भगत धन्ना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

धन्ना भगत[1] (जन्म:१४१५) एक रहस्यवादी कवि और जिसका तीन भजन आदि ग्रन्थ में मौजूद हैं । एक वैष्णव भक्त थे।धन्ना मूल रूप से राजस्थान के टोंक जिले में दूनी तहसील में धुवां कला गाँव मे जाट परिवार में पैदा हुआ थे। आज इनके स्थान पर इनका मंदिर और गुरूद्वारा बना हुुुआ है। हिन्दु व सिख धर्म के लोगों मे इनकी आस्थाा है । इनके मंदिर से कुुछ ही दूर अरावली की पहाड़िया है जहां धन्ना भगत तपस्या करते थे वहां एक गुफा में भगवान शिव का प्राचीन मंदिर स्थित है जिसे धुंधलेश्वर महादेव मंदिर के नाम से जाना जाता है ।

जिला मुख्यालय से यह स्थान मात्र 32 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है । यहा बाइक, कार व बस द्वारा आया जा सकता है ।

नजदीकी हवाईअड्डा जयपुर अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा है ।

नजदीकी रेलवे स्टेशन बनस्थली निवाई रेलवे स्टेशन ( BNLW ) है ।

इसके नजदीकी गाँवो मे घाङ , भरनी आदि है , जहाँ से यहाँ पहुंचा जा सकता है ।

मंंदिर धन्ना भगत- Temple Bhagat Dhana Ji

Hindu Temple Bhagat Dhana Ji near, Dhunwa Kalan, Rajasthan 304802

https://goo.gl/maps/f2dnDiDhu8CbmkFT7

'बीज बुवाई बिना अनाज कैसे धन्ना' मीरा बाई गाने में अपने नाम का जल्द से जल्द उल्लेख है।

और सिख धर्म के ग्रंथों मे भी धन्ना भगत का उल्लेख है ।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "भक्त धन्ना भक्तिकाल के जाट कवि". आल अबाउट सिखस. अभिगमन तिथि 25 मार्च 2015.