बाईचुंग भूटिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बाईचुंग भूटिया
Bhaichung Bhutia at the NDTV Marks for Sports event 21.jpg
व्यक्तिगत जानकारी
पूरा नाम बाईचुंग भूटिया[1]
कद 1.73 मी. ()[2]

बाईचुंग भूटिया (जन्म 15 दिसंबर 1976) सिक्किम-भूटिया वंश के एक सेवानिवृत्त भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी हैं जो स्ट्राइकर के रूप में खेलते थे। भूटिया को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारतीय फुटबॉल का मशालदार माना जाता है। फुटबॉल में उनकी शूटिंग कौशल की वजह से उन्हें अक्सर सिक्किमी स्निपर नाम दिया जाता है। सुप्रसिद्ध भारतीय खिलाड़ी आइ॰ एम॰ विजयन ने भूटिया को "भारतीय फुटबॉल के लिए भगवान का उपहार" बताया। भाईचुंग भूटिया के बड़े भाई का नाम चेवांग भूटिया हैं, चेवांग और भाईचुंग दोनों बोर्डिंग स्कूल गए। भूटिया का 2004 में एक होटल पेशेवर से विवाह हुआ और २०१४ में उनका तलाक़ हो गया।

भूटिया ने आई-लीग फुटबॉल टीम ईस्ट बंगाल क्लब में अपना करियर शुरू किया। जब उन्होंने 1999 में इंग्लिश क्लब बरी में शामिल हुए, वह यूरोपीय क्लब के साथ अनुबंध पर हस्ताक्षर करने वाले पहले भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बने और मोहम्मद सलीम के बाद यूरोप में पेशेवर रूप से खेलने वाले खिलाड़ी बने। बाद में मलेशियाई फुटबॉल क्लब पेराक एफ॰ए॰ के लिए खेले वो भी उधार पे । इस के साथ ही वो जे॰सी॰टी॰ मिल्स के लिए खेले,जो उनके कार्यकाल के दौरान एक बार लीग जीता; और मोहन बागान, जो अपने मूल भारत में उनकी दो कार्यावधि के दौरान एक बार लीग जीतने में नाकाम रहे थे। उनके अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल सम्मान में नेहरू कप, एलजी कप, एसएएफएफ चैम्पियनशिप तीन बार और एएफसी चैलेंज कप जीतना शामिल है। वह भारत के सबसे ज्यादा टोपी पाने वाले खिलाड़ी बार हैं, उनके नाम पर 104 अंतर्राष्ट्रीय कैप हैं, और नेहरू कप 2009 में उन्होंने अपनी 100 वीं अंतर्राष्ट्रीय कैप प्राप्त की।

मैदान से बाहर, भूटिया, टेलीविजन कार्यक्रम झलक दिखला जा को जीतने के लिए जाने जाते हैं, जिसने उसके बाद उनके तब के क्लब मोहन बागान के साथ बहुत विवाद पैदा किया था और वो पहले भारतीय खिलाड़ी थे जिन्होंने तिब्बती स्वतंत्रता आंदोलन के समर्थन में ओलंपिक मशाल रिले का बहिष्कार किया। भारतीय फुटबॉल में अपने योगदान के सम्मान में भूटिया के नाम पर एक फुटबॉल स्टेडियम है, उन्होंने अर्जुन पुरस्कार और पद्म श्री जैसे कई पुरस्कार भी जीते हैं।[3]

अक्टूबर 2010 में, उन्होंने कार्लोस क्वियरोज और नाइकी द्वारा फुटबॉल के साथ साझेदारी में दिल्ली में बाईचुंग भूटिया फुटबॉल स्कूल की स्थापना की। अगस्त 2011 में, भूटिया ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से अपनी सेवानिवृत्ति की घोषणा की उनका विदाई मैच 10 जनवरी 2012 को दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में बायर्न म्युनिक के खिलाफ भारत की राष्ट्रीय टीम के साथ था।

प्रारंभिक जीवन[संपादित करें]

