भारत का काला धन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भारत में, अवैध तरीकों से अर्जित किया गया धन काला धन (ब्लैक मनी) कहलाता है। काला धन वह भी है जिस पर कर नहीं दिया गया हो। भारतीयों द्वारा विदेशी बैंको में चोरी से जमा किया गया धन का निश्चित ज्ञान तो नहीं है किन्तु श्री आर वैद्यनाथन ने अनुमान लगाया है कि इसकी मात्रा लगभग 7,280,000 करोड रूपये हैं।

काले धन के विविध रूप[संपादित करें]

  • आतंरिक काला धन
  • बाह्य काला धन

आतंरिक काला धन[संपादित करें]

  1. करेंसी का संग्रह करके
  2. सोना ,चाँदी आदि बहुमूल्य धातुओं का संग्रह करके
  3. अचल संपत्ति के रूप में

काला धन रोकने के उपाय[संपादित करें]

  1. करेंसी का विमुद्रीकरण करके
  2. सोने, चाँदी आदि के आभषणों में हॉलमार्क चिन्ह की अनिवार्यता कर
  3. बेनामी या अवैध ढंग से अर्जित की गई संपत्ति को जब्त करके
  4. किसी भी सामान की खरीदी पर बिल बनवाकर।

बाह्य काला धन[संपादित करें]

  • विदेश के बैंकों में जमा धन
  • विदेश में अचल सम्पति या उद्योग में निवेश करके या शेयर का रूप में
  • टैक्स हेवन देशों में जमा धन

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]