नरनारायण सेतु

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नरनारायण सेतु
Naranarayan Setu
নৰনাৰায়ণ সেতু
Pancharatna bridge.jpg
ऍनऍच-17 पर नरनारायण सेतु की ऊपरी (सड़क वाली) मंज़िल
ले जाता हैसड़करेल
को पार करती हैब्रह्मपुत्र नदी
स्थानीयजोगीघोपा, असम
विशेषता
डिजाइनट्रस सेतु
कुल लंबाई2.284 किलोमीटर (1.419 मील)
इतिहास
Engineering design byब्रेथवेट, बर्न और जेसप निर्माण कम्पनी
शुरू हुआ15 अप्रैल 1998

नरनारायण सेतु (Naranarayan Setu) भारत के असम राज्य में ब्रह्मपुत्र नदी के पार बना हुआ एक सेतु है। यह दोमंज़िला पुल है, जिसमें नीचे की मंज़िल पर रेल और ऊपर की मंज़िल पर वाहनों के लिए सड़क है। सेतु की लम्बाई 2.284 किलोमीटर है, और यह ब्रह्मपुत्र के उत्तर में स्थित बंगाईगाँव ज़िले के जोगीघोपा शहर को नदी से दक्षिण में स्थित गोवालपारा ज़िले के पाँचरत्ना बस्ती से जोड़ता है। पुल का उद्घाटन 15 अप्रैल 1998 को करा गया था और इसके निर्माण में 301 करोड़ रुपये की लागत आई थी। यह राष्ट्रीय राजमार्ग 17 का भाग है।[1][2]

नाम[संपादित करें]

पुल का नाम 16वीं शताब्दी के कमता राज्य के प्रसिद्ध नरेश पर रखा गया है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Naranarayan Setu In India". India9. India9. अभिगमन तिथि 5 October 2018.
  2. "Model project on Construction of Naranarayan Setu over river Brahmaputra at Jogihopa" (PDF). मूल (PDF) से 14 April 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 May 2013.