भाईचुंग भूटिया का जन्म 15 दिसंबर 1976 को सिक्किम के तिनकिताम में हुआ था। फुटबॉल के अलावा, भूटिया ने भी अपने स्कूल का प्रतिनिधित्व बैडमिंटन, बास्केटबॉल और एथलेटिक्स में किया हैं।[4] उनके दो बड़े भाई हैं, चेवांग और बोम बोम भूटिया और कैली नाम की एक छोटी बहन हैं। उनके माता-पिता, जो पेशे से किसान थे, को शुरू शुरू में उनका खेलना पसंद नही था। उनके पिता की मृत्यु होने के बाद उनके चाचा, कर्म भूटिया से प्रोत्साहन के बाद उन्होंने सेंट जेवियर्स स्कूल, पाकजोंग, ईस्ट सिक्किम में अपनी शिक्षा शुरू कर दी और नौ साल की उम्र में उन्होंने गंगटोक में तशी नामग्याल अकादमी में भाग लेने के लिए भारतीय खेल प्राधिकरण से एक फुटबॉल छात्रवृत्ति जीती।[5]

उन्होंने अपने गृह राज्य सिक्किम में कई स्कूलों और स्थानीय क्लबों के लिए खेलना शुरू कर दिया था, जिसमें गंगटोक स्थित बॉय क्लब शामिल था, जो कर्मा द्वारा चलाया जाता था।[4] 1992 के सुब्रोतो कप में उनका प्रदर्शन, जहां उन्होंने "बेस्ट प्लेयर" पुरस्कार भी जीता, उन्हें फुटबॉल प्रतिष्ठान के ध्यान में लाया। पूर्व भारत के गोलकीपर भास्कर गांगुली ने उनकी प्रतिभा देखी और उन्हें कोलकत्ता फुटबॉल में शामिल होने में मदद की।[6]

क्लब में उनकी जीवन-यात्रा[संपादित करें]

युवा भारती क्रीड़ांगण – ईस्ट बंगाल क्लब और मोहन बागान का घरेलू स्टेडियम

1993 में, सोलह वर्ष की आयु में, उन्होंने पेशेवर ईस्ट बंगाल एफ.सी. ,कलकत्ता में शामिल होने के लिए स्कूल छोड़ दिया।[7] दो साल बाद, उनको जे॰सी॰टी॰ मिल्स, फगवाड़ा को स्थानांतरित कर दिया और उस टीम ने 1996-97 सीज़न में इंडिया नेशनल फुटबॉल लीग जीती।[8][4] लीग में भूटिया शीर्ष गोलकीपर थे, और उन्हें नेहरू कप में उनके अंतरराष्ट्रीय पदार्पण के लिए चुना गया था। उन्होंने "1996 भारतीय प्लेयर ऑफ द ईयर" का ख़िताब अपने नाम किया।[5][6]

1997 में, वह ईस्ट बंगाल एफ.सी. में लौटे।[4] भूटिया को ईस्ट बंगाल और मोहन बागान के बीच स्थानीय डर्बी में पहली हैट्रिक लगाने का गौरव प्राप्त हुआ,और साथ ही उनकी टीम 1997 के फेडरेशन कप सेमीफाइनल में मोहन बागान पर 4-1 से जीत दर्ज करने की।[9] वह 1998-99 के सत्र में टीम के कप्तान बने, जिसके दौरान ईस्ट बंगाल लीग में सलगावकर के बाद दूसरे स्थान पर रहा।[9] इसके अलावा, 1999 में अर्जुन पुरस्कार प्राप्त करने वाले वह 19वीं फुटबालर बन गए, जो भारत सरकार राष्ट्रीय खेलों में उत्कृष्ट उपलब्धियों हासिल करने वाले एथलीटों को दिया जाता हैं।[5][6]

बरी[संपादित करें]

"उनकी मौजूदगी फुटबॉल को युवाओ के बीच में एक बड़ा बढ़ावा होगी"

प्यारा पोवार, Bury.[10]

