मुखाभिगम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
मुखमैथुन का चित्र विकिमीडिया कॉमन्स से

मुखाभिगम (अंग्रेजी: Oral Sex) भी मैथुन का एक तरीका है जिसे प्राय: सम्भोग से पूर्व योनांगों को मुख, जीभ, होंठ के प्रयोग से उत्तेजित किया जाता है। इसे आम बोलचाल की भाषा में मुख मैथुन कहते हैं।[1][2] यह सामान्यत: स्त्री की योनि में पुरुष जीभ डालता है और स्त्री शिश्न को मुंह में लेकर चूसती है। अधिकतर स्त्रियां मुंह में ही वीर्य को निकाल लेती हैं । इस समय यह परम्परा तेजी से बढ रही है ।

आजकल समलैंगिकता के कारण इस प्रकार का मैथुन प्रचलित है। कामसूत्र के प्रणेता वात्स्यायन ने इस प्रकार के मैथुन को प्रकारान्तर से कुकृत्य कहा है और हेय (वर्जित) बताया है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. Janell L. Carroll (2009). Sexuality Now: Embracing Diversity. Cengage Learning. पपृ॰ 265–267. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-495-60274-3. अभिगमन तिथि August 29, 2013.
  2. Wayne Weiten; Margaret A. Lloyd; Dana S. Dunn; Elizabeth Yost Hammer (2008). Psychology Applied to Modern Life: Adjustment in the 21st century. Cengage Learning. पृ॰ 422. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-495-55339-7. अभिगमन तिथि February 26, 2011.