काला बाजार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

काला बाजार या भूमिगत बाजार या भूमिगत अर्थव्यवस्था वह बाजार है जहाँ सारा वाणिज्य, कराधान (taxation), नियम और व्यापार सम्न्बन्धी नियंत्रण आदि की चिंता किये बिना किया जाता है।

इसे छाया अर्थतंत्र, काली अर्थव्यवस्था और समानान्तर अर्थव्यवस्था भी कहते हैं।

आधुनिक समाजों में भूमिगत बाजार के अन्तर्गत बहुत से क्रियाकलाप आते हैं। काला बाजार उन देशों में कम है जहाँ की अर्थव्यवस्था खुली है। किन्तु जिन देशों में भ्रष्टाचार, नियंत्रण और कड़े नियम हैं वहाँ अधिक मात्रा में कालानाजारी होती है।

बाजार अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

कुछ लोगों का तर्क है कि काला बाजार ही सर्वाधिक मुक्त बाजार है। दूसरे अन्य किसी भी प्रकार से नियंत्रित बाजार विविध प्रकार के अनुचित हस्तक्षेपों से परेशान रहते हैं।

बाज़ार अर्थव्यवस्था का दो विशेष क्षेत्र होता है , जहाँ मूल रूप से मांग व पूर्ति के कारक काम करते है और क्रय – विक्रय की गतिविधियाँ निष्पादित होती है .

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]