भूटिया को विदेशों में खेलने के लिए सीमित अवसर मिले हैं। 30 सितंबर 1999 को, उन्होंने इंग्लैंड के ग्रेटर मैनचेस्टर में बरी के लिए खेलने के लिए विदेशों की यात्रा की। मोहम्मद सलीम के बाद वह यूरोप में पेशेवर रूप से खेलने वाले दूसरे भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी बन गए।[11] तीन साल का करार करके वह यूरोपीय क्लब के लिए साइन इन करने वाले पहले भारतीय फुटबॉल खिलाड़ी भी बन गए।[10] इसके बाद भूटिया फुलहम, वेस्ट ब्रॉमविच एल्बियन और एस्टन विला के परीक्षणों में असफल रहे।[12][13]शुरू में उन्हें वीजा प्राप्त करने में कठिनाई हुई परंतु आखिरकार उनकी शुरुवात कार्डिफ सिटी के खिलाफ 3 अक्टूबर 1999 में हुई।[14][15] उस मैच में, वह इयान लॉसन के विकल्प के रूप में आए और उन्होंने बरी के दूसरे गोल में हिस्सा लिया, जो डेरेन बुलक द्वारा किया गया था, उसके बाद भूटिया की वॉली ने फुटबॉल को उनके पास पहुँचा दिया।[16] 15 अप्रैल 2000 को, उन्होंने अपना पहला गोल चेस्टरफील्ड के खिलाफ इंग्लिश लीग में दागा।[17] एक आवर्ती घुटने की चोट ने उन्हें बरी में अपने अंतिम सत्र में केवल तीन गेम तक सीमित कर दिया था, और क्लब के प्रशासन के बाद में उन्हें सेवानिवृत कर दिया ।[18] बरी के लिए आख़री मैच 27 अगस्त 2001 को स्विंडन टाउन के ख़िलाफ़ खेला था, जिसमें स्विंडन टाउन की 3-0 से हार हुई थी।[18]

भारत में वापसी[संपादित करें]

2002 में, वह भारत लौट आए और एक वर्ष के लिए मोहन बागान के लिए खेले।[19] हालांकि, वह काफी हद तक असफल रहे क्योंकि भूटिया मौसम की शुरुआत में घायल हो गए थे और उस सीजन में फिर से खेलने में नाकाम रहे, जिससे उन्होंने मोहन बागान की एकमात्र ट्रॉफी (ऑल एयरलाइंस गोल्ड कप) जीत में शामिल होने का मौक़ा गँवा दिया।[19] इसके बाद, वह फिर से ईस्ट बंगाल क्लब लौट आए,[6] जिससे ईस्ट बंगाल क्लब को आसियान क्लब चैम्पियनशिप जीतने में मदद मिली।

Bhaichung_Bhutia in the inauguration ceremony of Palakkad Noorani Football stadium

भूटिया ने फाइनल में एक गोल दागा, और उनकी टीम की टीरो सासन पर 3-1 से जीत हुई, और उन्हें "मैन ऑफ द मैच" का ख़िताब मिला। उन्होंने चैंपियनशिप में नौ गोल करके शीर्ष स्कोरर का ख़िताब अपने नाम कर लिया।[20] भूटिया ने पेट्रोकीमिया पुत्र के खिलाफ 1-1 से ड्रॉ मैच में भी गोल किया और इसी टूर्नामेंट में फिलीपीन आर्मी के खिलाफ 6-0 से जीत दर्ज की जिसमें से पाँच गोल उनके थे।[21][22]

