फर्रुख़ सियर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
फर्रुख़ सियर
मुगल सम्राट
फर्रुख़ सियर (१२ अक्टूबर १७१२ का चित्र)
शासन १७१३ - १७१९
पूरा नाम अब्बुल मुज़फ्फरुद्दीन मुहम्मद शाह फर्रुख़ सियर
जन्म ११ सितम्बर १६८५
जन्म स्थान औरंगाबाद
मृत्यु अप्रैल 19, 1719(1719-04-19) (उम्र 33)
मृत्यु स्थान दिल्ली
पूर्वाधिकारी जहांदर शाह
उत्तराधिकारी रफी उल-दर्जत
भार्याएं नवाब फख्रुन्निसा बेगम साहिबा
इंदिरा कंवर
राजवंश तैमूर
पिता अज़ीम-उस्शान
माता साहिबा निस्वान

फर्रुख़ सियर (जन्म: २० अगस्त १६८५ - मृत्यु: १९ अप्रैल १७१९) एक मुगल सम्राट था जिसने १७१३ से १७१९ तक हिन्दुस्तान पर हुकूमत की।

उसका पूरा नाम अब्बुल मुज़फ्फरुद्दीन मुहम्मद शाह फर्रुख़ सियर था। आलिम अकबर सानी वाला, शान पादशाही बह्र-उर्-बार, तथा शाहिदे-मज़्लूम उसके शाही खिताबों के नाम हुआ करते थे। 1715 ई0 में एक शिष्टमंडल जाॅन सुरमन की नेतृत्व में भारत आया। यह शिष्टमंडल उत्तरवर्ती मुग़ल शासक फर्रूखशियर की दरबार में 1717 ई0 में पहुँचा। उस समय फर्रूखशियर जानलेवा घाव से पीड़ित था। इस शिष्टमंडल में हैमिल्टन नामक डाॅक्टर थे जिन्होनें फर्रखशियर का इलाज किया था।इससे फर्रूखशियर खुश हुआ तथा अंग्रेजों को भारत में कहीं भी व्यापार करने की अनुमति तथा अंग्रेजों द्वारा बनाऐ गए सिक्के को भारत में सभी जगह मान्यता प्रदान कर दिया गया। फर्रूखशियर द्वारा जारी किये गए इस घोषणा को ईस्ट इंडिया कंपनी का मैग्ना कार्टा कहा जाता है। मैग्ना कार्टा का सर्वप्रथम 1215 ई0 में ब्रिटेन में जाॅन-II के द्वारा हुआ था।

मुग़ल सम्राटों का कालक्रम[संपादित करें]

बहादुर शाह द्वितीय अकबर शाह द्वितीय अली गौहर मुही-उल-मिल्लत अज़ीज़ुद्दीन अहमद शाह बहादुर रोशन अख्तर बहादुर रफी उद-दौलत रफी उल-दर्जत जहांदार शाह बहादुर शाह प्रथम औरंगज़ेब शाहजहाँ जहांगीर अकबर हुमायूँ इस्लाम शाह सूरी शेर शाह सूरी हुमायूँ बाबर


सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

पूर्वाधिकारी
जहांदर शाह
मुगल सम्राट
१७१३–१७१९
उत्तराधिकारी
रफी उल-दर्जत