बहराइच लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
बहराइच लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र
—  लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र  —
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य उत्तर प्रदेश

निर्देशांक: 27°35′N 81°36′E / 27.58°N 81.6°E / 27.58; 81.6 बहराइच लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र भारत के उत्तर प्रदेश राज्य का एक लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र है।

बहराइच लोकसभा का इतिहास[संपादित करें]

1951ई.-1952ई.में आज़ादी के बाद पहले आम चुनाव हुए जिसमें लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ हुए थे। 1951ई. के पहले संसदीय चुनाव में बहराइच सदर सीट से प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी रफ़ी अहमद क़िदवई ने कांग्रेस के टिकट पर बहराइच लोकसभा सीट से चुनाव जीता और पंडित जवाहरलाल नेहरू ने अपनी कैबिनेट में कैबिनेट मंत्री बनाया और खाद्य और कृषि मंत्रालय का कार्यभार दिया था। 1957 ई.में हुए दूसरे लोकसभा चुनाव में स्वतंत्रता सेनानी सरदार जोगेन्दर सिंह ने कांग्रेस के टिकट पर बहराइच लोकसभा सीट से चुनाव जीता था। बाद में सरदार जोगेन्दर सिंह 1971ई.से 1972ई.तक उड़ीसा और 1जुलाई 1972 ई.से 14 फ़रवरी 1977 ई.तक राजस्थान के राज्यपाल रहे।[1] 1962 ई.में हुए तीसरे लोकसभा चुनाव में स्वतंत्र पार्टी के कुंवर राम सिंह ने चुनाव जीता था।1967 ई.में हुए चौथे लोकसभा चुनाव में भारतीय जनसंघ के के.के.नैय्यर ने जीता।1971 ई.में हुए पांचवें लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के पंडित बदलू राम शुक्ला ने जीता।1977 ई.में हुए छठे लोकसभा चुनाव में भारतीय लोक दल के ओमप्रकाश त्यागी ने जीता। 1980ई.में हुए सातवीं लोकसभा चुनाव में मौलाना सैय्यद मुज़फ़्फर हुसैन किछौछवी (पूर्व उपाध्यक्ष आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड) ने जीत हासिल की थी। इसी प्रकार 1984 ई.में हुए आठवीं लोकसभा के चुनाव में आरिफ़ मोहम्मद ख़ान बहराइच आए और यहां से चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीता और राजीव गांधी की सरकार में मंत्री बनाए गए। आरिफ़ मोहम्मद ख़ान इस के बाद दो बार नौवीं लोकसभा के चुनाव 1989 ई. में जनता दल के टिकट पर और बारहवीं लोकसभा के चुनाव 1998 ई.में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर चुनाव जीता ।[2] सी प्रकार भारतीय जनता पार्टी के रूद्रसेन चौधरी ने दसवीं लोकसभा के चुनाव 1991ई.में जीत हासिल की । ग्यारहवीं लोकसभा के चुनाव 1996 ई.में रूद्रसेन चौधरी के बेटे पदमसेन चौधरी ने जीत हासिल की। बारहवीं लोकसभा के लिए 1998 ई.में हुए चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री आरिफ़ मोहम्मद ख़ान ने तीसरी और अंतिम बार बहराइच लोकसभा सीट से चुनाव जीता था।1999ई. में तेरहवीं लोकसभा के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के पदमसेन चौधरी ने दूसरी बार जीत हासिल की। 2004 ई.में हुए चौदहवीं लोकसभा के चुनाव में समाजवादी पार्टी के टिकट पर श्रीमती रूबाब सईदा ने जीत हासिल की थी। आप को बहराइच लोकसभा सीट से चुने जाने वाली प्रथम महिला थी।यह आख़री चुनाव थे जो बहराइच सामान्य सीट के लिए हुआ था । इसके बाद नए परिसीमन में बहराइच की सीट अनूसुचित जाति के लिए सुरक्षित हो गई और बहराइच (सुरक्षित) के नाम से हो गई। पन्द्रहवीं लोकसभा 2009 ई.के चुनाव में कांग्रेस के कमांडो कमल किशोर ने जीत हासिल की। इसी प्रकार 2014 ई.में हुए सोलहवीं लोकसभा के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की साध्वी सावित्रीबाई फूले ने जीत हासिल की थी।[3]

बहराइच लोक सभा के संसद सदस्य[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]


  1. http://faranjunedahmad.blogspot.com/2019/04/bahraich-loksabha-constituency-history.html
  2. http://faranjunedahmad.blogspot.com/2019/04/bahraich-loksabha-constituency-history.html
  3. http://faranjunedahmad.blogspot.com/2019/04/bahraich-loksabha-constituency-history.html
  4. https://economictimes.indiatimes.com/news/politics-and-nation/2019-polls-savitri-bai-phule-sitting-bjp-mp-from-up-joins-congress/videoshow/68240176.cms