उन्होंने अगस्त से अक्टूबर 2003 तक पेराक एफए के साथ बँटइयाँ पे चले गए और नियमित सीज़न के लिए ईस्ट बंगाल क्लब लौट आए।[23] हालांकि, पेराक एफए में उनका कार्यकाल का अंत मलेशिया कप के सेमीफाइनल में सबा एफए से 3-1 से हार के साथ हुआ।[24] 2003-04 के सत्र में, भूटिया ने 12 गोल किए और ईस्ट बंगाल ने दूसरे स्थान पर रहे डेम्पो पर चार अंकों की बढ़त के साथ लीग जीती।[25] 2004-05 के सीज़न के दौरान, भूटिया ने ईस्ट बंगाल के लिए 9 गोल किए, जो एससी गोवा और चैंपियन डेम्पो के पीछे तीसरे स्थान पर रहे।[26] 2005-06 के सीजन के अंत तक उन्होंने पूर्वी बंगाल के लिए खेलना जारी रखा। अपने अंतिम सत्र में उन्हें अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने एक सत्र में "नेशनल फुटबॉल लीग का प्लेयर" से सम्मानित किया, जिसमें उन्होंने 12 गोल किए।[27] इसके बावजूद, ईस्ट बंगाल लीग में उपविजेता ही रहे।[28]

मलेशिया में वापसी[संपादित करें]

2005 में, भूटिया ने एक और मलेशियाई क्लब, सेलेगर एमके लैंड के लिए हस्ताक्षर किए। क्लब की तंगहाली की वजह उन्होंने केवल पांच बार मैच खेले और एक गोल दागा। इससे पहले, उन्हें होम यूनाइटेड के मैनेजर स्टीव डार्बी से एक ऑफर मिला, लेकिन उन्होंने प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया। बाद में डार्बी ने यह खुलासा किया कि वे भूटिया को साथ लाने में इसलिए असफल रहे, क्योंकि उन्होंने जो पेशकश की थी वो उस समय भारत में जो उन्हें मिल रहा था उससे कम था।[29]

"मैं मोहन बागान समर्थकों की उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करूँगा और इस बार टीम को जीत दिलाने की पूरी कोशिश करूँगा"

भाईचुंग भूटिया, दूसरी बार मोहन बागान के साथ क़रार करते वक़्त[30]

15 जून 2006 को, वह मोहन बागान से जुड़ गए और उन्होंने जोस रैमिरेज़ बैरेटो के साथ एक आक्रमक साझेदारी की शुरूवात की। हालांकि, 2006-07 का सत्र भूटिया और मोहन बागान के लिए खराब था, क्योंकि वे लीग में आठवें स्थान पर रहे थे, निष्कासन से एक क़दम दूर।[31] 2007-08 सीज़न (लीग को अब आई-लीग के रूप में जाना जाता है) के दौरान, भूटिया ने 18 मैचों में 10 गोल किये और मोहन बागान ने चौथे स्थान के साथ लीग में थोड़ा बेहतर प्रदर्शन किया।[32] भूटिया ने 2008 में दूसरी बार भारतीय खिलाड़ी का खिताब जीता था।[33] पुरस्कार जीतने में, वह एक बार से अधिक बार जीतने वाले वह केवल दूसरे फुटबॉल खिलाड़ी बन गए; पहले हैं आइ॰ एम॰ विजयन। 2008-09 के मौसम में, लगातार 10-मैच जीतने के बावजूद, मोहन बागान ने चर्चिल ब्रदर्स के पीछे दूसरा स्थान हासिल किया क्योंकि महिंद्रा यूनाइटेड के साथ आख़री मैच में हार गए।[34] भूटिया ने इस सीजन में छह गोल किए।[35]

18 मई 2009 को, भूटिया ने घोषणा की कि वह क्लब के अधिकारियों द्वारा फुटबॉल की प्रतिबद्धता की पूछताछ के कारण मोहन बागान को छोड़ देंगे।[36] झाल दिखला जा की घटना के परिणामस्वरूप, उन्हें मोहन बागान द्वारा छह महीने के लिए निलंबित कर दिया गया था।[37] भूटिया ने कहा, "मोहन बागान में मुझे एक और सीज़न में रखने के लिए सिर्फ एक चाल है, लेकिन मैं उनके लिए और नहीं खेलूंगा"।

References[संपादित करें]

