भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पालक्काड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पलक्कड़

स्थापित२०१५
प्रकार:सार्वजनिक एवं शोध
निदेशक:पी.बी. सुनील कुमार
अवस्थिति:पलक्कड़, केरला, भारत
(निर्देशांक: 10°47′38″N 76°49′36″E / 10.79389°N 76.82667°E / 10.79389; 76.82667)
परिसर:अस्थायी परिसर: अहल्या एकीकृत परिसर, कोझिपपारा, पलक्कड़, केरल-६७८५५७
जालपृष्ठ:www.iitpkd.ac.in

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पालक्काड (आईआईटी पालक्काड) केरल के पलक्कड़ में स्थित एक सार्वजनिक स्वायत्त  अभियांत्रिकी और अनुसंधान संस्थान है। यह भारत के २०१४ के केंद्रीय बजट में प्रस्तावित पांच नए आईआईटी में से एक है।[1] इसके परिसर का उद्घाटन ३ अगस्त २०१५ को पलक्कड़ में स्थित अस्थायी परिसर स्थान, अहिल्या एकीकृत परिसर पर हुआ था।[2][3]

भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी द्वारा आईआईटी पलक्कड़ के प्रोफेसर-इन-इंचार्ज पी बी सुनील कुमार को निदेशक के रूप में नियुक्त किये जाने तक, आईआईटी मद्रास के निदेशक डॉ भास्कर राममूर्ति को मैनेटर निदेशक बनाया गया था।[4] शिक्षण के स्तर को आईआईटी के अनुकूल रखने के लिए, आईआईटी मद्रास ने हाल ही में सेवानिवृत्त, पूर्व अध्यक्ष और विभिन्न विभागों के प्रमुख  एवं अनुभवी प्रोफेसरों के एक समूह को नए परिसर में स्थायी और अस्थायी प्रोफेसरों दोनों के रूप में नियुक्त किया है।[5]

परिसर और स्थान[संपादित करें]

आईआईटी पालक्काड का अस्थायी परिसर

आईआईटी पलक्कड़ शुरू में अहिल्या एकीकृत परिसर से काम कर रहा है, जबकि स्थायी परिसर पुदुसेरी पश्चिम में ५०० एकड़ जमीन पर तैयार हो रहा है। आईआईटी के स्थायी परिसर के लिए भूमि अधिग्रहण फरवरी २०१६ के मध्य तक पूरा होने की उम्मीद थी परन्तु, अधिग्रहण को और अधिक देरी हो गयी है।[6]

अस्थायी परिसर में एक ५५,००० वर्ग फुट शैक्षणिक भवन है, जिसमें छह कक्षा के कमरे, एक संगोष्ठी कक्ष, एक सभागार, पुस्तकालय, कैफेटेरिया और संकाय कार्यालय हैं। यह छात्रावास और खेल और मनोरंजन सुविधाओं के साथ हाई स्पीड इंटरनेट भी प्रदान करता है। छात्रों के पास अन्य आईआईटी के छात्रों के समान सुविधाएं हैं।

केरल की राज्य सरकार द्वारा पुडुससरी वेस्ट स्थान पर ५०० एकड़ भू-अधिग्रहण की धीमी प्रगति के कारण आईआईटी पलक्कड़ स्थायी कैंपस का निर्माण में विलंभ हुआ और बाद में, अपनी प्रतिबद्धता बनाए रखने के लिए राज्य सरकार ने शेष ७०.०२ एकड़ जमीन आईआईटी को मुफ्त में दे दी।[7][8] निर्माण दिसंबर २०१६ के मध्य तक शुरू होगा।[9]

विभाग[संपादित करें]

आईआईटी पालक्काड में निम्नलिखित चार विभाग हैं:[10]

उपलब्ध पाठ्यक्रम[संपादित करें]

वर्तमान में आईआईटी पलक्कड़ विभिन्न अभियांत्रिकी विषयों में चार वर्षीय बैचलर ऑफ टैक्नोलॉजी (बीटेक) प्रोग्राम प्रदान करता है। अन्य आईआईटी के समान, स्नातक कार्यक्रमों में प्रवेश भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान संयुक्त प्रवेश परीक्षा (आईआईटी-जेईई) के माध्यम से होता है।J निम्नलिखित चार विषयों में स्नातक (बीटेक) कार्यक्रम उपलब्ध हैं:[10]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://indiabudget.nic.in/budget2014-2015/ub2014-15/bh/bh1.pdf. Retrieved on 28 June 2015, 13:17 IST.
  2. "Palakkad IIT to start functioning from August". The Hindu. 29 April 2015. अभिगमन तिथि 7 July 2015.
  3. "Temporary Campus". IIT Palakkad.
  4. "President nod for appointment of 5 new IITs directors". The Indian Express. 2017-01-07. अभिगमन तिथि 2017-01-07.
  5. "IITs in Tirupati, Palakkad now Open for Intake". The New Indian Express. 25 June 2015. अभिगमन तिथि 27 June 2015.
  6. "Land acquisition for IIT to be over by mid-Feb". The Hindu. 17 January 2016. अभिगमन तिथि 25 January 2016. |accessdate= और |access-date= के एक से अधिक मान दिए गए हैं (मदद)
  7. Shaji, K.A. "IIT Palakkad campus facing land acquisition hurdles". The Hindu. अभिगमन तिथि 2016-12-03.
  8. "Kerala government offers 70 acres land to set up IIT Palakkad free of cost : News". indiatoday.intoday.in. अभिगमन तिथि 2016-12-17.
  9. Shaji, K.A. "Work at IIT Palakkad campus to begin soon". The Hindu. अभिगमन तिथि 2016-12-03.
  10. "IIT temporary campus to open on August 3". The Hindu. 13 June 2015. अभिगमन तिथि 7 July 2015.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]