बहरोड़

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बहरोड़
Behror
बहरोड़ की राजस्थान के मानचित्र पर अवस्थिति
बहरोड़
बहरोड़
राजस्थान में स्थिति
सूचना
प्रांतदेश: अलवर ज़िला
राजस्थान
 भारत
जनसंख्या (2011): 29,531
मुख्य भाषा(एँ): राजस्थानी, हिन्दी
निर्देशांक: 27°53′N 76°17′E / 27.88°N 76.28°E / 27.88; 76.28

बहरोड़ (Behror) भारत के राजस्थान राज्य के अलवर ज़िले में स्थित एक नगर है।[1][2] यह राठ क्षेत्र के नाम से भी जाना जाता है । यह राजस्थान में अहीरवाल बेल्ट का एक महत्वपूर्ण शहर है । राष्ट्रीय राजमार्ग पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और राजकीय राजधानी जयपुर के मध्यराह पर स्थित होने के कारण इसकी अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका रही है - किसी समय में इस मार्ग पर एकमात्र होटल ( होटल मिडवे बहरोड़ ) बहुत ही विशेष भूमिका निभाता था इस मार्ग के राहगीरों के सफ़र में । इन्हीं शहरों के नजदीकी के कारणवश यह शहर और क्षेत्र राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में होते हुए राजस्थान राज्य का महत्वपूर्ण ओद्योगिक क्षेत्र है। पुरात्तव विषेशज्ञों के अनुसार किसी समय जहाँ वर्तमानकालीन बहरोड़ स्थित है वहाँ शालीवाहन नरेश ने 'शालीवाहपुर' नामक शहर बसाया था।[3] पुराकाल में यह शहर मत्स्य राज्य का हिस्सा रहा है। वर्तमान में बहरोड़ निम्न राजस्व गाँवों में विभाजित है :

  • बहरोड़ तर्फ़ गंगाबिशन ।
  • बहरोड़ तर्फ़ डूंगरसी ।
  • बहरोड़ तर्फ़ बलराम ।
  • बहरोड़ तर्फ़ नैनशुख ।[4]

भौगोलिक विवरण[संपादित करें]

यह अहीरवाल क्षेत्र और राठ क्षेत्र के नाम से जाना जाता है। बहरोड़ राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का एक हिस्सा है। बहरोड़ की औसत ऊंचाई 312 मीटर (1,024 फीट) है। बहरोड़ राज्य की राजधानी से 130 किमी की दूरी पर और राष्ट्रीय राजधानी से 120 किमी की दूरी पर है, और राष्ट्रीय राजमार्ग - 8 द्वारा दोनों से जुड़ा हुआ है, जो राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की "स्वर्णिम चतुर्भुज" परियोजना का हिस्सा है। दोनों महानगरों के बीच बेहतर संपर्क के लिए जयपुर से दिल्ली तक 6 लेन एक्सप्रेसवे है। बहरोड़ की जिला राजधानी अलवर से भी राजकीय राजमार्ग से जुड़ा हुआ है है, जो 60 किलोमीटर दूरी पर है।[5]

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

90 के दशक की शुरुआत से बहरोड़ का औद्योगिकरण किया गया; औद्योगिक क्षेत्र को RIICO (राजस्थान राज्य औद्योगिक विकास और निवेश निगम लिमिटेड) औद्योगिक क्षेत्र के रूप में जाना जाता है। नीमराणा, बहरोड़ से दिल्ली की ओर 10 किमी की दूरी पर एक और औद्योगिक क्षेत्र है जो RIICO के अंतर्गत आता है।

जनसांख्यकी[संपादित करें]

2011 की जनगणना के अनुसार बहरोड़ तहसील की कुल आबादी 359,248 और बहरोड़ शहर की कुल आबादी 29,531 है।

बहरोड़ शहर को 25 वार्डों में विभाजित किया गया है | बहरोड़ नगर पालिका की जनसंख्या 29,531 है, जिसमें 15,570 पुरुष हैं, जबकि 13,961 महिलाएं हैं, जो कि जनगणना 2011 द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार हैं। 0-6 वर्ष की आयु के बच्चों की जनसंख्या 3770 है जो "बहरोड़" की कुल जनसंख्या का 12.77% है। बहरोड़ नगर पालिका में महिला लिंग अनुपात 897 है। इसके अलावा, राजस्थान के औसत बाल लिंग अनुपात की तुलना में बहरोड़ में बाल लिंग अनुपात 842 के आसपास है। शहर की साक्षरता दर 84.07% राज्य की साक्षरता दर 66.11% से अधिक है। बहरोड़ में, पुरुष साक्षरता लगभग 92.15% है जबकि महिला साक्षरता दर 75.13% है।

यह यादव/अहीर बहुल क्षेत्र है ।[6]

प्रशासनिक व्यवस्था[संपादित करें]

बहरोड़ शहर राजस्थान सरकारनुसार एक 'क्लास 4 म्यूनिसिपल टाउन' । यह बहरोड़ उपजिला का मुख्यालय है एवं बहरोड़ तहसील का भी । इस मुख्यालय पर उपजिला मजिस्ट्रेट सबसे बड़ा गैर निर्वाचित अधिकारी होता है । पुलिस विभाग में यह शहर भिवाड़ी पुलिस पुलिस जिले के अंतर्गत आता है और सबसे उच्च अधिकारी - पुलिस उपाधिक्षक - का पद स्वीकृत है।

यह शहर और आसपास के गाँव राजस्थान विधानसभा के बहरोड़ निर्वाचन क्षेत्र में आते है जहाँ से हर पाँच साल में एक विधानसभा सदस्य का निर्वाचन किया जाता है।

शहरी विकास की दृष्टि से यह राष्ट्रीय राजधानी बोर्ड व शहरी विकास संगठन , भिवाड़ी के अधिकार क्षेत्र में आता है।

बहरोड़ नगर पालिका पानी और सीवरेज जैसी बुनियादी सुविधाओं की आपूर्ति करता है। यह नगर पालिका सीमा के भीतर सड़कों का निर्माण करने और इसके अधिकार क्षेत्र -जो कि 15 वर्ग किमी में फैला हुआ है -में आने वाली संपत्तियों पर कर लगाने के लिए भी अधिकृत है ।[7]

संस्कृति[संपादित करें]

अहीरवाटी (अहीर बहुल क्षेत्र की भाषा ) जिसे ' हीरवाटी / राठी' भी कहा जाता है इस क्षेत्र में बोली जाती है। इस भाषा पर मुख्यतः बांगरु का प्रभाव है और किसी अनजान को यह अत्याधिक कर्कश लग सकती है।

रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, नारनौल, गुड़गांव, कोटकासिम, कोटपुतली, बानसूर, बहरोड़ और मुंडावर को अहीरवाटी भाषी क्षेत्र का केंद्र माना जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332
  2. "Berlitz Pocket Guide Rajasthan," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990
  3. "राजस्थान भौगोलिक एवं एतिहासिक पृष्टभूमि". मूल से 5 जनवरी 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 जुलाई 2020.
  4. [1] Archived 3 जुलाई 2020 at the वेबैक मशीन., " एस०एन०बी मास्टर प्लान , राजस्थान सरकार , p. 13
  5. [2] Archived 9 दिसम्बर 2019 at the वेबैक मशीन., "रेपिड रेल लिंक - टाईमस ऑफ इंडिया"
  6. | भारतीय जनगणना
  7. "। प्रशासन अलवर". मूल से 25 दिसंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 31 जुलाई 2020.