  1. Hugman, Barry J. (2005). The PFA Premier & Football League Players' Records 1946–2005. Queen Anne Press. प॰ 59. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-85291-665-6. 
  2. "IndianFootball.com Profile". IndianFootball.com. http://www.indianfootball.com/en/statistic/player/detail/playerId/1. अभिगमन तिथि: 24 June 2009. 
  3. "Sunita Williams, Baichung Bhutia among Padma awardees". The Hindu (Chennai, India). 26 January 2008. http://www.hindu.com/2008/01/26/stories/2008012659641200.htm. अभिगमन तिथि: 26 January 2008. 
  4. "Baichung Bhutia Profile". Sikkiminfo.net. http://sikkiminfo.net/bhaichung.htm. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  5. "Celebrity Profile – Baichung Bhutia, football player". IndiaOye.com. Archived from the original on 12 October 2007. https://web.archive.org/web/20071012195144/http://www.indiaoye.com/baichungbhutia.htm. अभिगमन तिथि: 11 June 2009. 
  6. "Baichung Bhutia Profile". Iloveindia.com. Archived from the original on 20 May 2009. http://www.iloveindia.com/sports/football/players/baichung.html. अभिगमन तिथि: 10 June 2009. 
  7. "Baichung Bhutia's Profile". Jeetega Kaun. Archived from the original on 28 May 2009. http://www.jeetegakaun.in/ndtv_indian_of_the_year_2007/baichung_bhutia/. अभिगमन तिथि: 10 June 2009. 
  8. "India 1996/97". Rec.Sport.Soccer Statistics Foundation. Archived from the original on 11 June 2009. http://www.rsssf.com/tablesi/india97.html#nfl1. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  9. "East Bengal Vs. Mohun Bagan". East Bengal Football Club. Archived from the original on 20 July 2011. https://web.archive.org/web/20110720135022/http://www.eastbengalfootballclub.com/club/ebmb.asp. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  10. "Indian striker joins English club". BBC. 30 September 1999. http://news.bbc.co.uk/1/hi/world/south_asia/461934.stm. अभिगमन तिथि: 9 June 2009. 
  11. "Barefooted Indian who left Calcutta to join Celtic". The Scotsman. 12 December 2008. http://www.scotsman.com/sport/barefooted_indian_who_left_calcutta_to_join_celtic_1_1151472. अभिगमन तिथि: 10 April 2013. 
  12. Kulwinder Singh (23 July 1999). "Fulham no to Bhutia". Indian Express. http://www.indianexpress.com/res/web/pIe/ie/daily/19990723/isp23010.html. अभिगमन तिथि: 8 June 2009. 
  13. "Bhutia set to join Bury of England". Rediff. 11 August 1999. http://www.rediff.com/sports/1999/aug/11bhutia.htm. अभिगमन तिथि: 8 June 2009. 
  14. Sanjjeev K Samyal (23 January 2009). "Bhutia's word of caution for Coventry-bound Chetri". Mid-day.com. http://www.mid-day.com/news/2009/jan/230109-Sunil-Chetri-Bhaichung-Bhutia-Indian-football-National-Football-League-Coventry-City.htm. अभिगमन तिथि: 1 July 2009. 
  15. "15 – Bhaichung". Mohun Bagan A.C.. Archived from the original on 16 February 2009. https://web.archive.org/web/20090216115247/http://mohunbaganac.com/SEPT08/playerdetails.php?playerId=2. अभिगमन तिथि: 10 June 2009. 
  16. Arunava Chaudhuri (31 October 1999). "News for the month of October". IndianFootball.com. http://old.indianfootball.com/news/m199910.html. अभिगमन तिथि: 10 June 2009. 
  17. "News for the month of April". IndianFootball.com. 15 April 2000. http://old.indianfootball.com/news/m200004.html. अभिगमन तिथि: 3 September 2009. 
  18. "Bury release Bhutia". BBC. 24 April 2002. http://news.bbc.co.uk/sport1/hi/football/teams/b/bury/1948757.stm. अभिगमन तिथि: 8 June 2009. 
