी इसराईली माता-पिता की औलाद थे, उस समय फिरौन मिस्र का बादशाह हुआ करता था उसको किसी ज्योतिषी ने यह बताया था कि तुम्हारा अंत एक पैगंबर करेगा और वह जन्म लेने वाला है उसके बाद फिरौन ने बनी इसराइल में हो पैदा होने वाले सभी बच्चों को मरवा देता था लेकिन मूसा अली सलाम को तो पैदा होना ही था तो उनकी मां ने उनको एक संदूक में रखकर दरिया ए नील में डाल दिया फिर संदूक दरिया ए नील से तैरते दर्दे फिरौन के घर के पास जा गया जो कि फिरौन की बीवी इस्लाम कबूल कर चुकी थी वह बच्चे को देखकर बहुत खुश होती है और कहती है कि हम इस बच्चे को पालेंगे उनको फिर फिरोन की पत्नी हजरत आशिया(जो अल्लाह पर ईमान लायी थी),ने पाला और मूसा एक मिस्री राजकुमार बने। फिरौन को शक हुआ कि यह वही बच्चा तो नहीं जो बड़ा होकर नबी बनकर पैगंबर बनमेरा अंत करेगा तो उसने उसको फिरौन ने आजमाने के लिए एक तरफ आग का शोला और एक तरफ ठंडी चीज रखी  तो अल्लाह का हुक्म हुआ मूसा अली सलाम आग के शोले को उठा कर मुंह में रख लिए जिसे फिरौन को लगा यह कोई पैगंबर नहीं वरना यह बच्चा समझदार होता कुछ समय बाद में मूसा को मालूम हुआ कि वो बनी इसराईली हैं और बनी इसराईल (जिसको फिरोन ने ग़ुलाम बना लिया था) अत्याचार कर रहा था हजरत मूसा का एक पहाड़ पर परमेश्वर से साक्षात्कार हुआ और परमेश्वर की मदद से उन्होंने फ़राओ को हराकर बनी इसराईल को आज़ाद कराया।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

मूसा अली सलाम के बारे में और अधिक जानकारी के लिए कृपया कुरान शरीफ में सूरह ताहा पढ़ें और उसका तर्जुमा सुने जिससे आपको काफी अच्छी जानकारी होगी

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

Wikisource-logo.svg
विकिस्रोत पर इनके द्वारा या इनके बारे में मूल लेख उपलब्ध है:
  • बाइबिल, अंकों की किताब 12:1