नाणेघाट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नाणेघाट गुफा अभिलेख
नाणेघाट
2nd century BCE Nanaghat Sanskrit Inscriptions Maharashtra India 2.jpg
नाणेघाट का भूगोल और अभिलेख
Naneghat caves की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
Naneghat caves
Naneghat caves
Shown within India #India Maharashtra
Naneghat caves की महाराष्ट्र के मानचित्र पर अवस्थिति
Naneghat caves
Naneghat caves
Naneghat caves (महाराष्ट्र)
वैकल्पिक नाम नाणेघाट गुफाएँ
स्थान महाराष्ट्र, भारत
क्षेत्र पश्चिमी घाट
निर्देशांक 19°17′31.0″N 73°40′33.5″E / 19.291944°N 73.675972°E / 19.291944; 73.675972निर्देशांक: 19°17′31.0″N 73°40′33.5″E / 19.291944°N 73.675972°E / 19.291944; 73.675972
प्रकार Caves, trade route passage
इतिहास
निर्माता Queens, Satavahana dynasty -Naganika
पदार्थ Natural rock
स्थापित 2nd-century BCE
संस्कृति Hinduism
प्रबंधन Archaeological Survey of India

नाणेघाट पश्चिमी घाट में स्थित एक पर्वतीय दर्रा है जो कोंकण समुद्रतट और 'जुन्नार' नामक प्राचीन नगर के बीच स्थित है। इसे 'नानाघाट' भी कहते हैं। यह पुणे से १२० किमी उत्तर में तथा मुम्बई से १६५ किमी पूर्व दिशा में स्थित है। [1] यह एक प्राचीन व्यापारिक मार्ग पर स्थित था। नाणेघाट अपनी गुफा तथा वहाँ पर ब्राह्मी लिपि में संस्कृत भाषा में लिखित एक अभिलेख के लिए प्रसिद्ध है [2] ये अभिलेख ईसापूर्व दूसरी शताब्दी या ईसापूर्व प्रथम शताब्दी के हैं जब सातवाहन राजवंश का शासन था। [3][4][5] ये अभिलेख वैदिक तथा वैष्णव देवताओं के बीच कड़ी स्थापित करते हैं । इनमें वैदिक काल के कुछ श्रौत कर्मकाण्डों का उल्लेख है तथा कुछ नाम हैं जो प्राचीन सातवाहन के बारे में जानकारी देते हैं। [4][6] इस अभिलेख में "२, ४, ६, ७ और ९" के लिए विश्व का सबसे प्राचीन अंक संकेत खुदे हैं जो आधुनिक काल के नागरी अंकों से मिलते-जुलते हैं।[5][7][8]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Georg Bühler 1883, पृ॰प॰ 53-54.
  2. Theo Damsteegt 1978, पृ॰ 206, Quote: "A Hinduist inscription that is written in MIA dialect is found in a Nanaghat cave. In this respect, reference may also be made to a MIA inscription on a Vaishnava image found near the village Malhar in Madhya Pradesh which dates back to about the same age as the Nanaghat inscription."; see also page 321 note 19.
  3. Richard Salomon 1998, पृ॰ 144.
  4. Upinder Singh 2008, पृ॰प॰ 381-384.
  5. Development Of Modern Numerals And Numeral Systems: The Hindu-Arabic system, Encyclopaedia Britannica, Quote: "The 1, 4, and 6 are found in the Ashoka inscriptions (3rd century bce); the 2, 4, 6, 7, and 9 appear in the Nana Ghat inscriptions about a century later; and the 2, 3, 4, 5, 6, 7, and 9 in the Nasik caves of the 1st or 2nd century CE — all in forms that have considerable resemblance to today’s, 2 and 3 being well-recognized cursive derivations from the ancient = and ≡."
  6. Carla Sinopilo 2001, पृ॰प॰ 168-169.
  7. David E. Smith 1978, पृ॰प॰ 65-68.
  8. Norton 2001, पृ॰प॰ 175-176.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]