  19. "Mohun Bagan History 2000–2004". Mohun Bagan Club. Archived from the original on 19 January 2010. https://web.archive.org/web/20100119180022/http://www.mohunbaganclub.com:80/History-2000-2004.html. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  20. "East Bengal lift ASEAN Cup". Rediff. 26 July 2007. http://www.rediff.com/sports/2003/jul/26foot2.htm. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  21. "Bhutia stars in East Bengal win". Tribune India. 16 July 2003. http://www.tribuneindia.com/2003/20030717/sports.htm#1. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  22. "East Bengal script soccer history". Indian Express. 25 July 2003. http://www.indianexpress.com/oldStory/28278/. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  23. "Bhutia July / August 2003". IndianFootball.com. http://old.indianfootball.com/bhutia/news/bbn082003.html. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  24. Micky Aigner (30 September 2003). "Bhutia winds up Perak stint on a sad note". Indian Express. http://www.indianexpress.com/oldStory/32474/. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  25. "8th National Football League 2003–04". Rediff. http://www.rediff.com/sports/nfl03-04.htm. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  26. "India 2004/05". Rec.Sport.Soccer Statistics Foundation. Archived from the original on 9 June 2009. http://www.rsssf.com/tablesi/india05.html#nfl1. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  27. "Bhaichung is Player of the National Football League". East Bengal FC. 27 May 2006. Archived from the original on 20 July 2011. https://web.archive.org/web/20110720135054/http://www.eastbengalfootballclub.com/search/index.asp?news_id=176. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  28. "East Bengal edges past JCT to emerge NFL Runners-up". East Bengal FC. 15 May 2006. Archived from the original on 20 July 2011. https://web.archive.org/web/20110720135110/http://www.eastbengalfootballclub.com/search/index.asp?news_id=174. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  29. Ghoshal, Amoy; Sengupta, Rahul (6 August 2011). "I-League: There Are Better Players In Indian Football Now – Mohun Bagan Coach Steve Darby". Goal.com. http://www.goal.com/en-india/news/1064/i-league/2011/08/06/2606767/i-league-there-are-better-players-in-indian-football-now. अभिगमन तिथि: 30 September 2011. 
  30. "Baichung Bhutia signs for Mohun Bagan". Monsters and Critics. 15 June 2006. Archived from the original on 2 October 2012. https://web.archive.org/web/20121002051945/http://www.monstersandcritics.com/sport/soccer/article_1172852.php/Baichung_Bhutia_signs_for_Mohun_Bagan. अभिगमन तिथि: 11 June 2009. 
  31. "India 2006/07". Rec.Sport.Soccer Statistics Foundation. Archived from the original on 9 June 2009. http://www.rsssf.com/tablesi/india07.html#nfl1. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  32. "India 2007/08". Rec.Sport.Soccer Statistics Foundation. 18 September 2008. Archived from the original on 9 June 2009. http://www.rsssf.com/tablesi/india08.html#nfl1. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  33. Ashok Rao (24 December 2008). "Bhaichung Bhutia Is Declared As The AIFF Player of the Year!". Topnews.in. http://www.topnews.in/bhaichung-bhutia-declared-aiff-player-year-2100937. अभिगमन तिथि: 20 June 2009. 
  34. Swagatam Banerjee (17 April 2009). "I-LEAGUE 2008/09 – Mohun Bagan AC – The runners-up". IndianFootball.com. http://www.indianfootball.com/en/news/articleId/126. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  35. "I-League 2008–09 coverage". Rediff. http://www.rediff.com/sports/ileague08.html. अभिगमन तिथि: 22 June 2009. 
  36. Chris Punnakkattu Daniel (18 May 2009). "Baichung to quit Mohun Bagan". IndianFootball.com. Archived from the original on 21 May 2009. http://www.indianfootball.com/en/news/articleId/788. अभिगमन तिथि: 8 June 2009. 
  37. Pit Ruddy (8 June 2009). "Baichung suspended for 6 months". IndianFootball.com. Archived from the original on 30 June 2009. http://www.indianfootball.com/en/news/articleId/925. अभिगमन तिथि: 8 June 2009. 

External links[संपादित करें]

साँचा:India Squad 2011 AFC Asian Cup


साँचा:Jhalak