मानव कामुकता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

मानव कामुकता वह तरीका है जिससे लोग कामुक रूप से अपने आप को अनुभव और अभिव्यक्त करते हैं।[1][2] इसमें जैविक, कामुक, शारीरिक, भावनात्मक, सामाजिक या आध्यात्मिक भावनाएँ और व्यवहार शामिल हैं।[3][4] चूंकि यह व्यापक शब्द है, जो समय के साथ बदला हुआ है, इसकी कोई एक सटीक परिभाषा नहीं है।[4] कामुकता के जैविक और शारीरिक पहलू मानव प्रजनन कार्यों से मुख्य रूप से सम्बन्धित हैं, जिसमें मानव कामुक अनुक्रिया चक्र शामिल है। किसी का यौन अभिविन्यास (सेक्सुअल ओरिएंटेशन) उस व्यक्ति के दूसरे व्यक्ति के लिए यौन रुचि और आकर्षण को प्रभावित कर सकता हैं।[5]

कामुकता के शारीरिक और भावनात्मक पहलुओं में व्यक्तियों के बीच बन्धन (बॉण्ड) होता हैं जो गहरी भावनाओं या प्रेम, विश्वास और देखभाल की शारीरिक अभिव्यक्तियों के माध्यम से व्यक्त किया जाता है। सामाजिक पहलुओं को किसी के कामुकता पर मानव समाज के प्रभाव से निपटना पड़ता है, जबकि अध्यात्म का संदर्भ एक व्यक्ति के दूसरे के साथ आध्यात्मिक संबंध से है। कामुकता जीवन के सांस्कृतिक, राजनीतिक, कानूनी, दार्शनिक, नैतिक, नीतिशास्त्रीय और धार्मिक पहलुओं को प्रभावित करती है और उनसे प्रभावित भी होती हैं।[3][4]

यौन गतिविधि में रुचि आमतौर पर बढ़ जाती है जब कोई व्यक्ति यौवनारम्भ (प्यूबर्टी) तक पहुंचता है। किसी व्यक्ति के यौन अभिविन्यास और यौन व्यवहार की उत्पत्ति पर राय भिन्न हैं। कुछ लोग तर्क देते हैं कि कामुकता आनुवांशिकी द्वारा निर्धारित होती है, जबकि दूसरों का मानना है कि यह पर्यावरण द्वारा ढाली जाती है, या ये दोनों कारक व्यक्तिगत यौन अभिविन्यास बनाने के लिए परस्पर क्रिया करते हैं। यह प्रकृति बनाम पोषण विवाद से संबंधित हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Sex and Society, Volume 2. Marshall Cavendish. 2010. प॰ 384. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0761479074. https://books.google.com/books?id=YtsxeWE7VD0C&pg=PA384. अभिगमन तिथि: June 21, 2017. "The term human sexuality broadly refers to how people experience and express themselves as sexual beings." 
  2. Joan Ferrante (2014). Sociology: A Global Perspective. Cengage Learning. प॰ 207. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1285746465. https://books.google.com/books?id=Au4bCgAAQBAJ&pg=PA207. अभिगमन तिथि: June 21, 2017. "Sexuality encompasses all the ways people experience and express themselves as sexual beings." 
  3. Jerrold S. Greenberg, Clint E. Bruess, Sara B. Oswalt (2016). Exploring the Dimensions of Human Sexuality. Jones & Bartlett Publishers. पृ॰ 4–10. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1284081540. https://books.google.com/books?id=8iarCwAAQBAJ&pg=PA4. अभिगमन तिथि: June 21, 2017. "Human sexuality is a part of your total personality. It involves the interrelationship of biological, psychological, and sociocultural dimensions. [...] It is the total of our physical, emotional, and spiritual responses, thoughts, and feelings." 
  4. Anne Bolin, Patricia Whelehan (2009). Human Sexuality: Biological, Psychological, and Cultural Perspectives. Taylor & Francis. पृ॰ 32–42. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0789026716. https://books.google.com/books?id=qrPHYok19v8C&pg=PA32. अभिगमन तिथि: June 21, 2017. 
  5. "Sexual orientation, homosexuality and bisexuality". American Psychological Association. Archived from the original on 8 August 2013. https://web.archive.org/web/20130808032050/http://www.apa.org/helpcenter/sexual-orientation.aspx. अभिगमन तिथि: 10 August 2013. 

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

साँचा:Sex (biology) साँचा:Human sexuality and sexology साँचा:Human sexuality साँचा:Sexual ethics साँचा:Sexual urban legends